कैनन इंडिया ने मार्केट इंजीनियरिंग पर अपने मजबूत केंद्रण का खुलासा किया

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 18 अक्टूबर 2019 नई दिल्ली। एंड-टू-एंड कस्टमर सपोर्ट प्रदान करने का अपना कौशल प्रदर्शित करते हुए इमेजिंग स्पेस के लीडर्स में से एक, कैनन इंडिया ने आज कस्टमर सेवा के डोमेन में अपनी विशेषज्ञता का विस्तार करने की योजनाओं के बारे में बताया। कैनन में मार्केट इंजीनियरिंग के नाम से संबोधित यह सर्विस फ्रेमवर्क देश में कंपनी की विकास की कार्ययोजना का मुख्य स्तंभ हैमजबूत सर्विस इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ कैनन इंडिया का प्रयास देश में सेवा की उत्कृष्टता प्रदान करने के लिए इसका विस्तार करना है। कस्टमर सेवा की क्षमता का विस्तार करने के अपने उद्देश्य के अनुरूप, इस इमेजिंग कंपनी ने नोएडा में कैनन टेक्निकल एक्सिलेंस सेंटर (सी-टेक) स्थापित किया है, जो सेवा की उत्कृष्टता प्राप्त करने के मामले में कंपनी के लिए एक बिल्डिंग ब्लॉक का काम करेगासी-टेक की स्थापना मार्केट इंजीनियरिंग डोमेन के तहत एक सामरिक अभियान है और बी2बी एवं बी2सी बिज़नेस सेगमेंट्स को गुणवत्तायुक्त सेवाएं प्रदान करने के ब्रांड के प्रयास व प्रतिबद्धता के अनुरूप है। इसके अलावा सी-टेक कस्टमर सर्विस स्पेशियलिस्ट्स के लिए लर्निंग व प्रशिक्षण के केंद्र के रूप में काम करता है। ये स्पेशियलिस्ट्स हाईब्रिड इंजीनियर कहलाते हैं और उन्हें ग्राहकों की संतुष्टि सुनिश्चित करते हुए ब्रांड के लिए सर्विस की उत्कृष्टता निर्मित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।



निर्मित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। कस्टमर सेवा पर कैनन इंडिया के मजबूत फोकस के बारे में, श्री काजुतदा कोबायाशी, प्रेसिडेंट एवं सीईओ, कैनन इंडिया ने कहा, "हमारे सिद्धांत 'डिलाईटिंग यू ऑलवेज़' के अनुरूप, कैनन इंडिया पर मार्केट इंजीनियरिंग एक सामरिक इनेब्लर है, जिसके द्वारा हमारा उद्देश्य ग्राहकों को मजबूत सर्विस इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान करना है। यह हाईब्रिड इंजीनियर्स का एक 24*7 कार्यबल विकसित करके एवं प्रेडिक्टिव मेंटेनेंस एवं रि-इंजीनियरिंग जैसी महत्वपूर्ण सेवाएं प्रदान करके किया जा रहा है। हमारे दृष्टिकोण में ग्राहकों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता समाहित है, जो हमें कस्टमाईज्ड सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करती है, तथा हम ग्राहकों के इंटरैक्शन तीव्र, आसान एवं प्रभावशाली बनाने का प्रयास करते हैंहम अपने ग्राहकों को लेटेस्ट इनोवेशंस की मदद से सर्वश्रेष्ठ सर्विस प्रदान करते हैं, जिससे ग्राहकों की संतुष्टि बढ़ती है और वो कैनन के लौयलिस्ट बनते हैं। यह काम कैनन टेक्निकल एक्सिलेंस सेंटर (सी-टेक) में संभव किया जाता है और हमें गर्व है कि हम इसका प्रदर्शन दुनिया के सामने कर रहे हैं।


श्री राहुल गोयल, डायरेक्टर–मार्केट इंजीनियरिंग, कैनन इंडिया ने कहा, "विस्तृत मार्केट इंजीनियरिंग फ्रेमवर्क के साथ हम निरंतर देश में अपने बी2सी एवं बी2बी उत्पादों की संपूर्ण श्रृंखला प्रस्तुत कर रहे हैं। हम अपने बी2सी ग्राहकों की सेवा संबंधी शंकाएं या तो इन-स्टोर या कलेक्शन सेंटर के माध्यम से सम्हाल रहे हैं, वहीं हमने ऑन साईट एवं प्रेडिक्टिव मेंटेनेंस की अपनी मुख्य विशेषता भी विकसित कर ली है, ताकि हम अपने बी2बी ग्राहकों के लिए अपने एमआईएफ का अपटाईम सुगमता से प्रबंधित कर सकेंभविष्य में हम देश में अपने सर्विस नेटवर्क का और ज्यादा विस्तार करने का प्रयास करेंगे, जिससे नए ग्राहकों को जोड़े रखते हुए विविध औद्योगिक सेक्टर्स में नए व्यवसाय हासिल करने में मदद मिलेगी।


कैनन इंडिया पर मार्केट इंजीनियरिंग निरंतर विकसित हो रही है और वर्तमान में प्रेडिक्टिव मेंटेनेंस एवं रि-इंजीनियरिंग की दोहरी अभिनवता पर आधारित है। प्रेडिक्टिव मेंटेनेंस में प्रोएक्टिव मेंटेनेंस की कार्ययोजना शामिल है, जो यह अनुमान लगाती है कि मशीन को आवश्यक सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर के अपग्रेड की जरूरत कब पड़ेगी, ताकि मेंटेनेंस का काम पहले ही पूरा किया जा सके। इससे मशीन का अधिकतम अपटाईम सुनिश्चित होता हैयह उत्पादों की गुणवत्ता बढ़ाने में मुख्य भूमिका निभाता है और ग्राहकों की बढ़ती अपेक्षाओं को पूरा करने में मदद करता है। दूसरी तरफ रि-इंजीनियरिंग में विविध गतिविधियां शामिल हैं, जो सर्विस ऑपरेशन का खर्च कम कर देती हैं। इन खर्चों में वैधानिक आवश्यकताओं के अनुरूप फील्ड रिप्लेसमेंट यूनिट (एफआरयू) एवं यूज्ड तथा त्रुटिपूर्ण पार्ट्स की रिकवरी, रिपेयर, टोनर को रिफिल करना, फील्ड से वापस आई मशीनों का रिफ्रेशमेंट पर्यावरण के लिए मित्रवत तरीके से ई-वेस्ट का प्रबंधन शामिल है।


तरीके से ई-वेस्ट का प्रबंधन शामिल हैइन्फ्रास्ट्रक्चर की दृष्टि से सी-टेक में न केवल इमेजिंग के लिए सबसे डार्क रूम में से एक है, बल्कि यहां पर एक ही छत के नीचे कैनन का ज्यादातर उत्पाद पोर्टफोलियो, जैसे कैमरा, प्रिंटर, प्रोफेशनल प्रिंटिंग समाधान आदि हैं। यह सेंटर क्षतिग्रस्त उत्पादों की सर्विसिंग करता है तथा यूज्ड उत्पादों को रिसाईकल करता हैइसके अलावा यह सुविधा कंपनी के इंजीनियर्स एवं चैनल पार्टनर्स को प्रशिक्षण एवं लर्निंग की सपोर्ट भी प्रदान करती है। कैनन टेक्निकल एक्सिलेंस सेंटर (सी-टेक) देश के लिए ब्रांड की प्रतिबद्धता तथा ग्राहकों को अतुलनीय सेवाएं देते हुए सबसे आगे रहने के इसके प्रयास का प्रमाण है।


वर्तमान में बी2बी स्पेस में कंपनी के पास उद्योग के सबसे बड़े डायरेक्ट सर्विस नेटवर्क्स में से एक है, जिसमें 280 से ज्यादा कर्मचारियों का प्रत्यक्ष स्टाफ 40 से अधिक स्थानों पर काम करता है, जहां हम अपने कॉर्पोरेट एवं प्रोफेशनल ग्राहकों को सेवाएं देते हैं। इसके अलावा कैनन इंडिया के पास 185 पार्टनर्स का विस्तृत नेटवर्क है, जो 1000 से ज्यादा स्थानों को सपोर्ट प्रदान करता है। बी2सी स्पेस में कंपनी भारत में काफी विस्तृत पहुंच रखती है। यह 300 से ज्यादा शहरों में मौजूद है, जो इस उद्योग में सबसे ज्यादा हैवर्तमान में दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बैंगलुरू, कोचिन और कोलकाता में 6 मास्टर सर्विस सेंटर हैं, जिनका स्वामित्व व संचालन कैनन इंडिया के पास है। इनमें अत्याधुनिक सुविधाएं एवं उपकरण हैं, जो जटिल रिपेयर और एडजस्टमेंट कर सकते हैं।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी