एसबीआई म्यूचुअल फंड लॉन्च करेगा एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड

 

◆ नया फंड ऑफर 12 अगस्त को खुलेगा और 25 अगस्त 2021 को होगा बंद

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 12 अगस्त 2021, नई दिल्ली। एसबीआई म्यूचुअल फंड ने आज एक खुले विकल्पों वाले गतिशील परिसंपत्ति आवंटन फंड, एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड लॉन्च करने की घोषणा की। इस फंड का लक्ष्य है संभावित उछाल का आकलन और उतार-चढ़ाव के बीच इक्विटी बाज़ार में गिरावट के असर सीमित कर दीर्घकालिक पूंजी में बढ़ोतरी करना। एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड क्रिसिल हाइब्रिड 50+50 - मॉडरेट इंडेक्स टीआरआई को ट्रैक करेगा। नया फंड ऑफर 12 अगस्त 2021 को खुलेगा और 25 अगस्त 2021 को बंद होगा। एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड दीर्घकालिक धन सृजन और सुनिश्चित आय तय करने के लिए हर तरह की इक्विटी पर नज़र रखेगा ताकि पोर्टफोलियो को स्थिरता प्रदान की जा सके। मूल्यांकन, आय के उत्प्रेरक, रुझान संकेतक और बेंचमार्क के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन के अवसर जैसे विभिन्न मापदंडों के आधार पर, एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड के फंड मैनेजर के पास 0-100 प्रतिशत के दायरे में विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों में कारोबार करने की पूरी सुविधा होगी।

एसबीआई म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ, श्री विनय एम. टोंसे ने कहा: “हमें ख़ुशी है कि हमने बेहद उपयुक्त समय पर एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड लॉन्च किया है, जबकि इक्विटी बाजार मुख्य रूप से पर्याप्त वैश्विक तरलता से प्रेरित हो रहे हैं। हमारा नया फंड ऑफर मजबूत आर्थिक और बाजार संकेतकों के आधार पर इक्विटी और डेट में अधिकतम परिसंपत्ति आवंटन का मूल्यांकन करने के लिए तीन-स्तरीय निवेश रणनीति का पालन करेगा। उन्होंने कहा “एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड निवेशकों को उनकी परिसंपत्ति आवंटन की जरूरतों को पूरा करने में मदद करेगा और मुझे विश्वास है कि यह फंड उन निवेशकों के लिए एक बेहद उपयुक्त निवेश विकल्प होगा जो  ख़ास तौर से जोखिम से बचना चाहते हैं, लेकिन दीर्घकालिक संपत्ति सृजन करना चाहते हैं और अपने निवेश को बाजार के उतार-चढ़ाव से अपने निवेश को बचाना चाहते हैं।

कंपनी के मुख्य व्यवसाय अधिकारी श्री डी पी सिंह ने कहा: "बैलेंस्ड एडवांटेज फंड उन के लिए आदर्श निवेश विकल्प हैं जो अपना लाभ बढ़ाना और नकारात्मक पक्ष को सीमित करना चाहते हैं। एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड इक्विटी और डेट के बीच गतिशील रूप से आगे बढ़ेगा और हमारी मजबूत तीन-स्तरीय निवेश प्रक्रिया का पालन करेगा। फंड बेहतर जोखिम-समायोजित मुनाफा हासिल करने पर ध्यान केंद्रित करेगा और अपने नाम के अनुरूप यह अधिकतमतम परिसंपत्ति आवंटन के स्तर पर पहुंचने के लिए मौजूद लचीलेपन का लाभ उठाएगा। इस नए फंड की पेशकश के साथ, हमारे निवेशकों के लिए हमारे उत्पाद पोर्टफोलियो का विस्तार जारी है ताकि उन्हें अपने वित्तीय लक्ष्यों को कुशलतापूर्वक हासिल करने में मदद मिल सके।

श्री सिंह ने कहा, ''एसबीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड में सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान (एसडब्ल्यूपी) की भी सुविधा है। इससे  उन निवेशकों को सुविधा होगी जिन्हें नियमित नकदी प्रवाह की ज़रुरत है। इसकी एसडब्ल्यूपी (ए) सुविधा के तहत, निवेशकों के पास नियमित नकदी प्रवाह जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने निवेश का एक निश्चित हिस्सा या तय  राशि (न्यूनतम राशि 500 ​​रुपये से अधिक) निकालने का विकल्प होगा।

यह योजना इक्विटी और इक्विटी से संबंधित उपकरणों में 0 प्रतिशत से लेकर अधिकतम 100 प्रतिशत के बीच निवेश करेगी। यह ऋण प्रतिभूतियों (प्रतिभूतिकृत ऋण सहित) और मुद्रा बाजार के साधनों (त्रिपक्षीय रेपो, रिवर्स रेपो और इसके सहित) में न्यूनतम 0 प्रतिशत तथा अधिकतम 100 प्रतिशत निवेश और आरईआईटी तथा इन्विट्स (समय-समय पर निर्धारित सेबी की तय सीमा के अनुरूप) के ज़रिये जारी इकाइयों में 0 प्रतिशत से 10 प्रतिशत तक निवेश करेगी। । यह योजना ऋण पोर्टफोलियो के प्रतिभूतिकृत ऋण में 50 प्रतिशत तक निवेश कर सकती है। इक्विटी डेरिवेटिव में (सेबी के दिशानिर्देशों के अनुरूप कवर्ड कॉल ऑप्शन लिखने सहित) कुल परिसंपत्ति के 50 प्रतिशत तक निवेश हो सकता है। इस योजना के तहत ऋण डेरिवेटिव में योजना की कुल परिसंपत्ति के 20 प्रतिशत के बराबर निवेश किया जा सकता है। इक्विटी,  डेट,  डेरिवेटिव पोजीशन (फिक्स्ड इनकम डेरिवेटिव सहित), कॉरपोरेट डेट सिक्योरिटीज में रेपो ट्रांजैक्शन, रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (आरईआईटी), इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट्स) अन्य मंजूरी प्राप्त प्रतिभूतियों / परिसंपत्तियों और ऐसी अन्य प्रतिभूतियों / परिसंपत्तियों में कुल निवेश सेबी के द्वारा समय-समय पर निर्देश के मुताबिक़ हो सकता है और यह  योजना की कुल परिसंपत्ति के 100 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए। योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया योजना का सूचना दस्तावेज देखें।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान