वैश्विक उत्पादन में बढ़ोतरी की संभावना से कच्चे तेल के कीमतों में तेजी

 

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 3 जुलाई 2021मुंबई। ओपेक के आशावादी दृष्टिकोण पर उत्पादन बढ़ाने की योजना ने कच्चे तेल की कीमतों को समर्थन दिया जबकि चीन के औद्योगिक खंड में कमजोरी ने आधार धातुओं को कमजोर कर दिया। एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन एग्री कमोडिटी एंड करेंसी रिसर्च एवीपी श्री प्रथमेश माल्या ने बताया कि गुरुवार को डब्ल्यूटीआई क्रूड 2.4 प्रतिशत बढ़कर 75.2 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, क्योंकि यूएस क्रूड इन्वेंट्री में कमी, मांग में मजबूती की संभावना, और रॉयटर्स की रिपोर्ट कि ओपेक+ आने वाले महीनों में उत्पादन बढ़ा सकते हैं, जिसने कीमतों को समर्थन दिया।

बैठक में, पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) और सहयोगियों ने अगस्त'21 और दिसंबर'21 के बीच बाजार में लगभग 2 मिलियन बैरल प्रति दिन (बीपीडी) तेल उत्पादन बढ़ाने की दिशा में आगे बढ़ने का फैसला किया। यह कदम कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण दरों में बढ़ोतरी और इससे यात्रा प्रतिबंधों में ढील के बाद वर्ष की दूसरी छमाही में ईंधन की मांग में वृद्धि की उम्मीदों पर आया है। हालांकि, प्रमुख तेल खपत वाले देशों में अत्यधिक संक्रामक डेल्टा वैरिएंट के संक्रमित मामलों में वृद्धि पर चिंताओं ने बाजारों को सतर्क रखा। एनर्जी इंफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस क्रूड इन्वेंटरी पिछले हफ्ते 6.7 मिलियन बैरल गिर गया, जो कि 4.2 मिलियन बैरल ड्रॉप की बाजार की उम्मीद को पार कर गया और लगातार छठी साप्ताहिक गिरावट दर्ज की गई।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता