सरना ने गुरमीत राम रहीम के पैरोल पर जतायी हैरानी

 

◆ जत्थेदार जगतार सिंह हवारा और बलदेव सिंह राजोआणा के रिहायी के लिए की माँग 

◆ लंबित केसों पर पुनर्विचार के लिए गृह मंत्रालय से किया निवेदन

शब्दवाणी समाचार, रविवार 23 मई  2021, नई दिल्ली। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम बलात्कार और खून के आरोपों में 20 साल की सजा काट रहे है। परंतु पिछले 17 मई को दाखिल याचिका के आधार पर उनको परोल मिली है। इसको लेकर सिख जत्थेबंदियों से तीख़ी प्रक्रिया देखने को मिल रही है। इसी क्रम में शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के प्रधान परमजीत सिंह सरना ने डेरा सच्चा सौदा के परोल को सुनकर काफी हैरानी जतायी और बताया कि यदि इतने गंभीर केसों में लिप्त होने के बावजूद भी, यदि रामरहीम को परोल मिल सकती है तो पोटा और टाडा के तहत सजा पूरी कर चुके राजनीतिक बंदी सरदार जगतार सिंह हवारा और जत्थेदार बलदेव सिंह राजोआणा को रिहायी क्यों नही मिल सकती ? 

सोशल मीडिया पर जारी बयान में सरना ने बताया कि सिख समुदाय ने देश के हर मुसीबत में मजबूती से साथ दिया है। वह चाहे युद्ध ,आपातकाल या महामारी हो। हमने निःस्वार्थ भाव से देश की सेवा की है।  राजनीतिक बन्दी के शिकार राजोआणा और हवारा जी जिन्होंने अपनी प्रक्रिया पूरी भी कर ली है। उनको रिहा क्यों नही किया जा रहा ?  दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबधंन कमिटी के पूर्व प्रधान परमजीत सिंह सरना ने गृह मंत्रालय से निवेदन करते हुए लंबित केसों पर पनर्विचार करने की याचिका भी भेजी।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता