सबसे युवा आयोजक लेकर आ रहे हैं अनूठा फैशन और रियलिटी शो

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 14 अक्टूबर  2021, नई दिल्ली। यदि आप 11 वर्षीय शम्स राठौड़ और चौदह साल के जयंत बगड़ा से मिलें तो इनका 'बॉय-नेक्स्ट-डोर इमेज' वाला लुक आपको भ्रमित कर सकता है। लेकिन, जरा रुकिए, अपनी सांसों को थामिए, क्योंकि इन दोनों बच्चों की उपलब्धियां आपको चकित कर सकती हैं। जी हां, ये दोनों आम बच्चे नहीं हैं, बल्कि फैशन और रियलिटी शो 'हम हैं गली दोस्तों, लड़कों और लड़कियों' के सबसे कम उम्र के आयोजक हैं। जहां एक फैशन शो आयोजित करने के लिए हिम्मत और कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है, वहीं शम्स राठौड़ और जयंत बगड़ा इस मामले में न केवल काफी दृढ़ निश्चयी हैं, बल्कि उन्होंने अब इन्होंने अपने नए और अनोखे शो की तैयारी भी शुरू कर दी है। 

खास बात यह है कि इन्होंने न केवल अपने कार्यक्रम 'हम हैं गली दोस्तों, लड़कों और लड़कियों' को सभी लोगों के लिए खुला रखा, बल्कि प्रिया राठौड़, प्रिया बगड़ा, मेहरबान खान (हसन हुसैन स्टील), रोहित पांडे (सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता), इकबाल वोरा, राज कुमार वशिष्ठ, शबाना शेख, रमन सिंघला जैसी अपने—अपने क्षेत्र की कई प्रतिष्ठित शख्सियतों ने भी इनके कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इससे ऐसा हौसला मिला कि अब ये दोनों अपने अगले कार्यक्रम 'टैलेंट हंट इंडिया-2021' के लिए तैयार हैं। उल्लेखनीय है कि इस अनोखे शो 'टैलेंट हंट इंडिया-2021' का कॉन्सेप्ट इन दोनों ने उस वक्त बनाया था, जब उन्होंने गोवा में एक फैशन शो में शिरकत की थी। 

जब दोनों बच्चों ने अपने माता-पिता के सामने इस शो को करने के अपने इरादे के बारे में साझा किया, तो इनके माता-पिता भी अपने बच्चों पर गर्व करते हुए उनके समर्थन में खड़े हो गए। बता दें कि 'टैलेंट हंट इंडिया-2021' के नाम से मशहूर फैशन और रियलिटी इवेंट में आप मुफ्त में अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इतना ही नहीं, इस इवेंट में हिस्सा लेने के लिए कोई आयु सीमा भी निर्धारित नहीं की गई है। इसमें न कोई रीटेक होगा, न ही कोई ऑडिशन लिया जाएगा। तभी तो इस अनोखे शो में रैंप वॉकिंग, रियलिटी शो, कोरियोग्राफी, फोटोशूट, मेकओवर और प्रतियोगियों की ग्रूमिंग का भरपुूर आकर्षण होगा।


Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान