सैमसंग ने कोविड-19 में मदद के लिए की 50 लाख डॉलर की मदद की घोषणा किया

• 100 ऑक्‍सीजन कंसनट्रेटर्स, 3000 ऑक्‍सीजन सिलेंडर और 10 लाख इन्‍नोवेटिव एलडीएस सिरिंज, जो वैक्‍सीन की बर्बादी को कम करने में मदद करेंगे, को दक्षिण कोरिया से हवाई मार्ग के जरिये लाया जा रहा है। 

• कंपनी देश अपने 50,000 से अधिक कर्मचारियों और लाभार्थियों के लिए कोविड-19 टीकाकरण का खर्च भी स्‍वयं वहन करेगी। 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 6 मई  2021गुरुग्राम। सैमसंग ने कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के खिलाफ भारत की लड़ाई में योगदान देने के लिए केंद्र सरकार और राज्‍य सरकारों को 50 लाख डॉलर (37 करोड़ रुपये) की सहायता देने एवं अपनी नागरिकता पहले के हिस्‍से के रूप में अस्‍पतालों के लिए आवश्‍यक चिकित्‍सा उपकरणों के साथ हेल्‍थकेयर सेक्टर को समर्थन देने की घोषणा की है। यह निर्णय भारत में विभिन्‍न हितधारकों के साथ विचार-विमर्श करने और स्‍थानीय प्रशासन की तत्‍काल आवश्‍यकता का आकलन करने के बाद लिया गया है।

सैमसंग केंद्र सरकार के साथ ही साथ उत्तर प्रदेश एवं तमिलनाडु राज्‍य को 30 लाख डॉलर का दान देगी।  इसके अलावा, हेल्‍थकेयर सिस्‍टम, जो पिछले कुछ हफ्तों से काफी दबाव में है, की मदद के लिए सैमसंग 20 लाख डॉलर की चिकित्‍सा सामग्री उपलब्‍ध कराएगी, जिसमें 100 ऑक्‍सीजन कंसनट्रेटर्स, 3,000 ऑक्‍सीजन सिलेंडर्स और दस लाख एलडीसी सिरिंज शामिल हैं। ये सामग्री उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु राज्‍य को उपलब्‍ध कराई जाएगी। 

एलडीएस या लो डेड स्‍पेस सिरिंज इंजेक्‍शन के बाद डिवाइस में बचने वाली दवा की मात्रा को न्‍यूनतम बनाती है, जिससे वैक्‍सीन का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित होता है। मौजूदा सिरिंज में उपयोग के बाद बहुत अधिक मात्रा में दवा रह जाती है और बर्बाद होती है। नई टेक्‍नोलॉजी ने 20 प्रतिशत तक अधिक दक्षता का प्रदर्शन किया है। यदि मौजूदा सिरिंज से 10 लाख खुराक दिए जाते हैं, वहीं एलडीएस सिरिंज वैक्‍सीन की समान मात्रा के साथ 12 लाख खुराक दे सकती है। सैमसंग ने इन सिरिंज के विनिर्माताओं को उत्‍पादन बढ़ाने के लिए मदद प्रदान की है। 

इसके अलावा, अपनी नागरिक पहल के हिस्‍से के रूप में, सैमसंग भारत में अपने 50,000 से अधिक पात्र कर्मचारियों और लाभार्थियों को, उनका जीवन बचाने के उद्देश्‍य के साथ, टीकाकरण खर्च को वहन करेगी। इसमें सभी सैमसंग एक्‍सपीरियंस कंसल्‍टैंट्स, जो पूरे देश में इलेक्‍ट्रॉनिस रिटेल स्‍टोर्स पर काम करते हैं, शामिल होंगे।  सैमसंग में, कर्मचारी का स्‍वास्‍थ्‍य, सुरक्षा और कल्‍याण पहली प्राथमिकता है। चिकित्‍सा सामग्री के साथ ही साथ अस्‍पताल और होम केयर की जानकारी और पहुंच के साथ कर्मचारियों और उनके परिवारों की मदद के लिए, हमनें पूरे देश में इन-हाउस सुविधा और टीमों का गठन किया है। 

अप्रैल 2020 में, सैमसंग ने महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में INR 20 करोड़ का योगदान दिया था। इसमें केंद्र सरकार और नोएडा में स्थानीय प्रशासन को समर्थन शामिल था, जहां कंपनी ने महामारी के खिलाफ निवारक ड्राइव में आवश्यक चिकित्सा उपकरण जैसे कि हजारों निवारक मास्क और व्यक्तिगत निवारक उपकरण (पीपीई) किट अस्पतालों को प्रदान किए थे। सैमसंग इस लड़ाई में अग्रणी प‍ंक्ति में बिना रुके काम करने वाले सभी पेशेवरों को सलाम करती है। सैमसंग परिवार, जिसमें पूरे भारत में हमारे कर्मचारी और हमारे भागीदार और उनके कर्मचारी शामिल हैं, कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में एकसाथ खड़ा है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता