पिकर ने के 85 करोड़ रुपए की फंडिंग जुटाई

◆ कंपनी का फोकस एडवांस प्रोडक्ट डेवलपमेंट, वेयरहाउसिंग सॉल्युशन को विस्तार देने और प्रतिभाओं को अपने साथ जोड़ने पर 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 26 अगस्त 2021, नई दिल्ली। छोटे और मध्यम व्यवसायों (एसएमबी) को फुल लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउसिंग सॉल्युशन प्रदान करने वाले सास-बेस्ड लॉजिस्टिक्स-टेक स्टार्ट-अप पिकर ने आईआईएफएल, एमिकस कैपिटल और अनंत कैपिटल के नेतृत्व में सीरीज बी राउंड में 12 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। मौजूदा निवेशकों ओमिडयार नेटवर्क इंडिया और गिल्ड कैपिटल ने भी डेक्सटर कैपिटल द्वारा प्रबंधित इस राउंड में भागीदारी की।  पिकर ने 2021 में डेली ऑर्डर में 3 गुना उछाल देखा है और इसके प्लेटफॉर्म पर ऑर्डर वॉल्यूम लगातार बढ़ रहा है। यह अपने प्लेटफॉर्म पर 50,000+ विक्रेताओं को बिना किसी दिक्कत के एंड-टू-एंड लॉजिस्टिक्स और डेटा-ड्रिवन इनसाइट्स प्रदान करने के लिए एआई और एमएल की पॉवर का उपयोग करता है। कंपनी वर्तमान में भारत में 29,000+ पिन कोड्स और दुनिया भर में 220 डेस्टिनेशन से शिपिंग करती है। अमेजन, शॉपीफाई और वूकॉमर्स जैसे 25 से अधिक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के साथ इसका वन-क्लिक ईजी इंटिग्रेशन है जो पिकर को एसएमबी के लिए पसंदीदा ई-कॉमर्स फुलफिलमेंट प्लेटफॉर्म बनाता है। कंपनी फंडिंग की मदद से प्रोडक्ट डेवलपमेंट को बढ़ावा देने और देशभर में फुलफिलमेंट सेंटर्स के अपने नेटवर्क का विस्तार करना जारी रखेगी। पिकर के सॉल्युशन रिटेलर्स, मार्केटप्लेस विक्रेताओं और डी2सी ब्रांड्स सहित एसएमबी को उनके डिलीवरी परफॉर्मंस और इन्वेंट्री मैनेजमेंट में सुधार करने में मदद कर सकेंगे।

फंडिंग के इस राउंड पर पिकर के को-फाउंडर और सीईओ रितिमान मजूमदाार ने कहा, “पिकर का दृष्टिकोण लॉजिस्टिक्स में आने वाली परेशानियों को दूर करते हुए इसे तेज बनाना है। इस नई पूंजी ने सरल सॉल्युशन देने के हमारे रास्ते को और मजबूती दी है। लॉजिस्टिक्स ऑटोमेशन को चलाने में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए हमारा टारगेट प्रत्येक ई-कॉमर्स सेलर के डिलीवरी समय को 5-6 दिनों से घटाकर औसतन 1-2 दिन तक लाना है। हमारी एंड-टू-एंड लॉजिस्टिक्स सर्विसेस अब तक केवल एक क्लिक के साथ छोटे व्यवसाय से लेकर डी2सी ब्रांड तक कोई भी अपने ई-कॉमर्स ऑपरेशस को बिना दिक्कत के स्थापित कर सकता है। जैसे-जैसे अधिक से अधिक एसएमबी ऑनलाइन होंगे, हमारी तरह एंड-टू-एंड लॉजिस्टिक्स सर्विसेस की आवश्यकता तेजी से बढ़ेगी, जिससे हमें अपने ग्राहकों के साथ काम करने का एक शानदार अवसर मिलेगा। 

एमिकस कैपिटल के डायरेक्टर अजित नायर ने कहा डिलीवरी डिलाइट आज डी2सी ब्रांड्स और ऑनलाइन रिटेलर्स के बीच का महत्वपूर्ण अंतर बन गई है। पिकर ने टेक्नोलॉजी और एक्जीक्यूशन पर अपने फोकस के साथ विभिन्न आकारों के कई उपभोक्ता ब्रांड्स को अपने लॉजिस्टिक ऑपरेशंस को ऑप्टिमाइज करने के लिए बड़े बाजार तक तेजी से और किफायती तरीके से पहुंचने में सक्षम बनाया है। हम इसके संस्थापकों रितिमान, गौरव और अंकित के साथ और उनके द्वारा बनाई मजबूत टीम से हाथ मिलाने को लेकर मैं उत्साहित हैं। वे अपने नेटवर्क का विस्तार कर रहे हैं और अपने ग्राहकों की लॉजिस्टिक जरूरतों को हल करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं।

आईआईएफएल प्राइवेट इक्विटी के प्रमुख अमित मेहता ने कहा जैसे ही छोटे बिजनेस ऑनलाइन आएंगे, हम मानते हैं कि पिकर जैसे बिजनेस के पास अगले कई दशकों के लिए अच्छा कारोबार होगा। यह चेकआउट के बाद के अनुभव को सहज बनाता है। संस्थापकों का फोकस एक्जीक्यूशन और टेक्नोलॉजी ने बिना किसी दिक्कत के एक्जीक्यूशन और टेक्नोलॉजी पर फोकस किया है। इसने ही पिकर को खुद को अलग स्थापित करने में सक्षम बनाया है। हम उनके साथ पार्टनरशिप से बेहद उत्साहित हैं क्योंकि वे ऑनलाइन आने वाले छोटे व्यवसायों के लिए शानदार ग्राहक अनुभव बना रहे हैं।

ओमिडयार नेटवर्क इंडिया के पार्टनर बद्री पिल्लपक्कम ने कहा, “लॉजिस्टिक्स भारतीय ई-कॉमर्स की रीढ़ है और नेक्स्ट हाफ बिलियन (अगले 50 करोड़) का बड़ा नियोक्ता भी है। पिकर ने छोटे से छोटे एसएमई को डिलीवरी और वेयरहाउसिंग सॉल्युशन के साथ एक एसेट-लाइट और लाभदायक तरीके से सेवा देने का मॉडल पूरा किया है। यह फंडिंग इसके विकास की ही पुष्टि करता है। इसका उपयोग पिकर के ग्राहकों को नई पेशकश प्रदान करने के लिए किया जाएगा, जिससे वे बड़ी ई-कॉमर्स से प्रतिस्पर्धा कर सकेंगे। हम संस्थापकों के मिशन-अलाइन्ड समूह का समर्थन करना जारी रखने को लेकर रोमांचित हैं जो लॉजिस्टिक्स परिदृश्य को बदल रहे हैं। पिकर के प्लेटफॉर्म पर कुछ ग्राहकों में इमामी, ओज़िवा, हेल्थकार्ट और बेलाविटा ऑर्गेनिक्स शामिल हैं। कंपनी ने हाल ही में पिकर प्लस के लॉन्च के साथ वेयरहाउसिंग सेगमेंट में अपनी पैठ मजबूत की है। पिकर प्लस- इंटेलिजेंट वेयरहाउसिंग / फुलफिलमेंट सॉल्यूशन जो सेलर्स को प्रत्यक्ष वेयरहाउसिंग स्पेस या महंगे डब्ल्यूएमएस सॉल्यूशंस में निवेश किए बिना उनकी इन्वेंट्री को मैनेज करने में मदद करता है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया