होंडा कार्स इंडिया ने पहली बार Left Hand Drive वाहनों का निर्यात करेगा

 

• होंडा कार्स इंडिया ने पहली बार Left Hand Drive बाजारों में अपने वाहनों का निर्यात शुरू करने के साथ ही ‘मेक इन इंडिया’ को लेकर अपनी प्रतिबद्धता को किया और मजबूत 

• 2021 में 12 से अधि‍क Left Hand Drive देशों में इंडिया-मेड 5वीं पीढ़ी की नई होंडा सिटी का निर्यात  किया जाएगा 

• शुरूआती बैच का निर्यात मि‍डिल ईस्ट देशों के लिए किया गया है 

• भारत से निर्यात में 3 गुना वृद्धि का है लक्ष्‍य 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 29 जनवरी  2021, नई दिल्ली। भारत में प्रीमियम कारों की प्रमुख निर्माता होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड (एचसीआईएल) ने आज घोषणा की है कि वह हाल ही में लॉन्‍च की गई 5वीं पीढ़ी की नई Honda City का निर्यात left hand drive देशों को करना शुरू करेगी। यह पहली बार है जब कंपनी निर्यात के लिए भारत में left hand drive मॉडल्‍स का निर्माण कर रही है! इसके जरिये कंपनी भारत सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ पहल के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को और मजबूत करेगी। कंपनी ने गुजरात में पीपावाव पोर्ट और चेन्‍नई में एन्‍नोर पोर्ट से मिडिल ईस्‍ट देशों को पहला बैच रवाना करने के साथ ही 5वीं पीढ़ी की Honda City का निर्यात शुरू कर दिया है। एचसीआईएल अगस्‍त, 2020 से दक्षिण अफ्रीका को नई City के right hand drive मॉडल्‍स का निर्यात कर रही है। कंपनी अक्‍टूबर, 2020 से पड़ोसी देशों नेपाल और भूटान को भी इसका निर्यात कर रही है। 

इस घोषणा पर बोलते हुए, श्री गाकू नाकानिशी, प्रेसिडेंट और सीईओ, होंडा कार्स इंडिया लि. ने कहा, “Honda City भारत में सेडान का एक बेंचमार्क है और इसके left hand drive मॉडल को पूरी तरह से नए बाजारों में निर्यात करना हमारे लिए भारत के व्‍यापार को मजबूत करने के लिए एक बड़ा अवसर है। हमनें टापूकड़ा में स्थित अपने उत्पादन संयंत्र को विश्व-स्तरीय एवं प्रशस्त बनाने के लिए निवेश किया हुआ है और यहां right hand और left hand, दोनों ड्राइव मॉडल्‍स का निर्माण किया जा सकता है। इससे हमें घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय ग्राहकों की मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी। 5वीं पीढ़ी की Honda City को भारतीय बाजार में बहुत अच्‍छी प्रतिक्रिया हासिल हुई है और हमें उम्‍मीद है कि हम वैश्विक ग्राहकों के बीच भी इस सफलता को दोहराने, उन्‍हें बेहतर गुणवत्‍ता और प्रदर्शन के साथ पूरी संतुष्टि प्रदान करने में जरूर सफल होंगे।

उन्‍होंने आगे कहा, “यह हमारी ‘मेक इन इंडिया’ प्रतिबद्धता के अनुरूप है, जिसके तहत एचसीआईएल अपने सभी मॉडल्‍स का 90 प्रतिशत से अधिक निर्माण स्‍थानीय उपकरणों से कर रही है और देश में एक मजबूत पारिस्थितिक तंत्र विकसित करने में अभिन्‍न भूमिका निभा रही है।एचसीआईएल नेपाल, भूटान, दक्षिण अफ्रीका और एसएडीसी देशों को Amaze, WR-V, और City सहित विभिन्‍न मॉडल्‍स का निर्यात कर रही है। 5वीं पीढ़ी की Honda City (दोनों right hand और left hand drive) का निर्यात भारत के निर्यात कारोबार के लिए एक नया अध्‍याय है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी