ज़नरूफ का घरेलु सोलर पावर प्लांट अब सिर्फ 660 रुपये प्रतिमाह से उपलब्ध


शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 09 जून 2020, नई दिल्ली। दिल्ली के निवासी अब घर की छत पर सोलर पावर प्लांट केवल 660 रुपये की मासिक किश्त पर लगवा पाएंगे। भारत की प्रमुख होमटेक कंपनी ज़नरूफ ने आज यह घोषणा की कि कंपनी ने दिल्ली में घरों की छत पर नए सोलर रूफटॉप लगाने के मंथली पेमेंट प्लान को लॉन्च किया है। इस योजना के साथ घरेलु उपभोक्ता सात साल तक मासिक किश्त की पेमेंट कर घरों को सौर ऊर्जा से रोशन कर अपने बिजली के बिलों को कंट्रोल में रख सकते हैं।
ज़नरूफ के संस्थापक और सीईओ प्रणेश चौधरी ने कहा, “हम सोलर रूफटॉप लगाने वाले उपभोक्ताओं के लिए मंथली पेमेंट प्लान को लॉन्च करने की घोषणा कर काफी गर्व महसूस कर रहे हैं। मौजूदा दौर के अभूतपूर्व संकट के समय में उन सभी लोगों को सोलररूफ टॉप सिस्टम मुहैया कराना बहुत जरूरी हो गया है, जो सौर ऊर्जा से अपने घरों को रोशन करना चाहते हैं। सोलर सिस्टम लगाने का पूरा भुगतान करने के लिए उपभोक्ताओं को 84 महीनों का समय देना सोलर की दुनिया में एक अभूतपूर्व कदम है।

ज़नरूफ भारत में मंथली पेमेंट प्लान लॉन्च करने वाली पहली घरेलु रूफटॉप कंपनी है। प्रणेश ने कहा, “इस योजना से हमने सोलर पावर प्लांट में अग्रिम निवेश को टाल दिया है और यह हमारी और से भारत में सौर ऊर्जा से घरों को रोशन करने की मुहीम को बढ़ावा देने की एक कोशिश है।
दिल्ली में उन सभी घरों के मालिक इस योजना के लिए आवेदन करने के हकदार है, जिन्हें अपने घर की छत के इस्तेमाल करने का अधिकार है। इसके लिए ज़नरूफ 10 हजार रुपये प्रति किलोवॉट की नाममात्र की प्रोसेसिंग फीस चार्ज करता है। 7 वर्ष (84 महीनों) तक उपभोक्ताओं को मासिक शुल्क का भुगतान करना होगा।
एक अच्छी बात यह भी है कि मंथली पेमेंट की प्रक्रिया नेट मीटरिंग सिस्टम लागू होने के बाद ही शुरू की जाएगी। इस वजह से सोलर प्लांट लगाने के बाद घरों के मालिकों को पहले दिन से ही बिजली के बिलों में कटौती करने और बचत करने का मौका मिलेगा। इससे वह अपने सोलररूफटॉप सिस्टम की किस्त महीने में बिजली के बिल पर की जाने वाली बचत से कर सकते हैं।
प्रणेश ने कहा, “कोरोनावायरस के इन मुश्किल दिनों में घरों में कैश बचा के रखना सब लोगों के लिए आवश्यक है। इससे लोगों की जेब पर कोई अतिरिक्त बोझ नहीं पड़ेगा और वह घरों से काम करते हुए बिजली के बिलों में काफी कटौती कर सकेंगे।” यह योजना मकान के सभी मालिकों को बिजली के बिलों में बड़ी बचत करने में मदद देने की दिशा में गेमचेंजर साबित होगी।
प्रणेश ने कहा, “ज़नरूफ ने मोबाइल ऐप में इस प्लान को आसानी से चलाने के लिए उपभोक्ताओं की ऋण देने की क्षमता का आकलन करने की मजबूत प्रणाली विकसित की है। हम जल्द ही इस प्लान को देश के दूसरे शहरों में लॉन्च करेंगे। ज़नरूफ का सोलररूफ टॉप सिस्टम के लिए मंथली प्लान एक साहसिक कदम है। आमतौर पर घर के मालिकों को सोलर रूफटॉप सिस्टम इंस्टाल कराने के लिए प्रति किलोवॉट करीब 1 से 1.50 लाख रुपये का भुगतान करना पड़ता है। जिससे 5 किलोवॉट सिस्टम के लिए 5 लाख रुपये से ज्यादा का अग्रिम निवेश करना पड़ता है। ज़नरूफ के लिए मंथली पेमेंट प्लान का विकल्प चुनने से नए उपभोक्ताओं को नकद भुगतान कम करना पड़ेगा। 
प्रणेश ने कहा, “ज़नरूफ ने हाल ही में आईएसओ 9001, आईएसओ 14001, आईएसओ 45,001 और सीई सर्टिफिकेशन हासिल किया है। कंपनी ने अब तक 75 से ज्यादा शहरों में 30 हजार से ज्यादा रूफटॉप सोलर सिस्टम डिजाइन किया है। कुल मिलाकर ज़नरूफ ने 15 मेगावॉट से ज्यादा का रेजिडेंशियल रूफटॉप सोलर सिस्टम और 50 हजार से ज्यादा आईओटी डिवाइसेज इंस्टाल किए हैं।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

रीढ़ (स्पाइन) संबंधी बीमारी महामारी की तरह फैल रही है : डा. सतनाम सिंह छाबड़ा