बीएलके अस्पताल ने ओपीडी सुविधाएं उपलब्ध



दिल्ली सुपर स्पेशलिटी टेलीमेडिसिन के साथ मिलाया हाथ

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 17 दिसंबर  2020, नई दिल्ली। बीएलके सुपर स्पेशलिटी अस्पताल ने अमरोहा और पड़ोसी क्षेत्रों के निवासियों के लिए सभी स्पेशिलिटीज में ओपीडी की शुरुआत करने जा रहा है। इसमें देश का पहला हाइब्रिड हेल्थ सेंटर, दिल्ली सुपर स्पेशलिटी टेलीमेडिसिन सेंटर पूरा सहयोग दे रहा है। इन सुविधाओं की उपलब्धता के लिए बीएलके अस्पताल ने हाइब्रिड हेल्थ केयर सेंटर के साथ एग्रीमेंट किया है। ओपीडी सेवाएं डायरेक्ट विजिट और वर्चुअल प्लेटफॉर्म के ज़रिए पूरी तरह से विशेष परामर्शों पर केंद्रित होंगी। इसकी मदद से लोग गंभीर और पुरानी बीमारियों का समय पर निदान करा सकेंगे।

ओपीडी में विशेष परामर्श और एडवांस स्क्रीनिंग के लिए डॉक्टरों की एक एक्सपर्ट टीम मौजूद होगी। इस टीम में कार्डियोलॉजी, डायजेस्टिव एंड लिवर डिजीज़ेज, बैरियाट्रिक और एडवांस लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, ऑर्थोपेडिक्स, स्पाइन और स्पोर्ट्स मेडिसीन, गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी और हेपेटोलॉजी विभाग के जाने माने डॉक्टर शामिल होंगे देश के टॉप कार्डियोलॉजिस्ट्स में गिने जाने वाले डॉक्टर सुभाष चंद्रा ने लॉन्च की घोषणा करते हुए कहा कि, “निदान में देर करने से हृदय रोगों और मृत्यु दर का बोझ बढ़ता है। विशेष परामर्श की उपलब्धता के साथ समय पर सही निदान सुनिश्चित किया जा सकता है। भारत में प्रति 4 में से एक व्यक्ति हृदय रोगों के कारण मरता है। स्केमिक हार्ट डिजीज़ और स्ट्रोक 80% हृदय रोगों के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं।



इस ओपीडी की शुरुआत के साथ, उचित इलाज और एक्सपर्ट सलाह के लिए लोगों को लंबा सफर नहीं करना पड़ेगा। आपातकालीन स्थिति में मरीज बीएलके अस्पताल की सुविधाओं का भी आसानी से लाभ उठा सकते हैं।

बीएलके इंस्टीट्यूट फॉर डायजेस्टिव एंड लिवर डिजीज़ेज के डॉक्टर दीप गोयल ने बताया कि, “लिवर रोग विश्व स्तर पर लोगों की मौत का 10वां सबसे बड़ा कारण है। क्रोनिक लिवर रोगों, क्रोनिक हेपेटाइटिस, फैटी लिवर और विभिन्न प्रकार के लिवर कैंसरों के बोझ को कम करने के लिए शुरुआती चरणों में निदान कराना अति आवश्यक है। जिन शहरों और कस्बों में पर्याप्त विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं हैं, यह पहल वहां सार्वजनिक जागरुकता बढ़ाने के साथ लोगों को समय पर निदान के लिए प्रेरित करेगी।





Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान