भारतीय स्वामित्व की कंपनी ने बनाई किफायती कोविड-19 टेस्ट किट


शब्दवाणी समाचार, शनिवार 13 जून 2020, नई दिल्ली। आईआईटी दिल्ली की किफायती कोविड-19 टेस्ट किट का उत्पादन दिल्ली आधारित फर्म के द्वारा किया जाएगा और उम्मीद है कि जून 2020 के अगले सप्ताह तक यह उपलब्ध होगी। बड़े पैमाने पर किट के निर्माण और असेम्बली का काम नई दिल्ली सैटेलाईट सिटी, फरीदाबाद में कोविड-19 टेस्टिंग किट के लिए स्थापित विशेष युनिट में किया जाएगा। कोरोश्योर ऐसी कंपनियों में से एक है जिन्हें आईआईटी दिल्ली से प्रोब फ्री आरटी-पीसीआर आधारित कोविड-19 किफायती टेस्ट किट के लिए नॉन एक्सक्लुजिव लाइसेंस मिला है
श्री जतिन गोयल एमडी ने कहा, "कोविड-19 की जांच हेतू इस किट के विकास एवं वाणिज्यीकरण के लिए आईआईटी दिल्ली के साथ साझेदारी करते हुए हमें बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है। “इस अनूठी तकनीक और हमारी विशेषज्ञता का इस्तेमाल करते हुए हम Sars-Cov2 के निदान के लिए सटीक, किफ़ायती एवं मेक-इन-इण्डिया किट का निर्माण सुनिश्चित करेंगे।



श्री गोयल की टीम को श्री तुषार सेठी, चीफ फाइनैंशियल ऑफिसर एवं श्री कशिश गोयल का सहयोग प्राप्त है जो प्रोजेक्ट के सीईओ हैं आईआईटी दिल्ली, जो कोविड-19 टेस्टिंग किट विकसित करने वाला पहला अकादमिक संस्थान है, कंपनियों को टेस्ट के वाणिज्यीकरण के लिए नॉन-एक्सक्लुजिव ओपन लाइसेंस देने की योजना बना रहा है।
कोरोश्योर भारत में कोविड-19 के लिए सबसे किफायती पीसीआर टेस्टिंग किट का निर्माण करेगी। फाइनल किट के दो वेरिएन्ट होंगे और जून 2020 के अगले सप्ताह से इसके उपलब्ध होने की उम्मीद है। कंपनी उन 40 कंपनियों में से एक है, जिन्होंने रियल टाईम पीसीआर आधारित निदान के लिए आईसीएमआर से अनुमोदन हेतु संपर्क किया है। टीम के अनुसार वर्तमान में उपलब्ध जांच के तरीके 'प्रोब-आधारित हैं, जबकि आईआईटी दिल्ली द्वारा विकसित यह तरीका 'प्रोब-फ्री' है, जिससे सटीकता के साथ कोई समझौता किए बिना जांच की लागत बेहद कम हो जाती है।



Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

झूठ बोलकर न्यायालय को गुमराह करने के मामले में रिपब्लिक चैनल के एंकर सैयद सोहेल के विरुद्ध याचिका दायर

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन