देश भर में pledge #SheFirst अभियान लॉन्च 

शब्दवाणी समाचार शनिवार 25 अप्रैल 2020 नई दिल्ली। जहां एक ओर दुनिया COVID-19 से लड़ रही है, इस समय (हाइजीन्इक) प्रोडक्ट भी जरूरी हैं जो सुरक्षित रहने और स्वच्छता बनाए रखने में मदद करें। इस मुश्किल दौर में जरूरतमंद लोगों को भोजन और दवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, साथ ही महिलाओं की जरूरतों को समझना भी जरूरी है। सैनिटरी नैपकिन हर महिला की मूल ज़रूरत है जो उन्हें COVID-19 के दौरान साफ-सफाई रखने और इन्फेक्शन से बचने में मदद करती है, खासतौर पर इस COVID-19 के दौर में यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। COVID-19 के चलते आज पूरी दुनिया सदी के सबसे चुनौतीपूर्ण स्वास्थ्य संकट के दौर से गुजर रही हैअधिकारी लोगों तक हर तरह की मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, जरूरतमंदों तक भोजन से लेकर मास्क और सैनिटाइजर तक पहुचाए जा रहे हैं।



महिलाओं को माहवारी के लिए हाइजीनिक प्रोडक्ट उपलब्ध कराने वाले भारतीय ब्राण्ड परी ने हर जरूरतमंद महिला तक सैनिटरी नैपकिन पहुंचने का फैसला लिया और अपने अभियान #SheFirst का लॉन्च किया है, क्योंकि ब्राण्ड का मानना है कि सैनिटरी नैपकिन हर महिला के लिए जरूरी हैं #PadsAreEssential
परी, CII-IWN, रसोई ऑन व्हील्स, पंजाब पुलिस और कई अन्य संस्थाओं के सहयोग से सुनिश्चित कर रहा है कि महिलाओं के लिए सबसे जरूरी हाइजीन प्रोडक्ट- सैनिटरी नैपकिन हर महिला और हर लड़की तक पहुंचे। सायना नेहवाल, गरिमा अवतार, रिंकी धींगरा (CII-IWN की चेयरवुमन), मनिका बधवार- सह-संस्थापक रसोई ऑन व्हील्स ने इस पहल को अपना समर्थन दिया है और इस मुश्किल समय में हर महिला की गरिमा को बनाए रखने में प्रयासरत हैं।
अभियान के बारे में बात करते हुए साहिल धारिया सीईओ एवं संस्थापक, परी ने कहा, “महिलाएं समाज की रीढ़ हैं और अपने परिवार की देखभाल करती हैं। महिलाओं को अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी चाहिए। हमारा मानना है कि सैनिटरी पैड हर महिला की मुल जरूरत है और इस संकट के समय में महिलाओं की इस ज़रूरत को पूरा करना ज़रूरी हैएक ब्राण्ड होने के नाते, हम हर महिला को आश्वासन देना चाहते हैं कि हम आपके साथ हैं, आप हम पर भरोसा कर सकती हैं। हमें गर्व है कि हमें पंजाब पुलिस, CII IWN, रसोई ऑन व्हील्स आदि का सहयोग मिला है। पैड हर महिला के लिए जरूरी हैं और मैं #SheFirst के लिए प्रतिबद्ध हूं" #PadsAreEssential and I pledge #SheFirst।"
सायना नेहवाल, ब्राण्ड परी की एक हितधारक ने अभियान को अपना समर्थन दिया है और उन्होंने कहा, " मुझे खुशी है कि लोग सैनिटरी नैपकिन का महत्व समझ रहे हैं और उन महिलाओं की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। मैं पंजाब पुलिस, CII IWN, रसोई ऑन व्हील्स और परी जैसे कॉर्पोरेट्स को सलाम करती हूं जिनके प्रयासों के चलते इस ज़रूरी प्रोडक्ट को प्राथमिकता दी जा रही है और इस महामारी के दौर में महिलाओं की मूल ज़रूरत को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। मैं न केवल एक महिला बल्कि नागरिकSANTARY PADS होने के नाते इस अभियान #SheFirst को अपना समर्थन देती हूं, जो कई अन्य महिलाओं की आवाज़ बन सकता है। मैं हर महिला की गरिमा की समर्थक हूं और शपथ लेती हूं कि पैड्स ज़रूरी हैं #PadsAreEssentialरिंकी धींगरा, CII-IWN, Delhi Chapter की चेयरवुमन, ने कहा, “परी के साथ जुड़ते हुए CII-IWN, Delhi Chapter को बेहद खुशी है। महिलाएं अक्सर अपनी मूल ज़रूरतों पर ध्यान नहीं देती हैं, खासतौर पर वे हमेशा से माहवारी के दौरान अपनी और अपने स्वास्थ्य की अनदेखी करती आई हैं। मुझे खुशी है कि परी जैसे कॉर्पोरेट्स इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं और जरूरतमंद महिलाओं को निःशुल्क सैनिटरी पैड बांट रहे हैं। इस अभियान #SheFirst को समर्थन देता है और हम शपथ लेते हैं कि पैड जरूरी हैं #PadsAreEssential ।
मनिका बधवार, सह-संस्थापक, रसोई ऑन व्हील्स ने अभियान को समर्थन देते हुए कहा, “रसोई ऑन व्हील्स में हमें परी और उसे संस्थापक-सीईओ साहिल धरिया के साथ जुड़ते हुए बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है जो हमारे फूड डिलीवरी जोन्स में निःशुल्क सैनिटरी पैड बांट रहे हैं। माहवारी के दौरान स्वच्छता आज भी महिलाओं के लिए बड़ा मुद्दा है और इस मुश्किल समय में मैं इस अभियान #SheFirst को समर्थन देती हूं और शपथ लेती हूं कि पैड ज़रूरी हैं #PadsAreEssential ।"
यह अभियान विभिन्न चैनलों के जरिए पंजाब, दिल्ली, गुरूग्राम जैसे शहरों में शुरू हो चुका है और परी दिल्ली-एनसीआर एवं पंजाब के जिलों में सैनिटरी नैपकिन बांट रहे हैं।
परी इस बात की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करना चाहता है कि माहवारी के दौरान स्वच्छता के लिए महिलाओं की जरूरतों को प्राथमिकता देना जरूरी है। माहवारी के दौरान महिलाओं में इन्फेक्शन की संभावना अधिक होती है, खासतौर पर इस माहमारी के दौरान इनकी इस जरूरत पर ध्यान देना और भी जरूरी हो जाता है। समय आ गया है कि ब्राण्ड आगे बढ़कर महिलाओं की इस जरूरत को पूरा करें और उन्हें अन्य सैनिटरी उत्पादों के साथ-साथ सैनिटरी पैड भी उपलब्ध कराएं जाएं।
परी एक महिला उन्मुख ‘महिलाओं का, महिलाओं के द्वारा और महिलाओं के लिए' एक ब्राण्ड है। इसका मानना है कि माहवारी के दौरान स्वच्छता महिलाओं का मूल अधिकार है, इसके लिए समाज में माहवारी को लेकर फैली गलत और रूढीवादी अवधारणाओं को दूर करना बेहद जरूरी है।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी