लॉकडाऊन के बाद ऊबर के व्यवसाय ने मजबूत वृद्धि के संकेत दिए

◆ कम लागत के उत्पाद जैसे ऑटो कोविड-पूर्व के स्तर पहले ही पार कर चुके हैं

◆ चुनिंदा बाजारों में वृद्धि ड्राइवर पार्टनर्स के लिए आजीविका के अवसरों का सृजन कर रही है

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 2 मार्च  2021, नई दिल्ली। ऊबर ने घोषणा की कि भारत में इसका मोबिलिटी व्यवसाय सुधार के मजबूत संकेत दे रहा है। यह वृद्धि कम खर्च वाले उत्पाद जैसे ऑटो एवं मोटो के लिए राइडर की बढ़ती मांग के चलते हो रही है, जिससे इस प्लेटफॉर्म पर ड्राइवर्स के लिए आय के नए अवसर उत्पन्न हो रहे हैं। लॉकडाऊन के बाद ऊबर के लिए सबसे तेजी से सुधरते मेट्रो बाजारों में कोलकाता, हैदराबाद और मुंबई हैं। भारत में ऊबर ऑटो की रिकवरी, सकल बुकिंग की दृष्टि से मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, मैसूर, भुवनेश्वर, जयपुर, नागपुर, इंदौर, नासिक और कोच्चि में कोविड-पूर्व स्तर को पार कर गई है, जहां सबसे मजबूत वृद्धि दर्ज की गई है। नई जीवनशैली में लाखों भारतीयों ने फिर से सफर करना शुरू कर दिया है। छोटे शहरों में मजबूत वृद्धि कंपनी की ‘इंडिया से भारत’ कार्ययोजना की सफलता प्रदर्शित करती है, जिसके तहत क्षेत्रीय बाजारों में नए उत्पाद प्रस्तुत किए जाते हैं।

दरवाजे से पिकअप, सुरक्षित एवं कॉन्टैक्टलेस पेमेंट, ये सब किफायती मूल्य में प्रदान करते हुए ऊबर ऑटो भारत के शहरों में ऑटो रिक्शा लेने के लिए गली में जाने की संस्कृति को बदल रहा है। कम फिज़िकल टच प्वाईंट, हवा के बेहतर प्रवाह एवं सोशल डिस्टैंसिंग के उपायों के साथ ऑटो तुलनात्मक रूप से परिवहन के ज्यादा सुरक्षित विकल्प माने जाते हैं। राइडर्स को सुरक्षित, सुविधाजनक एवं किफायती मोबिलिटी समाधान प्रदान करने की ऊबर की प्रतिबद्धता लंबे लॉकडाऊन के बाद सर्वश्रेष्ठ उत्पाद-बाजार फिट सुनिश्चित करने के कंपनी के विज़न का प्रतीक है। शहरों में सामान्य जीवन बहाल हो रहा है और भारत में ऊबर के बाजारों में सुधार हो रहा है। इस समय ऊबर अपने प्लेटफॉर्म पर ड्राइवर्स को बेहतर आय एवं अपने समय का सर्वश्रेष्ठ उपयोग करने के अपने प्रयास दोगुने कर रहा है, जिससे समुदायों की ज्यादा वित्तीय स्वतंत्रता एवं आर्थिक पुनरोत्थान सुनिश्चित हो रहे हैं।

ऊबर इंडिया एवं साउथ एशिया के प्रेसिडेंट, प्रभजीत सिंह ने कहा, ‘‘शहरों में सामान्य जीवन बहाल हो रहा है और लोग फिर से सफर करने लगे हैं। इसलिए राइडर द्वारा हमारी मांग बढ़ रही है, जो ड्राईवर्स के लिए अच्छा संकेत है क्योंकि इसके मायने हैं कि हम उनके लिए आजीविका के अवसरों का निर्माण जारी रख सकेंगे, ताकि वो अपना परिवार चला सकें। शहरों में राइडर्स की बढ़ती संख्या हम में हमारे राइडर्स के भरोसे को प्रदर्शित करती है। हम इस जिम्मेदारी को समझते हैं और राइडर्स को अपनी मोबिलिटी की दैनिक जरूरतों के लिए सुविधाजनक, किफायती एवं सुरक्षित परिवहन के विकल्प प्रदान करने के मानदंड बढ़ाते रहेंगे तथा ड्राइवर पार्टनर्स के लिए आजीविका के अवसरों का निर्माण करेंगे।

सुरक्षा ऊबर की प्राथमिकता है और कंपनी ने राइडर एवं ड्राइवर का आत्मविश्वास स्थापित करने के लिए प्लेटफॉर्म की सुरक्षा सुनिश्चित करने में भारी निवेश किया है। इसमें ड्राइवर्स के लिए सुरक्षा सप्लाई खरीदना, कार एवं ऑटोरिक्शा में उच्च गुणवत्ता की सुरक्षा स्क्रीन स्थापित करना और अभिनव प्रौद्योगिकी संचालित समाधानों का क्रियान्वयन शामिल है, जिससे सफर के दौरान राइडर एवं ड्राइवर सुरक्षित महसूस करें। ऊबर के इन-ऐप सेफ्टी समाधानों में विस्तृत सुरक्षा उपाय, जैसे गो ऑनलाइन चेकलिस्ट, राइडर्स एवं ड्राइवर्स के लिए अनिवार्य मास्क पॉलिसी, ड्राइवर्स एवं राइडर्स के लिए प्रि-ट्रिप मास्क वैरिफिकेशन सेल्फी तथा सुरक्षा एसओपी पर अनिवार्य ड्राइवर शिक्षा शामिल है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी