क्लियरटैक्स’ को मिली नई पहचान

 

◆ क्लियर' द्वारा कंपनी के फुल स्टैक रेंज को करेगी प्रदर्शित

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 30 जून  2021मुंबई। भारत की अग्रणी फिनटेक सास कंपनी क्लियरटैक्स ने आज 'क्लियर' पेश किया। यह एक छत्र नाम है, जिसके तहत टैक्स, इनवॉइस, वेल्थ मैनेजमेंट और व्यवसायों के लिए क्रेडिट समेत ब्रांड की सभी पेशकशें मौजूद रहेंगी। अपनी एक दशक लंबी यात्रा में कंपनी ने ई-फाइलिंग टैक्स प्लेटफॉर्म से एक फुल स्टैक फाइनेंस सर्विस प्रोवाइडर के रूप में विस्तार किया है। क्लियर पहचान के साथ कंपनी ने कहा कि वह क्लियरटैक्स ब्रांड के पूरक के रूप में सटीकता, सुरक्षा और विश्वसनीयता की विरासत को आगे बढ़ाने वाले महान उत्पादों की पेशकश करना जारी रखेगी। क्लियरटैक्स अपनी टैक्स ऑफरिंग (आयकर और जीएसटी) को जारी रखेगा, जिसे लाखों भारतीय पसंद करते हैं।

क्लियर के संस्थापक और सीईओ अर्चित गुप्ता ने इस घोषणा पर कहा, “हमने करों को सरल बनाने के लिए कंपनी की शुरुआत की। पर पिछले कुछ वर्षों में हमने करों से ईतर जाकर भी प्रगति की है और जबरदस्त वृद्धि हासिल की है। आज हम करों के लिए सास (SaaS) बनाते हैं, जुड़े व्यवसायों के लिए इनवॉइस और वेल्थ मैनेजमेंट की पेशकश करते हैं। स्पष्ट रूप से इनवॉइस, वेल्थ मैनेजमेंट, लोन और अन्य कई क्षेत्रों में भारतीयों की सेवा करने की हमारी विशाल महत्वाकांक्षाओं को दर्शाता है।

2011 में शुरू किए गए क्लियरटैक्स ने व्यक्तिगत करदाताओं को अपना आयकर रिटर्न ऑनलाइन दाखिल करने में मदद करके ऑनलाइन टैक्स कम्प्लायंस प्लेटफॉर्म के रूप में अपनी यात्रा शुरू की थी। जीएसटी आने के साथ कंपनी ने कई उत्पादों के माध्यम से ग्राहकों तक अपनी पहुंच को गहराई से स्थापित किया है जो व्यवसाय के हर पहलू को छूते हैं। इसने क्लियरटैक्सजीएसटी, क्लियरई-इनवॉइस, व्यवसायों के लिए क्लियरवन, कर विशेषज्ञों के लिए क्लियरप्रो और अन्य लोगों के लिए ब्लैक सहित समर्पित पेशकशें लॉन्च कीं। क्लियर खुद को तकनीक और प्रोडक्ट-फर्स्ट कंपनी के रूप में पहचान स्थापित करता है, जिसने वेब-ऑन्ली क्लाउड आधारित फॉर्म फैक्टर से अब वेब, डेस्कटॉप, मोबाइल और एपीआई में प्रगति की है। इसके पोर्टफोलियो में नवीनतम जोड़ा गया है- क्लियरवन जो एसएमई के लिए उपयोग में आसान, वन-स्टॉप इनवॉइसिंग और कम्प्लायंस सॉल्युशन है। पिछले 12 महीनों में फर्म ने भारतीयों के लिए वित्त को सरल बनाने वाले 4 मोबाइल ऐप लॉन्च करके व्यवसायों और व्यक्तियों के लिए आसानी से पहुंच पर ध्यान केंद्रित किया है।

आज, क्लियर भारत के 2,000 से अधिक सबसे बड़े ब्रांडों और कॉर्पोरेशंस और 5 मिलियन से अधिक पर्सनल टैक्सपेयर्स की जरूरतों को पूरा करता है। यह भारत के लगभग 10% बी2बी इनवॉइस प्रोसेस करता है, जिसमें हर साल $300 बिलियन से अधिक का व्यापार मूल्य और भारत के कुल आयकर रिटर्न का 10% से अधिक शामिल है। पिछले साल, फिनटेक फर्म ने 4 लाख से अधिक व्यवसायों के लिए 1,000 करोड़ रुपये से अधिक की बचत की। साथ ही यह 130 मिलियन से अधिक भारतीयों को हर साल अपनी वेबसाइट के माध्यम से पर्सनल फाइनेंस को समझने में मदद करता है और इसके कम्प्लायंस ऑफरिंग के माध्यम से 2 मिलियन से अधिक मानव-घंटे बचाता है। अनुमान के मुताबिक, क्लियर के 2023 तक $1 ट्रिलियन से अधिक मूल्य के इनवॉइस का प्रबंधन करने की उम्मीद है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता