एमजी मोटर इंडिया ने मार्च 2022 तक 10000 ड्राइवरों को प्रशिक्षित करेगा

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 29 अक्टूबर  2021, नई दिल्ली। एमजी मोटर इंडिया ने आज एक अनूठी पहल सारथी प्रोग्राम की घोषणा की, जो एमजी ग्राहकों के ड्राइवरों को बेहतर बनाने के लिए है। कार निर्माता ने सर्टिफिकेशन के लिए ऑटोमोटिव स्किल डेवलपमेंट काउंसिल (एएसडीसी) के साथ साझेदारी की है। सारथी प्रोग्राम का उद्देश्य ड्राइवरों को एडवांस टेक्नोलॉजी और एमजी कारों में हाई-टेक फीचर्स से परिचित कराना है ताकि एक बेहतर, स्मार्ट और सुरक्षित ड्राइविंग अनुभव प्रदान किया जा सके। ग्राहक प्रशिक्षण के लिए एमजी वेबसाइट पर अपने ड्राइवर को साइन-अप कर सकते हैं, जो कि निःशुल्क है।

कार निर्माता अगले 2 महीनों में लगभग 1000 और मार्च 2022 तक 10000 ड्राइवरों को प्रशिक्षित करेगा। प्रशिक्षण में प्रैक्टिस और थ्योरी शामिल होंगे, जहां चालक केस (कनेक्टेड, ऑटोनोमस, शेयरिंग और इलेक्ट्रिक) विजन के तहत पेश की जाने वाली एमजी कारों में एडवांस तकनीकों के बारे में जानेंगे। उन्हें सुरक्षित वाहन चलाने में नवीनतम विकास और जिम्मेदारी से ड्राइविंग के लिए सड़क सुरक्षा तकनीकों के बारे में भी सिखाया जाएगा।

प्रोग्राम के बारे में बात करते हुए एमजी मोटर इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्री राजीव चाबा ने कहा, “इस प्रोग्राम के साथ हमारा फोकस एमजी ग्राहकों के ड्राइवरों को एडवांस तकनीकों के अनुरूप प्रशिक्षित करना है जो एमजी भारतीय ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में लाया है। प्रशिक्षण न केवल सुरक्षित और स्मार्ट ड्राइविंग अनुभव को सक्षम करेगा बल्कि ड्राइवर की स्किल को भी बढ़ाएगा। इसमें जिम्मेदारी से ड्राइविंग का महत्वपूर्ण पहलू भी शामिल है, जो सड़क सुरक्षा से जुड़ा है। एमजी में हम अपने ग्राहकों को सर्वश्रेष्ठ पेशकश करने के लिए लगातार नए तरीके तलाश रहे हैं और सारथी प्रोग्राम ऐसी ही एक और पहल है।

ऑटोमोटिव स्किल्स डेवलपमेंट काउंसिल (एएसडीसी) के सीईओ अरिंदम लाहिरी ने कहा, “जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी-कॉस्ट कर्व तेज होता जा रहा है, वैसे-वैसे अधिक टेक्नोलॉजी ऑटोमोटिव क्षेत्र में अपना रास्ता तलाश रही हैं। हाइब्रिड तकनीक हो या इलेक्ट्रिक वाहन, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री तेज गति से विकसित हो रही है। इसलिए तेजी से डिजिटाइजेशन से निपटने के लिए मौजूदा वर्कफोर्स को अपस्किल करना महत्वपूर्ण है। हम सारथी प्रोग्राम के लिए एमजी मोटर के सर्टिफिकेशन पार्टनर बनकर भी रोमांचित हैं। कार्यक्रम का लक्ष्य कुशल ऑटोमोटिव वर्कफोर्स की आपूर्ति की कमी को पूरा करने के लिए एमजी ग्राहकों के मौजूदा चालक को प्रशिक्षित करना है। मुझे विश्वास है कि हमारा सर्टिफिकेशन उन्हें सही तरह की मान्यता प्रदान करेगा जो वे ड्राइविंग जॉब को आकांक्षी बनाना चाहते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान