कोरियाई मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री ने ट्रेडइंडिया से मिलाया हाथ



शब्दवाणी समाचार, शनिवार 31 अक्टूबर 2020, नई दिल्ली। मुंबई। अंतरराष्ट्रीय समन्वय और व्यापार सहयोग का बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भारत के प्रमुख बी2बी ऑनलाइन मार्केटप्लेस में से एक ट्रेडइंडिया ने कोरियाई जी-फेयर 2020 के आयोजकों से हाथ मिलाया है। इस इवेंट का आयोजन दक्षिण कोरिया की ग्याओंगी-डू की प्रांतीय सरकार और ग्याओंगी बिजनेस एंड साइंस एक्सीलरेटर मिलकर कर रहे हैं। जी-फेयर- कोरिया सोर्सिंग फेयर का यह 12वां संस्करण होगा। 5 और 6 नवंबर को आयोजित होने वाला यह सबसे बड़ा एसएमओ एक्सपो है और दक्षिण कोरिया के ग्याओंगी प्रांत से निकले इनोवेशन और टेक्नोलॉजी को प्रस्तुत करता है। ट्रेडइंडिया अपने प्रमुख डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भारतीय स्मॉल-बिजनेस सेक्टर को लाभ पहुंचाने के लिए इस बहुप्रतीक्षित बिजनेस मेले के वर्चुअल ट्रांसमिशन की सुविधा प्रदान करेगा। यह न केवल भारतीय एसएमई और एमएसएमई को कोरियाई समकक्षों से जुड़ने और बातचीत करने में सक्षम करेगा, बल्कि भारत-चीन के संघर्ष की पृष्ठभूमि में भारत के लिए महत्वपूर्ण स्ट्रैटेजिक ग्लोबल बिजनेस पार्टनर के रूप में दक्षिण कोरिया के उभरने में भी मदद करेगा।



इस प्रतिष्ठित ट्रेड एक्जिबिशन में 120 से अधिक दक्षिण कोरियाई मैन्युफैक्चरर्स और सप्लायर्स शामिल होंगे, जो इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स, इंडस्ट्रियल बिल्डिंग मटेरियल्स, कंज्यूमर प्रोडक्ट्स और किचनवेयर और ब्यूटी व वेलनेस जैसे विभिन्न वर्टिकल्स में 500+ प्रोडक्ट्स प्रस्तुत करेंगे। ट्रेडइंडिया के सीओओ श्री संदीप छेत्री ने कहा, “हम कोरियाई सरकार और ग्याओंगी बिजनेस एंड साइंस एक्सीलरेटर के साथ मिलकर जी-फेयर- कोरिया सोर्सिंग फेयर 2020 के आयोजन में मदद कर वाइब्रंट कोरियाई बिजनेस कम्युनिटी की मेजबानी करने में गर्व महसूस कर रहे हैं। बदलते वक्त के साक्षी के तौर पर यह कार्यक्रम हम अपने अत्याधुनिक डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से संचालित करेंगे। यह द्विपक्षीय कारोबारी संगम दोनों देशों के एसएमई और एमएसएमई के लिए फायदेमंद साबित होगा।




Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया