नोएडा विधायक प्रत्याशी राज कुमार अग्रवाल का प्रचार अभियान जोरों पर

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 19 अक्टूबर 2021, ( के लाल) गौतम बुध नगर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव 2022 में होने वाले हैं इसको लेकर के नोएडा के अंदर चुनावी घमासान मचा हुआ है नोएडा के लोगों की मांग है कि क्षेत्र का एमएलए इस बार क्षेत्र से ही चाहिए इसके लिए नोएडा के एक शहरी प्रत्याशी राज कुमार अग्रवाल का नोएडा में जबरदस्त स्वागत सम्मान समारोह जनता के बीच में चल रहा है आज नोएडा के इलाहाबास गांव में राज कुमार जी के सम्मान में लोग आगे निकल कर आ रहे हैं आज इलाहाबास के लोगों ने राज कुमार अग्रवाल के सम्मान में एक भव्य कार्यक्रम किया ऐसा महसूस होता है। 

कि इस बार सिर्फ लोग क्षेत्र के प्रतिनिधि को ही एम एल ए बनाएंगे क्योंकि अभी तक यह देखने में आया है कि मौजूदा एमएलए क्षेत्र में नहीं रहते हैं और ना ही अपने साथ मोबाइल रखते हैं इसके लिए इन बातों को ध्यान में रखते हुए इस बार शहर के लोग व नोएडा गांव के लोग क्षेत्रीय प्रत्याशी को जिता कर लाने का संकल्प और वादा कर रहे हैं राज कुमार जी ने बताया कि मैं क्षेत्र में रहता हूं क्षेत्र की सेवा करना मेरा पहला परम कर्तव्य है मैं जनप्रतिनिधि बन कर यह जुम्मेदारी मुझे मिली है तो मैं जनता की सेवा करना मेरा सबसे बड़ा कार्य होगा। 

 जनता मुझे चुनती है तो निश्चित है कि मैं जनता के ही काम आऊंगा ऐसा राज कुमार जी ने बताया और साथ में यह भी कहा क्योंकि राजनीति में अगर सेवा नहीं करेंगे तो आपको अगली बार उतार कर जनता फेंक भी देगी और आपको अगली बार अगले चुनाव में हरा भी देगी क्योंकि एक उंगली की ताकत से सरकार को बनाया जाता है और उसी उंगली की ताकत से सरकार को गिराया भी जाता है इसलिए राजकुमार ने आज गांव के लोगों को आश्वासन दिया कि वह आपके साथ सदैव समय पर खड़े मिलेंगे स्वागत करने वालों में गाँव के सम्मानित लोगों में राजपाल बैरागी मेहर चंद ओमी चरण सिंह लीलू बैरागी सत्य प्रकाश बिजेंदर जगरेश अनिल कुमार आजाद संदीप सतपाल कुलदीप हुकम सिंह नेताजी व अन्य सभी ग्रामीण मौजूद रहे। 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान