इंडियन बैंक पीसीआई के साथ पैरालंपिक खेलों टोक्यो 2020 के बैंकिंग भागीदारों में जुड़ा

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 12 अगस्त 2021चेन्नई। इंडियन बैंक ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं और 24 अगस्त 2021 से शुरू होने वाले पैरालंपिक खेलों, टोक्यो 2020 से पहले बैंकिंग भागीदारों में से एक के रूप में भारत की पैरालंपिक समिति (पीसीआई) के साथ भागीदारी की है। बैंक पीसीआई के साथ अपने साल भर के सहयोग के माध्यम से, एक वर्ष के लिए घरेलू क्षेत्र के साथ-साथ वैश्विक प्लेटफार्मों में प्रतिष्ठित खेल आयोजनों के लिए पैरालंपिक एथलीटों को तैयार करने के प्रयास में वित्तीय सहायता प्रदान करेगा।

डॉ. दीपा मलिक, अध्यक्ष, पीसीआई और श्री रवींद्र सिंह, फील्ड महाप्रबंधक (दिल्ली), इंडियन बैंक ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करते समय जोर दिया कि बैंक द्वारा पेश किए गए संसाधनों को भारतीय पैरा एथलीटों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए चैनलाइज़ किया जाएगा। प्रशिक्षण, पोषण, उपकरण, प्रमाणपत्र आदि। इन खिलाड़ियों को समय पर प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता उन्हें खेल पर अपने प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करने और देश के लिए सम्मान जीतने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

इस अवसर पर, इंडियन बैंक के एमडी और सीईओ, सुश्री पद्मजा चुंडुरू ने कहा, “हमें पैरालंपिक पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने और हमारे देश में अलग-अलग एथलीटों के लिए संसाधन उपलब्ध कराने की दिशा में काम करने के लिए पीसीआई के साथ साझेदारी करके खुशी हो रही है। भले ही पैरालंपिक आंदोलन भारत में एक प्रारंभिक चरण में है, कई युवा और प्रतिभाशाली एथलीट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हमारा विश्वास है कि यह पहल कई एथलीटों को संसाधनों की कमी का अनुभव किए बिना खेल को करियर के रूप में अपनाने के लिए सशक्त बनाएगी। इंडियन बैंक में, हमने हमेशा एक समावेशी वातावरण बनाए रखने का प्रयास किया है और उन कर्मचारियों का समर्थन किया है जिन्होंने खेल के लिए एक स्वभाव का प्रदर्शन किया है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान