ज़ूमकार ने अपने उपभोक्ताओं लिए अस्थायी सदस्यता विकल्प प्रदान किया

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 21 अप्रैल 2020 बंगलौर। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की अवधि बढ़ चुकी है और इसके बीच अपने शेयर्ड सबस्क्रिप्शन प्रोग्राम के ग्राहकों को सपोर्ट प्रदान करते हुए भारत के सबसे बड़े सेल्फ ड्राइव मोबिलिटी प्लेटफॉर्म ज़ूमकार ने उनके साथ बोझ साझा करने के लिए पहल की है। चूंकि, ग्राहक केंद्र सरकार द्वारा घोषित विस्तारित लॉकडाउन अवधि के कारण अपने वाहन का उपयोग करने में असमर्थ होंगे, इसलिए कंपनी ने अपने सबस्क्रिप्शन प्रोग्राम में तीन अस्थायी विकल्प पेश किए हैं।



ज़ूमकार सबस्क्रिप्शन फी में 1 महीने की छूट की पेशकश करेगा, जो औसत 25 हजार रुपए की राशि होगी। इसके लिए उन्हें अप्रैल महीने के किसी भी बकाया का भुगतान करना होगा और मई के लिए उनका शुल्क माफ कर दिया जाएगा। ग्राहक की जेब के लिए और अधिक आसान बनाते हुए दूसरा विकल्प उन्हें मार्च और अप्रैल में 21-दिन के लॉकडाउन की पूरी अवधि के लिए पूर्ण छूट का लाभ उठाने की अनुमति देता है। इसके अलावा, वे अपनी देय राशि में से 50 प्रतिशत का भुगतान दो महीने के लिए टालने का विकल्प भी चुन सकते हैं।
ज़ूमकार सबस्क्राइबर्स को बिना किसी दंड (कुछ मामलों में जुर्माने पर छूट) के बिना सबस्क्रिप्शन समाप्त करने का विकल्प भी दे रहा है, यदि सबस्क्राइबर कारों के भविष्य के इस्तेमाल को लेकर अनिश्चित हैं। हालिया घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए ज़ूमकार के सीईओ और सह-संस्थापक ग्रेग मोरन ने कहा, “कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया को बड़े पैमाने पर प्रभावित किया है। यह मूल आजीविका को प्रभावित कर रहा है और यह समय व्यवसायों के लिए भी चुनौतीपूर्ण बन रहा है, ज़ूमकार में हम यह सुनिश्चित करने के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हैं कि हमारे ग्राहकों की उनके वाहनों तक निर्बाध पहुंच उपलब्ध हो। इस अवधि में सहयोग की भावना से हम अपने ग्राहकों के साथ बोझ को बांटने को लेकर खुश हैं और इसलिए इस समय में उन्हें प्रबंधित करने में मदद के लिए महत्वपूर्ण उपाय पेश किए हैं। हम धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लौट आएंगे और ये लचीली ऑफरिंग्स हमारे ग्राहकों को हमारी सेवाओं के श्रेष्ठतम इस्तेमाल के लिए सक्षम करेगी।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी