भारतीय सूचना सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने राष्‍ट्रपति से भेंट किया 

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 01 नवंबर 2019 नई दिल्ली। प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करते हुए राष्‍ट्रपति ने कहा कि भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी होने के नाते आप केवल सूचना के प्रसार में ही नहीं, बल्कि  सत्‍यता की जांच करने और सार्थक उद्देश्‍य के लिए उसका मिलान करने में भी बहुमुखी भूमिका निभाते हैं। सूचना को सरल और समझने योग्‍य बनाने के इस दौर में उन्‍हें सकारात्‍मक सूचना, यानी जनता और समाज के लिए उपयोगी और प्रासांगिक सूचना प्रदाता के रूप में उभरने की आवश्‍यकता है। यह सूचना के प्रहरी और सूचना को समर्थ बनाने वाले की उनकी भूमिका के अतिरिक्‍त होगा।
राष्‍ट्रपति ने कहा कि जनता तक पहुंच और संचार के माध्‍यम से आईआईएस अधिकारी जनता को विभिन्‍न कल्‍याणकारी योजनाओं और नीतियों के बारे में शिक्षित कर सकते हैं। उन सभी में इन कल्‍याणकारी योजनाओं और नीतियों को एकदम निचले स्‍तर के लोगों के लिए समझने योग्‍य, प्रासांगिक, वास्‍तविक और कार्रवाई करने योग्‍य बनाने के कौशल और योग्‍यता मौजूद है। इस प्रकार वे जन भागीदारी सुनिश्चित करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जो किसी भी कार्यक्रम की सफलता के लिए अत्‍यंत आवश्‍यक है।   
राष्‍ट्रपति ने आईआईएस अधिकारियों से मीडिया समुदाय के साथ मजबूत पेशेवर नेटवर्क तैयार करने का अनुरोध किया ताकि वे जनता के लिए महत्‍वपूर्ण मामलों के बारे में सही सूचना का प्रसार कर सकें और गलत सूचना पर काबू पा सकें। उन्‍होंने कहा कि ऐसा करते हुए वह जनता तक सरकार की पहुंच और संचार को प्रासांगिक, समयबद्ध , व्‍यवहारिक और कारगर बनाना सुनिश्चित करने में सक्षम हो सकेंगे।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी