यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने पूर्व कॉर्पोरेशन बैंक की सभी शाखाओं का आईटी इंटिग्रेशन किया 



शब्दवाणी समाचार, बुधवार 2 दिसंबर  2020, मुंबई। सरकारी बैंक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने तीन बैंकों के समामेलन की प्रक्रिया के तहत एक और महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की। आज आईटी इंटिग्रेशन के साथ पूर्व कॉर्पोरेशन बैंक की सभी शाखाएं (सेवा शाखाएं और विशेष शाखाएं) पूरी तरह से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के साथ इंटिग्रेट हो चुकी हैं। पूर्व कॉर्पोरेशन बैंक के सभी ग्राहकों को रिकॉर्ड समय में यूनियन बैंक के सीबीएस में सफलतापूर्वक स्थानांतरित कर दिया गया है। इस उपलब्धि के साथ बैंक ने इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, यूपीआी, आईएमपीएस, एफआई गेट-वे ट्रेजरी और स्विफ्ट को सफलतापूर्वक स्थापित कर लिया है और इसके बाद कॉर्प बैंक ग्राहकों को यूबीआई की शाखाओं और वितरण चैनलों में बिना किसी दिक्कत के लेन-देन करने में सक्षम बनाया है। इससे पहले बैंक ने एटीएम स्विच और एटीएम टर्मिनलों को आसानी से यूबीआई नेटवर्क में स्थानांतरित किया था। पूरा माइग्रेशन ग्राहकों के लिए कम से कम असुविधा के साथ रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया है, अर्थात् उनके खाता संख्या, डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग क्रेडेंशियल्स में कोई बदलाव किए बिना। पूरे माइग्रेशन को इंफोसिस, ईवाई और बीसीजी के सहयोग से पूरा किया गया है।



यह उल्लेख करना सही होगा कि बैंक ने पहले ही संगठन की नई संरचना, सामंजस्यपूर्ण प्रोडक्ट्स और प्रक्रियाओं आदि की शुरुआत के साथ ही प्रशासनिक इंटिग्रेशन की प्रक्रिया पूरी कर ली है। इस उपलब्धि पर यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के एमडी और सीईओ श्री राजकिरण राय जी ने कहा “हम सभी ई-सीबी शाखाओं, और वितरण चैनलों के पूर्ण इंटिग्रेशन कर बेहद खुश हैं। यह हमारे ग्राहकों के लिए बहुत बड़ा अवसर खोलेगा और इनोवेटिव उत्पादों और सेवाओं की पेशकश करने की हमारी क्षमता को बढ़ाएगा।” उन्होंने यह भी कहा कि योजना के अनुसार, अगले चरण में ई-आंध्रा बैंक की सभी शाखाएँ चालू वित्त वर्ष के भीतर फिनाकल 10 पर माइग्रेट कर लेंगी।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता