सैमसंग ने आईआईटी मद्रास और गुवाहाटी के छात्रों को सैमसंग फेलोशिप देने का किया ऐलान

• अभी तक स्नातक छात्रों को 100, जबकि परास्नातक छात्रों को 30 फेलोशिप दी गई

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 29 अक्टूबर  2021गुरुग्राम। सैमसंग इंडिया ने अनुसंधान को प्रोत्साहन देने और युवाओं को सामाजिक हित के लिए तकनीक के उपयोग में सशक्त बनाने के उद्देश्य से अपने सिटीजनशिप प्रोग्राम सैमसंग इनोवेशन कैम्पस के तहत सैमसंग फेलोशिप पुरस्कार की शुरुआत की है। यह पहल पावरिंग डिजिटल इंडिया के अपने विजन को लेकर सैमसंग की प्रतिबद्धता को मजबूत बनाती है। सैमसंग ने आईआईटी मद्रास और आईआईटी गुवाहाटी के 100 स्नातक और 30 परास्नातक छात्रों को फेलोशिप दी हैं। फेलोशिप छात्रों को यातायात अनुमान और ट्रैफिक लाइट के सक्रिय नियंत्रण, कैंसर रोधी दवा अनुसंधान, इलेक्ट्रिक वाहनों के बिजली प्रबंधन के लिए इंट्रूशन डिटेक्शन सिस्टम और सोलर सेल्स में लिक्विड क्रिस्टल से जुड़ी उनकी चयनित परियोजनाओं को समर्थन देगी।

इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्र, बी.टेक, डुअल डिग्री (बीटेक+एमटेक) और एमटेक/एमएस (रिसर्च) कर रहे छात्र, सॉफ्टेयर या हार्डवेयर उत्पाद तैयार करने से जुड़ी परियोजना पर काम कर रहे छात्र फेलोशिप के लिए पात्र हैं। कमजोर पृष्ठभूमि से आने वाले छात्रों को प्राथमिकता दी गई है, और उनके पास इंजीनियरिंग की किसी भी ब्रांच में 6 से ज्यादा संचयी ग्रेड होना चाहिए। सैमसंग स्नातक के लिए 6,000 रुपये प्रति माह और परास्नातक छात्रों को 25,000 रुपये प्रति माह उपलब्ध कराता है।

सैमसंग रिसर्च एंड डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट, दिल्ली के प्रबंध निदेशक डेओखो किम ने कहा, “सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट इंडिया, दिल्ली आईआईटी विशेष रूप से समाज के कमजोर वर्गों से आने वाले छात्रों में अनुसंधान और नई खोज को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रहा है। सैमसंग फेलोशिप के माध्यम से, हम अगली पीढ़ी को सामाजिक हित के लिए अपनी क्षमताओं के उपयोग में सक्षम बनाना चाहते हैं। हमारी आने वाले वर्षों में अन्य आईआईटी तक इस फेलोशिप का विस्तार करने की योजना है।

सैमसंग इंडिया के उपाध्यक्ष और प्रमुख (कॉरपोरेट सिटीजनशिप) पार्था घोष ने कहा सैमसंग युवाओं को टुगेदर फॉर टुमारो! इनेबलिंग पीपल (कल के लिए एकजुट हो! लोगों को सशक्त बनाओ) के हमारे सिटीजनशिप विजन के तहत बेहतर शिक्षा और सीखने के अवसर उपलब्ध कराने में मदद करती है। नई सैमसंग फेलोशिप से छात्रों को अपने विचारों को सामने रखने और व्यापक हित के लिए नई खोजों के विकास में मदद करेगी। यह पहल हमारे पावरिंग डिजिटल इंडिया के विजन को पूरा करती है, जिसके माध्यम से भारत के युवाओं की अगली पीढ़ी को सशक्त बनाने की योजना है। अभी तक रसायन, मैकेनिकल, जैव प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रिकल, समुद्री, सीएसई, इंजीनियरिंग डिजाइन, सिविल, मेटलर्जिकल, मैटेरियल्स और एयरोस्पेस आदि इंजीनियरिंग की विभिन्न शाखाओं के स्नातक और परास्नातक छात्रों को 130 फेलोशिप उपलब्ध कराई जा चुकी हैं। 

सैमसंग इनोवेशन कैम्पस कंपनी का वैश्विक सिटीजनशिप प्रोग्राम है, जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों को आईओटी, परवेसिव कम्प्यूटिंग, डाटा साइंस, मशीन लर्निंग, एआर/ वीआर आदि अत्याधिक प्रौद्योगिकियों में कुशल बनाकर देश में कुशलता की कमी दूर करना है। वर्तमान में सैमसंग के आईआईटी-दिल्ली, आईआईटी-कानपुर, आईआईटी-हैदराबाद, आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी-रुड़की, आईआईटी गुवाहाटी, आईआईटी-जोधपुर एनएसयूटी और दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी (डीटीयू) में नौ सैमसंग इनोवेशन कैम्पस हैं। अभी तक इन प्रयोगशालाओं में 1,000 से ज्यादा छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। सैमसंग न्यूजरूम लिंक : सैमसंग ने आईआईटी मद्रास और आईआईटी गुवाहाटी में छात्रों की अत्याधुनिक अनुसंधान परियोजनाओं को समर्थन देने के लिए सैमसंग फेलोशिप का ऐलान किया

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान