सरना ने कश्मीरी सिख लड़की की करायी घर वापसी

 

◆ सिख वर-वधू का पवित्र आनंद कारेज़ करवाया

◆ अल्पसंख्यकों के सुरक्षा के लिए बिल लागू करने की माँग

◆ श्रीनगर में प्रेसवार्ता कर सौहार्द कायम करने के लिए की अपील

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 1 जुलाई 2021, नई दिल्ली। कश्मीर में सिख लड़की के जबरन धर्म परिवर्तन के बाद विवाह की घटना ने विश्वभर के सिखो को झकझोर कर रख दिया था। जिसके खिलाफ पूरे सिख जगत से प्रतिक्रियाएँ आ रही थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए परमजीत सिंह सरना की अगुवायी में शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर का दौरा किया। शिअदद के सिख जथेबंदियो ने पीड़ित परिवार से मुलाकात करके हालात का जायजा लिया। प्रतिनिधिमंडल ने बीते सोमवार को जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से भी मुलाकात की थी।जहाँ सिख अपलसंख्यको के आरक्षण, सिखो के लिए रोजगार के साधन सहित सुरक्षा के लिए माँग पत्र सौंपा।

मामले में नया मोड़ तब आया, जब कश्मीरी सिख लड़की मनमीत कौर की शादी सुप्रीत सिंह से परमजीत सिंह सरना की उपस्थिति में, दोनो की आपसी सहमति के बाद, तय करते हुए आंनद कारीज किया गया। कार्यकम का आयोजन छठी पातशाही ,शादिमर्ग पुलवामा में समपन्न हुआ। पवित्र आंनद कारीज़ के बाद परमजीत सिंह सरना ने वर-वधू को आशीर्वाद देने के बाद कश्मीर के सिख संगत के लिए लंगर आयोजन भी किया। मामले को शांत करने के बाद सरदार सरना ने कश्मीर प्रेस क्लब में संवादाताओं को सम्बोधित किया।

मीडिया से बातचीत करते हुए ,शिअदद पार्टी प्रधान ने बताया कि , "कुछ लोग सिख मुस्लिम के नाम पर आपसी सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे है। हमें इसका ख्याल करना हैं ।कश्मीर में मुस्लिम भाई मेजॉरिटी में है और सिख अपलसंख्यक है। उनको सिखो का दर्द समझने की जरूरत है। घाटी की कईं मुस्लिम तंजीमो ने सरदार सरना से मुलाकात की और उनको यह अस्वाशन दिया कि आगे से ऐसी कोई भी हरकत करता है तो उसको बक्शा नही जाएगा। और कड़ी से कड़ी करवाई की जाएगी।

प्रेस वार्ता में पत्रकारों ने दिल्ली से आए कुछ दूसरे प्रतिनिधियों के व्यवहारो पर आपत्ति भी जतायी । उनके अनुसार कुछ लोग धर्म जैसे संगीन मामले पर राजनतिक रोटियां सेंक रहे है। इसके लिए शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के पूर्व प्रधान ने उनको नखेदी करते हुए अफ़सोस जताया। सरना ने सिखो की सुरक्षा के लिए बिल को संज्ञान में लेने की बात की। उन्होंने माननीय गवर्नर मनोज सिन्हा , लोकल अधिकारियों और जम्मू कश्मीर के जनता का धन्यवाद दिया। जिन्होंने उनका भरपूर सहयोग दिया। प्रतिनिधिमंडल में गुरमीत सिंह शंटी, रमनदीप सिंह सोनू, परमजीत सिंह खुराना, गुरप्रीत सिंह खन्ना, परमजीत सिंह पीतमपुरा, तनवीर सिंह सोढ़ी , कश्मीर के सोशल एक्टिविस्ट, गुरदीप सिंह ,संदीप सिंह ,विक्रम सिंह, हरजोत शाह सिंह मौजूद थे।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता