सिक्स सिग्मा के हेल्थकेयर एक्सीलेंस अवार्ड में आर्मी प्रमुख द्वारा किया गया सम्मान

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 27 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। नेतृत्व की यह खासियत होती है कि वह सभी को साथ लेकर चलता है। एक सफल नेतृत्व वहीं है जो समाज में एकजुटता का संदेश देता है। आजकल ऐसे बहुत से संस्थान और विश्वविद्यालय हैं जो हिंसा की शिक्षा दे रहे हैं। जिस पर हमें एक बार फिर ध्यान देने की जरुरत है। आर्मी में सैनिकों को विषम से विषम परिस्थति में भी डट कर देश की रक्षा करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है जब कहीं जाकर एक सैनिक तैयार होता है जो दुर्गम क्षेत्रों में भी देश की रक्षा कर रहा होता है।



आर्मी प्रमुख और चीफ ऑफ द स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि सेना के जवान -45 से -50 डिग्री सेल्सियस की विषम परिस्थितियों में देश की रक्षा के लिए तत्पर रहते हैं, उन्हें आर्मी प्रशिक्षिण में हारना नहीं सिखाया जाता। सेना जवानों में नेतृत्व क्षमता के ऐसे ही गुणों को विकसित करता है जिसमें वह कभी हार नहीं मानते, उन्होंने कहा कि मुझे आश्यर्च होता है आजकल संस्थाना और विश्वविद्यालय में कैसे हिंसा की घटनाएं हो हैं संस्थान नेतृत्व के परिचायक होते हैं संस्थान और विश्वविद्यालयों से हिंसा का संदेश दिया जा रहा है यह दुखद है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आर्मी जवान नाम, नमक, निशान, वफादारी और इज्जत इन पांच मूल वाक्यों को ध्यान में रखकर सेवा में काम करता है। उन्होंने अपने प्रशिक्षण शिविर की यादों को जाता करते हुए कहा कि हमें यह कहकर बॉर्डर पर भेजा जाता था कि आपको देश की इज्जत का ध्यान रखना है याद रहें बेइज्जत होकर वापस नहीं आता है। यही कारण है कि सरहिंद का हर जवान अपने प्राणों की बाजी लगाकर भी मातृभूमि की रक्षा करता है। आर्मी प्रमुख जनरल बिपिन रावत द्वारा परमवीर चक्र विजेता कैप्टन बाना सिंह (24,500 फीट की ऊंचाई पर जंग लड़ी) और कैप्टन सूबेदार योगेन्द्र सिंह यादव को सम्मानित किया गया। कैप्टन बाना सिंह के नाम से बाना पोस्ट का नाम रखा गया। योगेन्द्र सिंह यादव ने कारगिल युद्ध में अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए देश का झंडा कारगिल चोटी पर फहराया।
सिक्स सिग्मा हेल्थ केयर के आर्गेनाइजिंग चेअरमैन डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने कहा कि सिग्स सिग्मा हेल्थ केयर हाई ऑल्टीट्यूड व दुर्गम पहाड़ियों में लोगों को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में तीर्थ यात्राएं बहुत होती है लेकिन सभी भगवान भरोसे होती हैं। सिक्स सिग्मा का उद्देश्य ऐसी जगहों पर चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराना है जहां चिकित्सक नहीं पहुंच पाते, हम माउंटेन मेडिसिन के नाम से भी लोगों को हाई ऑल्टीड्यूड मेडिसिन का प्रशिक्षण देते हैं। कार्यक्रम में उपस्थित एम्स ऋषिकेश के निदेशक डॉ. रजनीकांत ने कहा कि सफलता एक दिन में हासिल नहीं होती, लिडरशिप का गुण विकसित करने के लिए आपको दस हजार घंटे तल्लीनता से काम करना होता है। एम्स के निदेशक डॉ. रनदीप गुलेरिया ने कहा कि चिकित्सा क्षेत्र में कई नए प्रयोग हुए है तकनीकि में भी बदलाव हुए है लेकिन हमें जमीनी समस्याओं पर भी काम करना है। इसके लिए ऐसे संस्थानों की जरुरत है जो चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की सही जानकादी दे सकें। सिक्स सिग्मा हेल्थ केयर के साथ हमने कई प्राकृतिक आपदाओं में पुर्नवास शिविर लगाए, बद्रीनाथ बाढ़ के समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने राहत कार्यों की सराहना की। हेल्थ केयर महाकुंभ में स्वास्थ्य क्षेत्र के 1500 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस बार सेमिनार की टैग लाइल लीडर्स हू इंस्पायर हेल्थकेयर रखा गया। कार्यक्रम में वियतनाम की प्रतिनिधि ने बताया कि अंर्तराष्ट्रीय समझौते के तहत सिक्स सिग्मा वियतनाम सरकार के साथ मिलकर वियतनाम में हाई ऑल्टीट्यूड पर काम करेगा।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता