जीएसके कंज़्यूमर हैल्थकेयर ने अपने पहले कार्बन न्यूट्रल टूथब्रश किया लॉन्च

            ◆ जीएसके कंज़्यूमर हैल्थकेयर ओरल केयर उद्योग में अग्रणी

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 9 सितम्बर  2021, नई दिल्ली। विश्व के अग्रणी कंज़्यूमर हैल्थकेयर व्यवसाय, जीएसके कंज़्यूमर हैल्थकेयर (जीएसकेसीएच), जिसके ब्रांड्स में सेंसोडाईन, पैरोडोंटैक्स, वोल्टारेन एवं एडविल हैं, अब अपने पहले कार्बन न्यूट्रल टूथब्रश के साथ ओरल केयर उद्योग में सततता के मानक बढ़ा रहा है। जीएसकेसीएच अगले साल एक पृथक कंपनी बनने वाली है, जिसने उत्तम श्रेणी के ओरल केयर उत्पादों के लिए रिन्यूएबल कच्चा माल के इस्तेमाल के अभिनव तरीके तलाशे हैं, जिससे शुद्ध प्लास्टिक के लिए जीवाश्म ईंधन के उपयोग में कमी आएगी। कंपनी इसका नेतृत्व अपने डॉ. बेस्ट ग्रीनक्लीन टूथब्रश के साथ कर रही है, जिसमें सतत ब्रिसल्स एवं पैकेजिंग के लिए पिछली अभिनवताओं की जगह नई सतत हैंडल टेक्नॉलॉजी का निर्माण किया गया है।

=

डॉ. बेस्ट ग्रीनक्लीन टूथब्रश का हैंडल रिन्यूएबल सेलुलोज़ एवं ‘टाल तेल’ से बना है, जो लकड़ी से बना बायोप्लास्टिक है और स्थायी जंगलों में पाईन, स्प्रूस एवं बिर्च के पेड़ों से प्राप्त किया गया है। इसे ओरल केयर में पहली बार जीएसकेसीएच द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है। यह कागज के उत्पादन की प्रक्रिया में उत्पन्न होने वाला पदार्थ है, जिसको आम तौर से फेंक दिया जाता है। ब्रिसल्स 100 प्रतिशत रिन्यूएबल कैस्टर तेल के बने हैं (इनका इस्तेमाल पहले से ही जीएसकेसीएच के एक्वाफ्रेश एवं डॉ. बेस्ट बैंबू ब्रश में होता है)। उत्पाद की 100 प्रतिशत प्लास्टिक फ्री पैकेजिंग में जीएसकेसीएच की अभिनव सैलुलोज़ विंडो है, जो रिन्यूएबल सैलुलोज़ से बनी है। इस पैकेजिंग को मुनिसिपल की विभिन्न रिसाइक्लिंग योजनाओं द्वारा पूरी तरह से डिस्पोज़ किया जा सकता है।

स्टैंडर्ड डॉ. बेस्ट टूथब्रश की तुलना में कार्बन इंपैक्ट में 50 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाने के लिए जीएसकेसीएच ने कॉर्पोरेट क्लाईमेट एक्शन के लिए यूरोप के अग्रणी समाधान प्रदाता, क्लाईमेटपार्टनर के साथ गठबंधन किया है। शेष फुटप्रिंट को मेडागास्कर में समुदाय आधारित क्लाईमेट पार्टनर प्रोजेक्ट द्वारा ऑफसेट किया जाता है। ऑफसेटिंग कार्बन इंपैक्ट कम करने का द्वितीयक उपाय है, जीएसकेसीएच के वैज्ञानिक भविष्य में होने वाले ओरल केयर लॉन्च में ऑफसेटिंग के बिना कार्बन न्यूट्रलिटी हासिल करने के तरीके खोज रहे हैं।जीएसकेसीएच का डॉ. बेस्ट जर्मनी का सबसे पसंदीदा मैन्युअल टूथब्रश ब्रांड है। दुनिया का सर्वाधिक सतत टूथब्रश निर्माता बनने की इच्छुक यह कंपनी अपने लोकप्रिय सेंसोडाइन ब्रांड सहित अपने पोर्टफोलियो के अन्य टूथब्रश में इस टेक्नॉलॉजी का इस्तेमाल करने की वैश्विक योजना पर काम कर रही है। कंपनी ज्यादा सतत उत्पादों के लिए विश्व में उपभोक्ताओं के बढ़ते रूझान को देखते हुए ओरल केयर पोर्टफोलियो में सतत विकल्पों का विकास करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। नीलसन के एक नए अध्ययन में सामने आया कि 73 फीसदी उपभोक्ताओं का मानना है कि वो पर्यावरण पर प्रभाव कम करने के लिए अपने उपभोग की आदतों में परिवर्तन लेकर आएंगे। कार्बन न्यूट्रल टूथब्रश का लॉन्च ओरल केयर में जीएसकेसीएच के सफर में अगला कदम है, जिसकी शुरुआत सितंबर, 2020 में यूरोप में पहले सतत रूप से विकसित किए गए बैंबू टूथब्रश के साथ हुई। इस साल मार्च में कंपनी ने अपनी पहली प्लास्टिक-फ्री टूथब्रश पैकेजिंग लॉन्च की, जिसमें अमेरिका में सेंसोडाईन प्रोनेमल और पैरोडॉन्टैक्स ब्रश शामिल हैं। एशिया पैसिफिक में इसकी शुरुआत ऑस्ट्रेलिया से हुई।

गैरेथ रुडुक, ओरल केयर सस्टेनेबिलिटी लीड, जीएसके कंज़्यूमर हैल्थकेयर ने कहा, ‘‘हमें दुनिया में ओरल केयर श्रेणी में वृद्धि करने पर गर्व है। हम रोकथाम योग्य ओरल केयर समस्याओं की जागरुकता बढ़ाने और ओरल केयर की बेहतर आदतों के विकास के लिए अपने भरोसेमंद विज्ञान का इस्तेमाल कर रहे हैं। हम रिटेलर्स एवं डेंटल हैल्थकेयर प्रोफेशनल्स के साथ सहयोग कर विश्व में ओरल केयर उत्पादों में ज्यादा सतत विकल्पों की वृद्धि कर रहे हैं। इस उत्पाद में ऑफसेटिंग द्वारा कार्बल न्यूट्रल स्थिति हासिल की गई है, लेकिन हम भविष्य में ऐसे समाधानों के लिए काम कर रहे हैं, जिनमें ऑफसेटिंग की जरूरत न पड़े। यह हमारे सततता के सफर का केवल एक हिस्सा है, जिसमें हम दैनिक स्वास्थ्य के लिए पर्यावरण एवं सामाजिक बाधाओं को संबोधित करने के लिए काम कर रहे हैं।’नया कार्बन न्यूट्रल टूथब्रश कार्बन का उत्सर्जन कम करने के जीएसकेसीएच के मिशन का हिस्सा है।

कार्बन में कमी लाने के लिए कंपनी द्विमार्गी दृष्टिकोण का इस्तेमाल करती है। पहला, यह ज्यादा प्रभावशाली मैनुफैक्चरिंग सिस्टम द्वारा एनर्जी को कम कर रही है (जिसमें एनर्जी एफिशियंट लाईट, हीटिंग सिस्टम, एवं मोटर शामिल हैं; और जरूरत न होने पर स्विच ऑफ शामिल है)। दूसरा, जीएसकेसीएच साईट्स पर यह रिन्यूएबल एनर्जी में निवेश कर रही है - 2025 तक सभी के द्वारा 100 प्रतिशत रिन्यूएबल एनर्जी के इस्तेमाल की प्रतिबद्धता के साथ। कंपनी अपनी समस्त सामग्री में कार्बन की मात्रा कम करने और उत्पाद पोर्टफोलियो में प्लास्टिक का इस्तेमाल कम करने के लिए सप्लायर्स के साथ भी मिलकर काम कर रही है। जीएसकेसीएच के सस्टेनेबिलिटी अभियान जीएसके का हिस्सा हैं, जो सन 2030 तक मौसम पर कुल शून्य प्रभाव हासिल करने एवं प्रकृति पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करने की जीएसके कंपनी की प्रतिबद्धता को सपोर्ट करते हैं। इसकी घोषणा नवंबर, 2020 में कंपनी की सीईओ, एमा वाल्मस्ले ने की थी।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

मीडिया प्रेस क्लब का वार्षिक कलैंडर हुआ विमोचन