निम्न वर्ग को काम न मिलने की वजह से पैदल ही अपने घर पहुंचने पर मजबूर 

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 18 मई 2020, नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से आज सारा विश्व परेशान है वही लॉक डाउन घोषित होने की वजह से लोग घरो में रहने को विवश हैं। मजदूर वर्ग निम्न वर्ग काम न मिलने की वजह से और भोजन के अभाव मे आज अपने गंतव्य की तरफ पैदल ही चला जा रहा है। जबकी सरकार का दिशा निर्देश है कि कोई भी प्रवासी मजदूर पैदल जाता हुआ दिखाई नहीं देना चाहिए। प्रशासन उनके लिए बसों का प्रबंध करें और उन्हें उनकी मंजिल तक पहुंचाने का कार्य करें। इस महामारी के समय में देश की सभी सामाजिक संस्थाए बढ़-चढ़कर सेवा कार्य करने में लगी रही और निम्न वर्ग व मजदूर वर्ग के लिए राशन के साथ-साथ भोजन भी दिन-रात उपलब्ध कराती रहे ताकि कोई भूखा ना सोए। अग्रवाल मित्र मंडल के कोषाध्यक्ष  विपिन अग्रवाल ने बताया कि लॉक डाउन के पहले दिन से ही हमारी भोजन की सेवाएं निरंतर चल रही थी जिसके तहत प्रतिदिन हजारों लोगों के भोजन की व्यवस्था की जाती थी, जो कि हमारे कार्यकर्ताओं द्वारा शहर के अन्य स्थान पर पहुंचाया जाता था और अग्रसेन भवन पर आने वाले लोगों को बैठाकर भोजन कराया जाता था। आज हम अग्रसेन भवन पर चल रही अन्नपूर्णा किचन का समापन कर रहे है, लॉक डाउन 4.0 के लिए पदाधिकारियों द्वारा बैठक में जो भी फैसला लिया जाएगा उस पर कार्य किया जाएगा।
अग्रवाल मित्र मंडल के  अध्यक्ष रामनिवास बंसल, कार्यवाहक महासचिव भूपेंद्र मित्तल, विकास बंसल , एनके अग्रवाल ,रवि गर्ग ,पुनीत गर्ग , अमरीश राजवंशी , राधा कृष्ण गर्ग , मनोज बृजवासी, मनोज गोयलभंगेल , बाबूलाल बंसल भंगेल, सुरेश गुप्ता ,रोहतास गोयल ,राधेश्याम गोयल, प्रदीपअग्रवाल , अनुज गुप्ता ,कुलदीप गुप्ता ,सुनील गुप्ता , अशोक गोयल, रोहतास गोयल ,अनिल गुप्ता , बजरंग लाल गुप्ता ,मुकेश गर्ग,  पवनअग्रवाल ,  विपिन अग्रवाल, लघु अग्रवाल, संजय अग्रवाल, विजय गुप्ता , विजय पंडित, एवं अग्रवाल मित्र मंडल के स्टाफ ने पूर्ण योगदान किया।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया