कोलम्बिया एशिया ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में शुरू किया आंखोँ की दिक्कतोँ की जांच हेतु आधुनिकतम सुविधाएँ

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 12 अप्रैल 2019 गाजियाबाद अपनी साफलताओँ की किताब में एक और अध्याय जोडते हुए कोलम्बिया एशिया हॉस्पिटलगाज़ियाबाद ने सब-साइक्लो लेजर ग्लूकोमा ट्रीटमेंट और आधुनिकतम जांच तकनीकेँ लगाई हैंजिससे आंख की समस्याओँ जैसे कि डायबिटिक रेटिनोपैथी और सूचरेट्यु रेटिनल सर्जरी के मरीजोँ को काफी लाभ मिलेगा। इसके साथ ही कोलम्बिया एशिया न सिर्फ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश का पहला ऐसा हॉस्पिटल बन गया है जहाँ ये सुविधाएँ उपलब्ध हैं।



हॉस्पिटल के नेत्र विभाग की सुविधाओँ में अपनी तरह के पहले इस तकनीकी अपग्रेड से यहाँ सभी प्रकार की आधुनिक मशीनेँ और तकनीकेँ आ गई हैं जो आंखोँ की साधारण से लेकर गम्भीर समस्याओँ जैसे कि ग्लूकोमा और मोतियाबिंद के इलाज एवम रेटिनल सर्जरी करने में बेहद सहायक साबित होंगी। नए यूनिट की अगुवाई डॉ. अनंत वीर जैनकंसल्टेंट ऑप्थैल्मोलॉजीकोलम्बिया एशिया हॉस्पिटलगाज़ियाबाद और डॉ. शिशिर नारायणकंसल्टेंट ऑप्थैल्मोलोजीकोलम्बिया एशिया हॉस्पिटलगाज़ियाबाद द्वारा किया जाएगा। डॉ. जैनजिन्हेँ  11  वर्षोँ का अनुभव हैवह अब 1 लाख से भी अधिक सर्जरी कर चुके हैं। डॉशिशिर नारायण १८ साल का अनुभव है|


कोलम्बिया एशिया हॉस्पिटलगाज़ियाबाद के कंसल्टेंट ऑप्थैल्मोलॉजी डॉ. अनंत वीर जैन कहते हैं, “हमेँ क्षेत्र में सबसे आधुनिकतम सेवाएँ उपलब्ध कराने पर बेहद गर्व है। सुविधाओँ में बढोत्तरी से हॉस्पिटल की क्षमता और बढ गई हैक्योंकि इसके तहत आधुनिकतम जांच टूल्स जैसे कि डायबिटिक रेटिनोपैथी और एलएनवीएम जैसे समस्याओँ के लिए रुटीन जांच सुविधाओँ सहित डाई लेस रेटिनल एंजियोग्राफी की सुविधा भी आ गई है। हमने इस आधुनिकतम तकनीक को लगाने में 1.5 करोड रुपये का निवेश किया है जिससे सभी तरह की आधुनिक आई सर्जरी करने में मदद मिलेगी और मरीजोँ को उनकी सभी समस्याओँ से निजात मिलेगी।“ 


यह यूनिट अब डाईलेस एंजियोग्राफी के साथ एंजियो ऑप्टिकल कोहेरेंस टोमोग्राफी (ओसीटी) और प्रीमियम इंट्राकुलर लेंस (आईओएल) के साथ मोतियाबिंद की सर्जरी की सुविधा उपलब्ध कराएगा। आईओएल एक कृत्रिम इम्प्लांट है जो आंख के लेंस को रिप्लेस करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। अन्य जो सेवाएँ उपलब्ध होंगी उनमेँ शामिल है मल्टीफोकल और टॉरिक आईओएलरेटिनल लेजर सर्जरीयुवेटिस और ऑक्युलर इंफ्लेमेशनफंडस फ्लूरोसिन एंजियोग्राफी और चश्मे हटाने के लिए की जाने वाली लेसिक सर्जरी।


कोलम्बिया एशिया हॉस्पिटलगाज़ियाबाद के कंसल्टेंट ऑप्थैल्मोलॉजिस्ट डॉ. शिशिर नारायन ने कहा कि, “हमारे हर साल लाख   आंखोँ से जुडी तमाम समस्याओँ के इलाज हेतु आते हैं और उनमे से बहुत से मरीजोँ को सर्जरी की जरूरत होती है। हमेँ पूरी उम्मीद है कि हॉस्पिटल में आई नई सुविधाएँ गाज़ियाबाद और इसके करीबी इलाकोँ के मरीजोँ के लिए काफी फायदेमंद साबित होंगी।“


 


Comments

Popular posts from this blog

सिंधी काउंसिल ऑफ इंडिया, दिल्ली एनसीआर रीजन ने किया लेडीज विंग की घोसणा

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर