नोएडा पुलिस खामोश क्यों है ?


शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 05 जून 2020, नोएडा। अपने घर के अंदर मोदी जी भाषण नहीं जनता को राशन दो कहने पर नोएडा पुलिस ने सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा पर एफ आई आर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया था। इतना ही नहीं पुनः 22 मई 2020 को केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर मजदूरों की मांगों पर घरों में ही रहकर विरोध करने के आव्हान पर सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा व अन्य ट्रेड यूनियन नेताओं को 21 मई 2020 को आधी रात गिरफ्तार कर 32 घंटे थाने में बंद रखने के बाद रिहा करने वाली नोएडा पुलिस को आज सांप सूंघ गया जब सत्ताधारी भाजपा के कार्यकर्ताओं/नेताओं ने  थाना सेक्टर 24 नोएडा पर सभी नियम कानूनों की धज्जियां उड़ा कर विरोध प्रदर्शन किया जमकर नारेबाजी की गई लेकिन प्रदर्शन करने वालों पर अभी तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है यही प्रदर्शन अगर मजदूरों ने किया होता तो नोएडा पुलिस मार-मार कर कितने के हाथ पैर तोड़ चुकी होती और गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कितने ही मजदूरों को जेल भेजा जा चुका होता है‌ नोएडा की जनता पुलिस से जवाब चाहती है क्या गरीबों के लिए अलग कानून है और बड़े लोगों के लिए अलग है।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान