किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ ट्रेड यूनियनों ने डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 10 अगस्त 2021गौतम बुध नगर। भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ 9 अगस्त 2021 को ट्रेड यूनियनों ने संयुक्त रूप से देश बचाओ दिवस के रूप में मनाते हुए देशव्यापी विरोध कार्यवाहियां आयोजित करने के आह्वान के तहत संयुक्त ट्रेड यूनियन मोर्चा गौतम बुध नगर के बैनर तले अनमोल बिस्कुट कम्पनी उद्योग विहार ग्रेटर नोएडा पर इकट्ठा होकर जुलूस निकालने के बाद जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर सरकार की मजदूर- किसान व आम जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर मजदूर विरोधी लेबर कोड व किसान विरोधी कृषि कानूनों को रद्द कराने, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, छंटनी, तालाबंदी, वेतन कटौती पर रोक लगाने, चरमराती स्वास्थ्य- शिक्षा व्यवस्था में सुधार और रेहड़ी पटरी

फुटपाथ के दुकानदारों के ऊपर हो रहे उत्पीड़न पर रोक लगाकर पथ विक्रेता अधिनियम 2014 का सही तरीके से पालन करवाने, घरेलू कामगार, आंगनवाड़ी, आशा व अन्य स्कीम वर्कर्स को कर्मचारियों का दर्जा देने, सरकारी व सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों का निगमीकरण व निजी करण बंद करने, गैर आयकर दाता सभी परिवारों को ₹7500 प्रति माह और प्रति व्यक्ति 10 किलो अनाज व रसोई का पूरा सामान देने, बाबा बालक नाथ मंदिर सेक्टर- 62, नोएडा पर वर्षों वर्षों से बसी झुग्गी बस्तियों को बिना वैकल्पिक जगह दिए बिना ना उजाड़ आ जाए, भवन निर्माण मजदूरों की स्वास्थ्य योजना को बहाल करवाते हुए सभी योजनाओं का लाभ मजदूरों को दिलाना सुनिश्चित किया जाए, हड़ताल पर जारी अध्यादेश को वापस लिया जाए, श्रम कार्यालय व श्रम न्यायालय में स्टाफ की कमी को पूरा कर मजदूरों की लंबित मांगों/ समस्याओं का शीघ्र समाधान करवाने एवं न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी सहित कई मांगो/ समस्याओं का ज्ञापन जिलाधिकारी गौतम बुध नगर द्वारा माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार व माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को दिया। 

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए इंटक नेता डॉक्टर के पी ओझा, एचएमएस नेता आरपी सिंह चौहान, सीटू नेता रामसागर, गंगेश्वर दत्त शर्मा, विनोद कुमार, यूटीयूसी नेता सुधीर त्यागी, यूपीएलएफ नेता राम नरेश यादव, टीयूसीआई नेता उदयचन्द झा, किसान नेता सुनील फौजी, अखिल भारतीय किसान सभा के नेता डॉक्टर रुपेश वर्मा, अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, चंदा बेगम, घरेलू कामगार महिला संगठन की नेता लता सिंह, रेखा चौहान, गुड़िया, सुधा, अनमोल बिस्कुट कम्पनी यूनियन नेता मुकेश राघव, सुखलाल, पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन कि नेता पूनम देवी, भरत डेंजर, रामस्वारथ, नरेंद्र पांडे, मंजू देवी, राम भोली, अरविंद सिंह, मिथिलेश, भवन निर्माण मजदूर यूनियन की नेता इशरत जहां, राजकरण सिंह, राजकुमार, धर्मपाल चौहान आदि ने सरकार की जनविरोधी नीतियों की कड़ी निंदा किया और कहा कि मजदूर किसान बचेगा तभी देश बचेगा साथ ही वक्ताओं ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उनकी मांगों/ समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो मजदूर किसान एकजुट होकर और भी बड़ा आंदोलन करने को विवश होंगे। जिसकी संपूर्ण जवाबदेही केंद्र और प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन की होगी।

 धरना स्थल पर एसडीएम अंकित कुमार जी ने ज्ञापन लिया और प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि उनकी मांगों को प्रदेश व केंद्र सरकार तक अपनी संस्कृति के साथ प्रस्तुत कर दिया जाएगा और जिला स्तर की समस्याओं को अपने स्तर से समाधान कराने का प्रयास किया जाएगा।  जिलाधिकारी कार्यालय पर हुए प्रदर्शन में मजदूरों- किसानों के साथ-साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रही।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया