नेहरू वर्ल्ड स्कूल, गाज़ियाबाद को मिला प्रतिष्ठित ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क’ का प्रमाणपत्र

◆ स्कूल दिल्ली-एनसीआर के कुछ ही स्कूलों में से एक है जिन्हें यह सम्मान मिला है

◆ भरोसे और परफोर्मेन्स की संस्कृति के निर्माण तथा लोग-उन्मुख दृष्टिकोण के लिए मिला यह सम्मान

शब्दवाणी समाचार, रविवार 28 फरवरी  2021गाज़ियाबाद। नेहरू वर्ल्ड स्कूल, गाज़ियाबाद, देश के शीर्ष पायदान के स्कूलों में से एक है, जिन्होंने 2020 में यूपी में सीबीएसई परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ परिणाम दर्ज किए। स्कूल को एक और सम्मान दिया गया है, इसे भारत के ग्रेट प्लेस टू वर्को इंस्टीट्यूट द्वारा ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क’ का प्रमाणपत्र मिला है। एक सर्वेक्षण के दौरान कर्मचारियों द्वारा दी गई रेटिंग के आधार पर संस्थान को यह प्रमाणपत्र दिया गया है। नेहरू वर्ल्ड स्कूल के हर स्टाफ सदस्य ने दिसम्बर 2020 में संचालित इस सर्वेक्षण के दौरान अपना फीडबैक दिया। इस फीडबैक की तुलना भारत के टॉप 50 ग्रेट प्लेसेज़ टू वर्क के साथ की गई और इसके बाद स्कूल को यह सम्मान दिया गया।

इस उपलब्धि पर बात करते हुए डॉ अरूणाभ सिंह, डायरेक्टर, नेहरू वर्ल्ड स्कूल, गाज़ियाबाद ने कहा, ‘‘हमारे स्टाफ और छात्र हमारे स्कूल का सबसे अभिन्न हिस्सा हैं। हमें यह देखकर खुशी हुई कि नेहरू वर्ल्ड स्कूल को ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क’ का सम्मान मिला है। हमारे स्टाफ द्वारा दी गई रेटिंग इस बात की पुष्टि करती है कि हम उन्हें कार्य के लिए प्रेरक एवं अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने हेतु प्रयास करते हैं। यह सम्मान नेहरू वर्ल्ड स्कूल को इस दिशा में अपनी प्रतिबद्धता को और मजबूत बनाने तथा उद्योग जगत में सबसे प्रतिभाशा स्टाफ की भर्ती के लिए प्रेरित करता है।

उन्होंने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा, ‘‘पिछला साल स्टाफ और छात्रों के लिए चुनौतियां से भरा था, हमने यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास किया कि हमारे अध्यापक और छात्र सहज महसूस करें। यह सम्मान  हमारी इन्ही प्रयासों की पुष्टि करता है, जिसके चलते हमने नेहरू वर्ल्ड स्कूल से जुड़े हर छात्र के लिए ‘घर से पढ़ाई’ को आसान बनाया है। स्टाफ से मिले फीडबैक के परिणाम बताते हैं कि नेहरू वर्ल्ड स्कूल में हर व्यक्ति स्कूल के साथ जुड़ा है। यह एक ऐसा स्थान हैं जहां सहकर्मी हमेशा एक दूसरे को सहयोग प्रदान करते हैं। मुझे गर्व है कि मैं इस इस परिवार का सदस्य हूं। फीडबैक यह भी बताता है कि नेहरू वर्ल्ड स्कूल पेशेवर विकास को बढ़ावा देता है, 99 फीसदी उत्तरदाताओं ने बताया कि उन्हें पेशेवर विकास के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।’’ सुसान हैड टीचर, नेहरू वर्ल्ड स्कूल ने कहा।

उन्होंने कहा, ‘‘संगठन को हर उम्र, हर लिंग और हर जाति लोगों के साथ निष्पक्ष व्यवहार के लिए उच्च रेटिंग मिली है। प्रबन्धन को भी बहुत अधिक सराहा गया है, इसे ‘सक्षम’ बताया गया है, स्टाफ ने कहा कि संगठन स्पष्ट दृष्टिकोण के साथ कार्यरत है। इसके अलावा प्रबन्धन प्रमुख पदों के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यक्तियों की भर्ती के लिए प्रयास करता है। नेहरू वर्ल्ड स्कूल में छात्र को आम शिक्षा के दायरे से बाहर जाकर बहुत कुछ सीखने को मिलता है। स्कूल अपने छात्रों को लर्निंग का अनूठो और आकर्षक अनुभव प्रदान करता है जहां हर प्रकार के छात्रों के समग्र विकास को बढ़ावा दिया जाता है।  

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी