नॉर्थकैप यूनिवर्सिटी भारत के 10 सर्वोच्च प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में शामिल

◆  क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रेटिंग्स में अध्यापन, ऑनलाइन सीखने और रोजगार योग्यता के लिए मिले शानदार स्कोर

◆  नॉर्थकैप यूनिवर्सिटी को क्यूएस स्टार्स का परफेक्ट 5 स्कोर

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 6 जुलाई 2021, गुरुग्राम। नॉर्थकैप यूनिवर्सिटी (एनसीयू) गुरुग्राम ने प्रतिष्ठित क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) स्टार रेटिंग्स में समग्र रूप से क्यूआर 4 स्टार्स के साथ सबसे प्रतिष्ठित भारतीय विश्वविद्यालयों के समूह में जगह बना ली है। भारत के दस से भी कम विश्वविद्यालयों को यह प्रतिष्ठा प्राप्त है। क्यूएस की 4-स्टार रेटिंग के साथ एनसीयू ने भारत के सबसे आकर्षक विश्वविद्यालयों में अपनी जगह पक्की कर ली है। क्यूएस स्टार्स रेटिंग सिस्टम अध्यापन में उत्कृष्टता, अत्याधुनिक सामग्री, उच्च स्तरीय शिक्षा विधि और सीखने के परिणामों के आधार पर की जाती है। क्यूएस शैक्षणिक संस्थानों को 1 से 5 स्टार के मानक पर और फिर 8 अलग-अलग मानकों पर मूल्यांकन के लिए विस्तृत, निष्पक्ष परीक्षण प्रक्रिया अपनाती है।

रेटिंग के तहत मूल्यांकन की रिपोर्ट के अनुसार एनसीयू ने अध्यापन, रोजगार योग्यता, शैक्षिक विकास, ऑनलाइन सीखने और सब के विकास के मानक पर स्टार्स का परफेक्ट 5 स्कोर हासिल किया है। यह रेटिंग एनसीयू के विभिन्न मानकों पर उत्कृष्टता का प्रमाण है जैसे उत्कृष्ट शिक्षा, समग्र शैक्षणिक उत्कृष्टता और विद्यार्थियों की सफलता। इसके साथ हाल में एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी और सिंटाना एडुकेशन से अनुबंध ने एनसीयू की प्रतिष्ठा बढ़ी है। एनसीयू इस प्रतिष्ठा से उत्साहित है क्योंकि क्यूएस स्टार रेटिंग सिस्टम पूरी दुनिया के विश्वविद्यालयों के लिए सबसे मान्य मूल्यांकन प्रणालियों में एक है। एनसीयू की यह उपलब्धि विश्व में शैक्षणिक उत्कृष्टता हासिल करने के प्रति समर्पण की मिसाल है।

विश्वविद्यालय को मिली इस प्रतिष्ठा पर नॉर्थकैप यूनिवर्सिटी के प्रो. चांसलर डॉ. मिलिंद पडलकर ने कहा, “हम इस उपलब्धि से खुश हैं। इससे हमारे शैक्षिक प्रयासों को बड़ी मान्यता मिली है और हमारा दृढ़ विश्वास है कि एनसीयू विद्यार्थियों के शैक्षिक और पेशाकुशलता का मूल्यवर्धन करने की सही दिशा में अग्रसर है। हम उच्च गुणवत्ता के साथ उच्च शिक्षा प्रदान करने की 25 वर्षों की हमारी विरासत के साथ  अपने भागीदारों फिर से विश्वास दिलाना चाहते हैं कि एनसीयू विद्यार्थियों को शिक्षा का सर्वोत्तम अनुभव प्रदान करता रहेगा और उनको सफलता के शिखर पर पहुंचाने का प्रयास जारी रखेगा। इसके अलावा क्यूएस रेटिंग ने एक बार फिर इसकी पुष्टि की है कि हम 2026 तक उत्तर भारत के सर्वश्रेष्ठ निजी विश्वविद्यालय (इनोवेशन पर केंद्रित) बनने की दिशा में के सही रास्ते पर हैं।

क्यूएस रेटिंग पर अपने विचार साझा करते हुए डॉ. अश्विन फर्नांडीस, क्षेत्रीय निदेशक, क्यूएस - एमईए और दक्षिण एशिया ने कहा, “हम पहले मूल्यांकन में ही इतनी अच्छी रेटिंग लेने पर एनसीयू को हार्दिक बधाई देते हैं और आशा है कि अपनी प्रगतिशील सोच के साथ एनसीयू उच्च स्तरीय शैक्षणिक मानक बनाए रखेगा। क्यूएस में हम उच्च शिक्षा संस्थानों के प्रदर्शन और विकास को मापते हैं। इसके लिए शिक्षा जगत की बारीक जानकारी और विश्लेषण सेवाओं का लाभ लेते हैं। हमारा मकसद इस आधार पर विद्यार्थियों को सोच-समझ कर करियर और विश्वविद्यालय चुनने का निर्णय लेने में मदद करना है। इससे विश्वविद्यालयों को अंतरराष्ट्रीय ब्रांड बनने में मदद मिलती है। एनसीयू की यह रेटिंग इसका प्रमाण है कि यह भारत के अग्रणी संस्थानों में अपनी योग्यता साबित कर चुका है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान