किसानों से पराली खरीदकर बिजली बनाएगी हरियाणा सरकार

शब्दवाणी समाचार बुधवार 20 नवंबर 2019 नई दिल्ली। हरियाणा में किसानों द्वारा पराली जलाए जाने के कारण उत्पन्न हो रहे प्रदूषण से निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने किसानों से 50 लाख टन पराली खरीद कर बिजली बनाने का फैसला किया है। सरकार ने किसानों को पराली न जलाने की अपील करते हुए अधिकारियों को खरीद तुरंत चालू करने के निर्देश जारी किए हैं। हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने मंगलवार को विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में ये निर्देश देते हुए कहा कि पराली का इस्तेमाल बिजली उत्पादन में किया जाए। पराली के मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय और  नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल पंजाब, हरियाणा सहित कई राज्यों को फटकार लगा चुके हैं। राज्य सरकार ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) के साथ भी एक एमओयू किया है। आईओसी पानीपत में एथनॉल प्लांट लगाएगा। इसमें पराली का इस्तेमाल किया जाएगा।
बैठक में चौटाला ने निगम अधिकारियों को बिजली चोरी रोकने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुंडी कनेक्शन समाप्त करने के लिए अधिकारियों को छापे मारने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी जिलों से बिजली निगमों के लाइन लॉस और चोरी के मामलों की स्टेट्स रिपोर्ट तलब की है। बैठक के दौरान मंत्री ने विभागीय अधिकारियों से बिजली चोरी के मामले, अभी तक दर्ज कराए गए केस और जुर्माना लगाने की जानकारी भी उन्होंने मांगी है। चौटाला ने कहा कि अभी तक किसानों को आठ घंटे बिजली आपूर्ति हो रही थी। सरकार ने अब इसे बढ़ाकर दस घंटे करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि किसानों को किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। 




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता