सीता हरण शबरी प्रसंग का किया वर्णन

शब्दवाणी समाचार, रविवार 7 मार्च  2021गौतम बुध नगर। शनिवार को सेक्टर 49 की नत्थू कॉलोनी में आयोजित श्रीराम कथा के छठवें दिन कथा व्यास डॉ निधि तैलंग ने कथा का वर्णन करते हुए कहा कि भरत भगवान राम की खड़ाऊं लेकर अयोध्या आ जाते है। भगवान राम ऋषियों से विदा लेकर आगे पहुंचते हैं और पंचवटी में अपना निवास बनाते हैं। लंकापति रावण की बहन सूर्पणखा भगवान राम को देखकर सम्मोहित हो जाती है और विवाह की जिद करती है। लक्ष्मण जी सूर्पणखा के नाक कान काट लेते हैं। रावण साधु का वेश धारण कर सीता का हरण कर लेता है। भगवान राम, लक्ष्मण के साथ सीता की खोज करते हैं। कथा व्यास ने शबरी का भक्तिमय प्रसंग सुनाया। 

शबरी भगवान राम की परम भक्त है और कई वर्षों से उनके आने की प्रतीक्षा करती हैं। जब भगवान राम उनकी कुटिया में पहुंचते हैं तो शबरी राम को चख चख कर मीठे बेर खिलाती है और भक्ति रस में पगे जूठे बेर भी भगवान खा लेते हैं। आयोजन समिति के प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने बताया कि 7 मार्च को हनुमान मिलन, सुग्रीव मित्रता एवं बाली वध आदि प्रसंगों का वर्णन किया जाएगा। इस अवसर पर महेंद्र सिंह, कौशल्या, मुन्नी देवी, वंदना, सुशील पाल, गोरेलाल, उत्तम चंद्रा, पंकज झा, शिवव्रत तिवारी, देवेंद्र गुप्ता, शैलेश द्विवेदी सहित तमाम भक्तजन मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान