एमजी मोटर इंडिया और ट्रैक्स रोड सेफ्टी प्रोजेक्ट के लिए सियाम सीएसआर 2020 अवार्ड से सम्मानित

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 7 अप्रैल  2021, नई दिल्ली। एमजी मोटर इंडिया ने प्रतिष्ठित सियाम सीएसआर 2020 अवॉर्ड हासिल किया है। यह अवार्ड उसे ट्रैक्स (TRAX) और हरियाणा सरकार के साथ चलाए गए रोड सेफ्टी के लिए चलाए गए ‘रोड सेफ्टी एंड जूनियर्स प्रोग्राम’ के लिए प्रदान किया गया है। यह सम्मान स्कूलों के पास हाई-रिस्क स्थानों पर रोड्स के अपग्रेड्स के माध्यम से स्कूलों के पास सुरक्षित सड़कों के निर्माण के लिए मिला है, जिसके साथ स्कूली बच्चों को सड़क सुरक्षा का प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया है। इस पहल में स्कूल के शिक्षकों और अभिभावकों सहित आसपास के सामुदायिक सदस्यों के लिए सड़क सुरक्षा प्रशिक्षण शामिल है।

सियाम अवार्ड पर बोलते हुए एमजी मोटर इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राजीव चाबा ने कहा, “हम उद्योग की सर्वोच्च संस्था सियाम से यह पुरस्कार प्राप्त करके बेहद खुश हैं। यह बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा के लिए हमारे प्रयासों का सम्मान है, जो भारत में अपना पहला वाहन लॉन्च करने के पहले से ही हमारे लिए एक प्रमुख क्षेत्र रहा है। हम ट्रैक्स और हरियाणा सरकार के साथ अपनी साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए तत्पर हैं। इसी पर टिप्पणी करते हुए ट्रैक्स एस. सोसायटी- रोड सेफ्टी एनजीओ की संस्थापक और जनरल सेक्रेटरी रजनी गांधी ने कहा, “एमजी मोटर इंडिया के साथ साझेदारी में यह सम्मान हासिल करना ट्रैक्स के लिए गौरव की बात है। एमजी मोटर इंडिया के विजन ने ही हमें स्थिरता और समग्र दृष्टिकोण के साथ इस प्रोग्राम को डिजाइन करने के लिए प्रेरित किया है। हम इस पहल के लिए और इसमें मिले सहयोग के लिए हरियाणा सरकार के सभी हितधारकों का भी आभार प्रकट करते हैं। रोड सेफ्टी एंड जूनियर्स प्वरिष्ठ अधिकारियों, स्कूली शिक्षकों और यहां तक कि बस ड्राइवर्स समेत सभी हितधारकों की जिम्मेदारी तय करना एक प्रतीक बन गया है।

एमजी और ट्रैक्स ने पहले ही गुरुग्राम के गवर्नमेंट बॉयज़ सेकेंडरी स्कूल और फरीदाबाद के गवर्नमेंट हाई स्कूल साहुपुरा सहित विभिन्न स्कूलों के आसपास की सड़कों को रीवैम्प करने का काम शुरू किया है। एमजी सेवा के तहत अपनी सामुदायिक सेवा के लिए एमजी को यह सम्मान मिला है, जिसमें इम्पैक्ट (IIMPACT) और उदयन के साथ बालिका शिक्षा जैसी विभिन्न पहल शामिल हैं। पिछले साल शुरू की गई इसकी कुछ पहल में 6 महीने के लिए 100 हेक्टर के साथ फ्रंटलाइन वर्कर्स को सहयोग, पुलिसकर्मियों और बुजुर्गों के वाहनों का सैनेटाइजेशन, स्वास्थ्य सुविधाओं में आवश्यक सप्लाई में योगदान, उच्च गुणवत्ता वाले स्वदेशी वेंटीलेटर का निर्माण, और खाद्य पैकेट्स का वितरण और अन्य पहलों के साथ-साथ प्रवासी श्रमिकों को स्वच्छता किट प्रदान करना शामिल हैं। ऑटोमेकर ने हाल ही में नागपुर के नांगिया सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 5 एम्बुलेंस दान दी हैं और ऑटोकार इंडिया से कम्युनिटी सर्विस के लिए एक पुरस्कार भी प्राप्त किया है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए