ऊबर ड्राईवर वैक्सीनेशन अभियान से 37,000 से ज्यादा ड्राईवर्स को मिला लाभ

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 25 जून  2021गुरुग्राम। ऊबर ने घोषणा कर बताया कि इसके प्लेटफॉर्म पर 37,000 से ज्यादा ड्राईवर्स को कोविड वैक्सीन का कम से कम एक शॉट लगाया जा चुका है। यह भारत को फिर से गतिशील बनाने में मदद करने के लिए कंपनी के द्वारा 18.5 करोड़ रु. के अपने ड्राईवर वैक्सीनेशन अभियान के तहत किया गया है। ऊबर ने कार, ऑटो एवं मोटो ड्राईवर्स के लिए ऐप के अंदर सरकार द्वारा जारी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट अपलोड करने का एक सरल व तीव्र तरीका प्रस्तुत किया है। वैक्सीन लगवाने के लिए खर्च किए गए समय के मुआवजे के रूप में ऊबर हर ड्राईवर को हर शॉट के लिए 400 रु. की इनाम राशि दे रहा है और अपलोड किए गए हर सर्टिफिकेट् की विश्वसनीयता की पुष्टि के लिए टेक्नोलॉजी एवं मानव सत्यापन का इस्तेमाल कर रहा है।

पिछले कुछ हफ्तों में ऊबर ऐप पर भेजे गए मैसेज, एजुकेशनल वीडियो एवं मेडिकल विशेषज्ञों के साथ वर्चुअल मीटिंग्स के द्वारा ड्राईवर की शिक्षा में निवेश करता रहा है, ताकि वैक्सीन के डर को कम कर, आम भ्रांतियों को दूर कर, वैक्सीनेशन के फायदों के बारे में जागरुकता बढ़ाई जा सके। ड्राईवर्स की शिक्षा एवं वैक्सीनेशन के लिए दिया गया मुआवज़ा, ऊबर द्वारा भारत सरकार को महामारी की रोकथाम करने में सहयोग देने के लिए महत्वपूर्ण कदम हैं। इसके अलावा, बैंगलुरु, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद, लखनऊ, कानपुर, आगरा, बरेली, गोरखपुर, भोपाल और भुवनेश्वर में ड्राईवर्स को निशुल्क वैक्सीन लगाने के लिए ऊबर राज्य सरकारों के साथ सहयोग कर रहा है। कंपनी भारत में इसी तरह के अभियानों में मदद करने के लिए अन्य राज्यों की सरकारों से भी बात कर रही है।

इस अभियान के बारे में, प्रभजीत सिंह, प्रेसिडेंट, ऊबर इंडिया साउथ एशिया ने कहा, ‘‘व्यापक स्तर पर वैक्सीनेशन कोविड के खिलाफ भारत की लड़ाई में सबसे बड़ी प्रतिरक्षा है। हम जिन समुदायों को सेवाएं देते हैं, उनके लिए प्रतिबद्ध हैं और ड्राईवर्स व राईडर्स को जल्द से जल्द दोनों खुराक लगाने में मदद करना चाहते हैं। हमें ड्राईवर्स से मिली प्रतिक्रिया की बहुत खुशी है और हम इस चुनौतीपूर्ण समय मे उनका सहयोग करते रहेंगे। ये प्रयास ऊबर प्लेटफॉर्म पर सुरक्षा बढ़ाएंगे और भारत को फिर से गतिशील बनाने में मदद करेंगे। वैक्सीन लगवाने वाले ड्राईवर्स को नकद में मुआवजा देने के लिए 18.5 करोड़ रु. के पैकेज के अलावा, 28 मई, 2021 को ऊबर ने कोविड-19 पीड़ित ड्राईवर्स के लिए एक अपडेटेड फाईनेंशल सपोर्ट प्रोग्राम की भी घोषणा की, जिसके द्वारा वह 14 दिनों तक आय का आंशिक सहयोग प्राप्त कर सकेंगे। कोविड-19 की वजह से ड्राईवर की मृत्यु होने की दुखद स्थिति में, ऊबर 75,000 का वन-टाईम सपोर्ट पैकेज देगा, ताकि उनके परिवार के बाकी सदस्यों की तत्कालिक जरूरतों को पूरा करने में मदद मिल सके।

गिरिराज गिरी, जो 3 सालों से ऊबर प्लेटफॉर्म पर ड्राईव कर रहे हैं, वो वैक्सीन की दोनों खुराक लगवा चुके हैं और उन्हें 800 रु. का मुआवज़ा मिल चुका है। उन्होंने बताया, ‘‘महामारी का समय मेरे और मेरे परिवार के लिए वित्तीय व भावनात्मक रूप से बहुत चुनौतीपूर्ण था। मुझे अपना घर चलाने के लिए आय जारी रखना जरूरी था और वैक्सीन मिलना मुश्किल था। ऊबर ने न केवल मुझे मुफ्त में वैक्सीन लगवाने में मदद की, बल्कि इसके लिए मुझे इनाम राशि भी दी। अब मैं राईड स्वीकार करने के लिए ज्यादा आत्मविश्वास महसूस करता हूँ और जब राईडर्स को पता चलता है कि मैंने वैक्सीन लगवा ली हैं, तो उन्हें भी आश्वासन मिलता है। परिस्थितियों में सुधार होने के साथ आय के अवसर भी बढ़ेंगे, लेकिन मैं अपने सभी साथी ड्राईवर्स से निवेदन करता हूँ कि वो पहले वैक्सीन लगवाएं और सुरक्षा की सभी सावधानियां बरतते रहें। महामारी की शुरुआत से ही, ऊबर ने सदैव कोविड के खिलाफ भारत की लड़ाई में सहयोग दिया है। इस साल मार्च में ऊबर ने लोगों को नज़दीकी वैक्सीन केंद्रों से आवागमन करने में मदद करने के लिए 10 करोड़ रु. की निशुल्क राईड प्रदान करने का संकल्प लिया था।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया