श्रीराम कथा में राम वन गमन व राम केवट संवाद का रोचक प्रसंग सुनाया

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 5 मार्च  2021, गौतम बुध नगर। गुरुवार को सेक्टर 49 स्थित नत्थू कॉलोनी में आयोजित श्रीराम कथा के चौथे दिन कथा व्यास डॉक्टर निधि तेलंग ने प्रसंग सुनाते हुए कहा कि अयोध्या में राजा दशरथ की इच्छानुसार राम के राज्याभिषेक की तैयारी होती है। राज्य की जनता बहुत खुश है लेकिन दासी मंथरा के समझाने पर कैकयी राजा दशरथ से राम के लिए वनवास और भरत के लिए सिंघासन मांगती है। पिता की आज्ञा का पालन करने के लिए राम, लखमन और सीता सहित वन को चले जाते हैं। अयोध्या में शोक की लहर दौड़ जाती है। 

भगवान राम गंगा किनारे पहुंचते है जहां केवट से गंगा पार कराने को कहते हैं। '' मांगी नाव ना केवट आना, कहहुँ तुम्हार मरमु मैं जाना"।केवट कहता है कि हे भगवन मैं आपको गंगा के पार उतार देता हूँ आप मुझे भव के पार उतार देना। केवट भगवान राम, लक्ष्मण और सीता के चरण धोकर उनको गंगा के पार उतार देते हैं। इस अवसर पर आयोजन समिति के प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने कहा कि 5 मार्च को चित्रकूट निवास, दशरथ मरण एवं भरत मिलाप आदि प्रसंगों का वर्णन किया जाएगा। इस अवसर पर महेंद्र सिंह, कौशल्या, मुन्नी देवी, वंदना,सुशील पाल, देवेंद्र गुप्ता, गोरेलाल, उत्तम चंद्रा, शैलेश द्विवेदी सहित तमाम सेक्टरवासी भक्त मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए