हमीरपुर में पुत्र की मृत्यु से मानसिक तनाव में लगाई फांसी, हुई मौत

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 23 अप्रैल (आशीष निगम), हमीरपुर। कोतवाली क्षेत्र के अरतरा गांव मे एक विवाहिता ने अज्ञात कारणो के चलते अपने ही घर के अन्दर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसकी जानकारी आज सुबह 6 बजे उसके दरवाजे न खुलने पर हुयी। जिसकी सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मकान के दरवाजे को तोड कर शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिये भेजा। 



मिली जानकारी के मुताबिक बांदा जनपद के पारा गुजैंला की ऊषा (22) यहां के अरतरा गांव मे अरविन्द को ब्याही थी। इसकी एक और बहन भी इसी घर मे ब्याही है। परिजनो ने बताया कि ऊषा और उसका पति अरविन्द गुजरात के सूरत मे रहकर मजदूरी करते थे। शादी के तीन वर्ष पूरे हुये इस दौरान उसके एक पुत्र भी हुआ। जिसकी बीते एक माह पहले ही मौत होने के बाद वह सूरत से लाकडाउन के पूर्व ही गांव आ गये थे। बेटे की मौत के बाद उसकी मानसिक स्थिति बिगड रही थी। और इसी के चलते बीती रात उसने मकान के अन्दर दरवाजे बन्द कर फांसी लगा ली। वहीं कोतवाली प्रभारी राजेश चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि जिस मकान मे यह घटना घटित हुयी है वह बडा परिवार रहता है और सब अपने फाटक के अन्दर मैदान मे लेटते है। ऊषा ने रात मे कमरे मे जाकर फांसी लगाली। यहं बात उसकी सगी बहन ने भी बताते हुये कहा कि बच्चे की मौत के बाद उसकी बहन सदमे मे रहने लगी थी और उसकी मानसिक स्थिति ठीक नही थी। शव पोस्टमार्टम के लिये भेजते हुये वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी