हादसों में कमी लाने के लिए सेफर रोड्स फॉर गुरुग्राम ने हीरो होंडा जंक्‍शन पर लागू किया सुरक्षा उपाय

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 30 जून  2021गुरुग्राम। गुरुग्राम पुलिस द्वारा हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में सड़क दुर्घटनाओं में 375 लोगों की मृत्‍यु हुई है, इसका मतलब है प्रतिदिन एक मौत। यह संख्‍या हर साल बढ़ रही है- 2019 में 235 मृत्‍यु हुई थीं। महामारी के कारण सड़क यातायात घटने के बावजूद मृत्‍यु संख्‍या में 37 प्रतिशत से अधिक वृद्धि हुई है। यह आंकड़ा शहर में सड़क सुरक्षा के मुद्दों पर तत्‍काल ध्‍यान देने की आवश्‍यकता पर जोर देता है। दुनिया की अग्रणी बीयर निर्माता कंपनी, एनह्यूजर बुश इनबेव (एबी इनबेव) ने अपने एकीकृत अंतर-क्षेत्रीय पहल- सेफर रोड्स फॉर गुरुग्राम (एसआरएफजी) के माध्‍यम से परिवहन वि‍भाग- हरियाणा सरकार और भारत के सबसे ज्‍यादा मान्‍यता प्राप्‍त सड़क सुरक्षा एनजीओ, ट्रैक्‍स के साथ मिलकर हीरो होंडा जंक्‍शन पर सड़क सुरक्षा उपायों को लागू किया है। 

सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्‍टीट्यूट और एसआरएफजी डाटा डैशबोर्ड (शहर में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं का विश्‍लेषण करने वाला एक उपकरण) द्वारा जारी सड़क सुरक्षा रिपोर्ट में हीरो होंडा जंक्‍शन को एक दुर्घटना-संभावित ब्‍लैकस्‍पॉट के रूप में पहचाना गया था। एफआईआर डाटा के आधार पर, इस जंक्‍शन पर पिछले पांच सालों में 82 से अधिक घातक सड़क दुर्घटनाएं हुई है, जिसमें 8 लोगों की मौत हुई है। सड़क सुरक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धत के बारे में बोलते हुए, अनसुया राय, वीपी कॉरपोरेट अफेयर्स- साउथ एशिया, एबी इनबेव ने कहा, “हमारा प्रयास प्रमुख सार्वजनिक और निजी भागीदारों के साथ प्रभावी सड़क सुरक्षा समाधानों को तैयार करना है। हमें परिवहन विभाग- हरियाणा सरकार, ट्रैक्‍स और क्रियान्‍वयन भागीदार के साथ मिलकर काम करने में और एक समग्र मॉडल विकसित करने में खुशी हो रही है। 

पिछले साल लोगों के व्‍यवहार में बदलाव लाने और प्रभावी सड़क सुरक्षा नीतियों को तैयार करने के उद्देश्‍य से एसआरएफजी ने सड़क सुरक्षा डैशबोर्ड और UNITAR’s ई-लर्निंग मॉड्यूल को लॉन्‍च किया । इस वर्ष हमारा ध्‍यान दुर्घटनाओं और मृत्‍यु को कम करने के लिए सुरक्षा उपायो के साथ सुसज्जित रोड इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार करने पर है। हमें पूरा भरोसा है कि हीरो होंडा जंक्‍शन पर इन सड़क सुरक्षा उपायों के क्रियान्‍वयन से गुरुग्राम में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने में मदद मिलेगी। साइट पर सड़क सुरक्षा हस्‍तक्षेप के महत्‍व पर प्रकाश डालते हुए, अनुराग कुलश्रेष्‍ठ, प्रेसिडेंट, ट्रैक्‍स ने कहा, “हमारे प्रमुख लक्ष्‍य हीरो होंडा जंक्‍शन पर सड़क पार करने वाले लोगों को एक सुरक्षित मार्ग प्रदान करना और ऑटो-रिक्‍शा के लिए एक निर्दिष्‍ट स्‍थान की सुविधा प्रदान करना था। 

आईलैंड के निर्माण के साथ ये हस्‍तक्षेप न केवल यातायात की आवाजाही को सुव्‍यवस्थित करेंगे बल्कि सड़क उपयोगकर्ता के व्‍यवहार को बेहतर बनाने में भी मदद करेंगे, जिससे इस जंक्‍शन पर सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी। 2018 में, एसआरएफजी ने इसी प्रकार के सड़क सुरक्षा उपाय हुडा जंक्‍शन जैसे दुर्घटना-संभावित ब्‍लैकस्‍पॉट पर भी किए हैं। इसके अलावा, एसआरएफजी ने सहयोगात्‍मक कार्रवाई को प्रोत्‍साहित करने के लिए सड़क सुरक्षा संवाद भी आयोजित किए हैं, सड़क उपयोगकर्ताओं के व्‍यवहार में सुधार लाने के लिए सड़क सुरक्षा डाटा डैशबोर्ड (data dashboards) और ट्रैनिंग मॉड्यूल बनाए हैं। 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता