हड़ताल के अधिकार पर हमले के खिलाफ प्रदर्शन कर ट्रेड यूनियनों ने दिया ज्ञापन

शब्दवाणी समाचार, रविवार 25 जुलाई 2021, गौतम बुध नगर। मोदी सरकार द्वारा आयुष निर्माण बोर्ड/ आयुष कारखानों का निगमीकरण व निजीकरण करने के उद्देश्य से लाए गए आवश्यक प्रतिरक्षा अध्यादेश (ईडीएसओ) 2021 और हड़ताल के अधिकार पर हमले के विरोध में 23 जुलाई 2021 को केंद्रीय ट्रेड यूनियनों/ श्रमिक संगठनों के देशव्यापी संयुक्त विरोध प्रदर्शन के आह्वान के तहत नोएडा संयुक्त ट्रेड यूनियन मोर्चा के बैनर तले इंटक, एचएमएस, सीटू, यूटीयूसी, यूपीएलएफ, टीयूसीआई, आदि ट्रेड यूनियनों के कार्यकर्ताओं ने उप श्रम आयुक्त कार्यालय सेक्टर- 3, नोएडा पर मजदूर बचाओ- देश बचाओ, हड़ताल का अधिकार है हमारा मौलिक अधिकार, निगमीकरण व  निजीकरण नहीं चलेगा जोरदार नारों के साथ प्रदर्शन कर उप श्रम आयुक्त श्रीमती वंदना सिंह को माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार एवं माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन में मांग की गई है कि हड़ताल पर प्रतिबंध लगाने के लिए 30 जून को लागू किया गया प्रतिरक्षा सेवा अध्यादेश 2021 को वापस लिया जाए और वित्तीय क्षेत्र सहित सार्वजनिक क्षेत्र के निजीकरण रोकने के साथ-साथ रेलवे, आयुष कारखानों, बंदरगाह जैसे सरकारी विनिर्माण और सेवा संस्थानों का निगमीकरण व निजीकरण करना बंद किया जाए। 

प्रदर्शन कर ज्ञापन देने का नेतृत्व श्रमिक नेता डॉक्टर के पी ओझा, राम नरेश यादव, गंगेश्वर दत्त शर्मा, उदयचंद झा, आरपी सिंह चौहान, रामसागर, सुधीर त्यागी, रितेश झा, राम स्वारथ, भरत डेंजर, विनोद कुमार आदि ने किया तथा अपने वक्तव्य में उन्होंने सार्वजनिक क्षेत्र के निगमीकरण व निजीकरण करने की प्रक्रिया पर कड़ा रोष व्यक्त किया और उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार ने देश विरोधी व कर्मचारी विरोधी निर्णयों व अध्यादेशों को वापस नहीं लेगी तो जन अभियान चलाकर 09 अगस्त 2021 को गौतम बुध नगर के साथ-साथ पूरे देश में बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

मीडिया प्रेस क्लब का वार्षिक कलैंडर हुआ विमोचन