एशियन ग्रैनिटो इंडिया लिमिटेड को वित्त वर्ष 2021-22 में निर्यात में 100% वृद्धि की उम्मीद

• कंपनी ने हाल ही में रू. 224.65 करोड के राईट्स इश्यू की घोषणा की है, राईट्स इश्यू 23 सितम्बर को खुलेगा और 07 अक्टूबर को बंद होगा

• वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनीने रु. 216 करोड की कन्सोलिडेटेड निर्यात बिक्री दर्ज की जो कि पिछले साल की रु. 169 करोड से 28 फीसदी ज्यादा थी

• अमेरिका में चीन की टाईल्स पर 350 फीसदी से ज्यादा एन्टि-डम्पिंग डयूटी है जिसकी तुलना में भारतीय टाईल्स पर कोई ड्यूटी नहीं है

• कंपनी ने आंतरराष्ट्रीय व्यापार को मजबूत बनाने के लिए 18,000 स्क्वेर फिट विस्तार में मोरबी में एजीएल एक्सपोर्ट हाउस बनाया है

• कंपनी उसके रिटेल टच पोइंन्ट्स बढाकर 10,000 से ज्यादा अने एक्सक्लुझिव शोरूम्स 500 से ज्यादा करने का लक्ष्यांक रखती है

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 20 सितम्बर  2021, नई दिल्ली। भारत के अग्रणी टाइल्स ब्रांड में से एक के निर्माता एशियन ग्रैनिटो इंडिया लिमिटेड (एजीआईएल)ने वर्तमान वित्त वर्ष में निर्यात कारोबार से तेजी से वृद्धि पर नजर गड़ाए हुए है। चीन विरोधी भावना, अमेरिका में निर्यात पर कम शुल्क, अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन और मध्य पूर्व से मजबूत निर्यात ओर्डर्स वर्तमान वित्त वर्ष में निर्यात कारोबार को बढा रहे हैं और आने वाले महीनों में इसे और गति मिलने की उम्मीद है।वर्तमान वित्त वर्ष 2021-22 में कंपनी को लगभग रु. 350-400 करोड का निर्यात कारोबार होने की उम्मीद है। वर्तमान में 100 देशो में अपने व्यापार नेटवर्क को विस्तार कर 120 देशो में करने का लश्र्य है। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए कंपनी ने रु. 216 करोड की समेकित निर्यात बिक्री दर्ज की है।

एशियन ग्रैनिटो भारत के संगठित कंपनीओ में सबसे बड़े टाइल निर्यातकों में से एक है। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का समेकित निर्यात बढ़कर कुल राजस्व का लगभग 17% हो गया, जो वित्त वर्ष 2020 में 14% था। कोविड, माल ढुलाई लागत में वृद्धि और कंटेनर उपलब्धता चुनौतियों के बावजूद जून 2021 को समाप्त तिमाही के लिए कंपनी ने रु. 53.19 करोड के समेकित निर्यात की सूचना दी। एशियन ग्रैनिटो इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, श्री कमलेश पटेल ने कहा, "कोविड की चुनौतियों के बावजूद, अंतरराष्ट्रीय बाजारों से मांग बहुत मजबूत बनी हुई है और भारतीय सिरेमिक उद्योग में नई उर्जा का संचार हुआ है। पिछले तीन महीनों के दौरान निर्यात में काफी उछाल देखा गया है और अमेरिका और चीन के बीच चल रहे विवाद के कारण लगातार बढ़ रही हैं। अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन और मध्य पूर्व के बाजारों से मजबूत निर्यात ओर्डर्स के कारण उद्योग के सभी बड़े खिलाड़ी वर्तमान में 80-85% की क्षमता पर काम कर रहे हैं। एशियन ग्रेनिटो के सभी संयंत्र वर्तमान में 95% से अधिक क्षमता उपयोग पर काम कर रहे हैं।

वैश्विक सिरेमिक टाइल उत्पादन के 12.90% उत्पादन के साथे विश्व स्तर पर भारत दूसरे स्थान पर है। चीनी टाइलों पर बढ़े शुल्क ने भारतीय टाइल उत्पादों को विश्व बाजारों में और अधिक स्पर्धात्मक बना दिया है। विश्व स्तर पर हाल के घटनाक्रमों के साथ, वैश्विक व्यापार में भारत की हिस्सेदारी में काफी सुधार होने की संभावना है। अमेरिका ने चीनी सिरेमिक टाइल उत्पादों पर 356% तक का एंटी-डंपिंग शुल्क और 358.8% तक की सब्सिडी-विरोधी शुल्क लगाया है। कुछ बकाया उधारों को चुकाने / पूर्व भुगतान करने के लिए, कंपनी की व्यावसायिक गतिविधियों और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कंपनी ने हाल ही में रु. 224.65 करोड के राइट्स इश्यू की घोषणा की है। राईट्स इश्यू रु. 100 प्रति शेयर की कीमत पर पेश किया गया है जो कि 3 सितम्बर, 2021 को मौजुदा प्रति शेयर रु. 166 के मूल्य पर 40 फीसदी डिस्काउन्ट पर है। राइट्स इश्यू 7 अक्टूबर, 2021 को बंद होगा।

कंपनी 100 रुपये प्रति इक्विटी शेयर (90 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के प्रीमियम सहित) की कीमत पर नकद के लिए 10 रुपये के अंकित मूल्य के 2,24,64,188 पूरी तरह से भुगतान किए गए इक्विटी शेयर जारी करेगी, जो कुल मिलाकर 224.65 करोड़ रुपये है। 19:29 के अनुपात में पात्र इक्विटी शेयरधारकों को राइट्स बेसिस पर यह शेयर दिए जाएंगे (रिकॉर्ड तिथि के अनुसार, कंपनी के पात्र इक्विटी शेयरधारकों द्वारा धारित पूर्ण रूप से प्रदत्त इक्विटी शेयर प्रत्येक 29 इक्विटी शेयरों के लिए 19 इक्विटी शेयर)। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय व्यापार को मजबूत करने और निर्यात को बढ़ावा देने के लिए, कंपनी ने सिरेमिक टाइल्स और सैनिटरीवेयर के लिए भारत के केंद्र मोरबी में 18,000 वर्ग फुट का 'एजीएल एक्सपोर्ट हाउस' लॉन्च किया है। यह एक्सपोर्ट हाउस दुनिया भर के व्यापार भागीदारों के लिए एक ही स्थान पर सभी आकारों, डिजाइनों और फिनिश में 3,000 से अधिक उत्पादों सहित टाइल्स, सेनेटरीवेयर और बाथवेयर रेंज की पूरी श्रृंखला का अनावरण करता है और इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अपनी उपस्थिति को मजबूत करना है।

वित्त वर्ष 2021 के लिए, कंपनी ने समेकित आधार पर 57.23 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया जो  साल-दर-साल 36% की वृद्धि दर्शाता है। वित्त वर्ष 2021 के लिए साल-दर-साल 6% की वृद्धि के साथ 1,292 करोड़ रुपये की शुद्ध बिक्री दर्ज की गई थी और साल-दर-साल 16% की वृद्धि के साथ 135.95 करोड़ रुपये की एबिटा दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2021 में एबिटा मार्जिन 91 आधार अंक बढ़कर 10.5% हो गया, जबकि शुद्ध लाभ मार्जिन 100 आधार अंक बढ़कर 4.4% हो गया। एशियन ग्रैनिटो इंडिया लिमिटेड सिरेमिक फ्लोर, डिजिटल वॉल, विट्रीफाइड, पार्किंग, पोर्सिलेन, ग्लेज्ड विट्रिफाइड, आउटडोर, नेचुरल मार्बल, कंपोजिट मार्बल और क्वार्ट्ज आदि सहित उत्पादों की व्यापक रेंज की पेशकश करता है। इसके अलावा तालमेल का लाभ उठाने के लिए, कंपनी ने सैनिटरी वेयर में प्रवेश किया है और हाल ही में, कंपनी ने ब्रांड एजीएल के तहत 'पूर्ण बाथरूम समाधान' प्रदान करने के लिए सीपी फिटिंग्स और फॉसेट डिवीजन लॉन्च किया था। कंपनी को आने वाली तिमाहियों में अधिक बिक्री की उम्मीद है क्योंकि बी एंड सी श्रेणी के शहरों में इसका दबदबा है और बाजार में ध्यान केंद्रित है। कंपनी ने अपने रिटेल टच पॉइंट्स को 10,000 से अधिक तक बढ़ाने का और 500 से अधिक एक्सक्लूसिव शोरूम का विस्तार का लक्ष्य रखा है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान