केंद्रित प्राकृतिक कृषि कार्यक्रम एगोरो कार्बन एलायंस भारत में लॉन्च

◆ भारत की खाद्य प्रणाली के डीकार्बनाइजेशन को सक्षम करने का उद्देश्य

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 11 अक्टूबर  2021, मुंबई। पॉजिटिव क्लाइमेट एक्शन से किसानों को अतिरिक्त राजस्व अर्जित करने के लिए बनाया गया ग्लोबल बिजनेस- एगोरो कार्बन एलायंस आज भारत में लॉन्च हो रहा है। दुनियाभर में क्रॉप न्यूट्रिशन में ग्लोबल एग्रीकल्चर लीडर्स में से एक यारा द्वारा समर्थित और यारा की वैश्विक पहुंच, स्थानीय किसानों के साथ संबंधों के एकीकृत और लगभग 115 साल के कृषि नवाचार की विरासत के साथ एगोरो कार्बन अलायंस का उद्देश्य अधिक टिकाऊ और लाभदायक फूड फ्यूचर का निर्माण करना है।  भारत में एगोरो कार्बन एलायंस भारतीय किसानों को फसल की पैदावार को बनाए रखने या बढ़ाने के दौरान कार्बन फसल से एक अतिरिक्त, स्थायी आय उत्पन्न करने में सक्षम करेगा। एगोरो कार्बन भारतीय किसानों को समाधान के केंद्र में रखता है और उन्हें कामकाज को बदलने के लिए प्रोत्साहित करता है और उन्हें उन व्यवसायों की बढ़ती संख्या से जोड़ता है जो अपनी जलवायु प्रतिज्ञाओं को प्राप्त करना चाहते हैं।

एगोरो कार्बन एलायंस इंडिया के प्रबंध निदेशक पृथ्वीराज सेन शर्मा ने कहा, “एगोरो का लक्ष्य पूरी दुनिया में कृषि क्रांति लाने के लिए किसानों के स्थानीय स्तर पर दृष्टिकोण का नेतृत्व करना है। एगोरो कार्बन लाखों भारतीय किसानों को अत्याधुनिक डिजिटल कनेक्टिविटी प्रदान करेगा, जिससे हाइपरलोकल और ग्रैनुलर डिसीजन सपोर्ट मैकेनिज्म सक्षम होगा। मंच आगे डायरेक्ट मार्केट लिंकेज बनाएगा और वैश्विक स्तर पर स्थानीय उत्पादकों की खोज को सक्षम करेगा। हम दुनियाभर में हमारे सामूहिक भविष्य के बारे में सोचने के नए, समग्र तरीकों को अपनाने के लिए स्थानीय यारा क्रॉप न्यूट्रिशन सेंटर्स के मजबूत जमीनी नेटवर्क का लाभ उठाएंगे और भारतीय किसानों के साथ मिलकर काम करने के लिए एगोरो कार्बन एलायंस इंडिया काफी उत्साहित है। हम भारत में ऐसे एलायंस का इंतजार कर रहे हैं जो हमें जल्द ही अपने विजन को हकीकत में बदलने में मदद करेंगे। चारों महाद्वीपों में कमर्शियल ऑपरेशंस के साथ एगोरो कार्बन एलायंस का उद्देश्य तकनीकी रूप से एडवांस कार्बन क्रॉपिंग प्रैक्टिसेस को अपनाकर खेती को डीकार्बनाइज करना और दुनियाभर में मिट्टी को उसका कार्बन लौटाना है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान