अमेरिकी ईंधन स्टॉक में बढ़ोतरी के बाद कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 11 जून  2021मुंबई। अमेरिकी ईंधन स्टॉक में बढ़ोतरी के बाद कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई। एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन एग्री कमोडिटी एंड करेंसी रिसर्च एवीपी श्री प्रथमेश माल्या ने बताया कि कल के कारोबारी सत्र में डब्ल्यूटीआई क्रूड 0.1 फीसदी की मामूली गिरावट के साथ 70 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ था। प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं से मांग में वृद्धि और अमेरिकी तेल सूची में गिरावट के बावजूद अमेरिकी गैसोलीन शेयरों में बढ़ोतरी ने कच्चे तेल की कीमतों को कम कर दिया। 

एनर्जी इंफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्ट के मुताबिक यूएस फ्यूल इन्वेंट्री में पिछले हफ्ते 7 मिलियन बैरल की बढ़ोतरी हुई, जबकि डिस्टिलेट स्टॉक में 4.4 मिलियन बैरल की बढ़ोतरी हुई। यूएस गैसोलीन इन्वेंट्री में तेजी ने मांग में सुधार को लेकर आशावाद को धूमिल कर दिया और कीमतों को नियंत्रण में रखा। तेल की कीमतों में गिरावट सीमित थी क्योंकि पिछले हफ्ते यूएस क्रूड इन्वेंट्री में 5.2 मिलियन बैरल की कमी आई थी, जो लगातार 11वीं साप्ताहिक गिरावट दर्ज कर रही थी और 3.3 मिलियन बैरल की गिरावट की विश्लेषक उम्मीद को पार कर गई थी। अमेरिकी विदेश मंत्री द्वारा तेहरान के खिलाफ प्रतिबंधों को उठाने की संभावनाएं न होने की ओर संकेत करने के बाद तेल का नुकसान सीमित रहा, जिससे वैश्विक बाजारों में ईरानी क्रूड की वापसी की संभावना कम हो गई।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता