KareXpert ने ऑप्थल्मोलॉजी सेग्मेंट के लिए 5000 आई हॉस्पिटलों को डिजिटल बनाने का लक्ष्य

◆ इसकी पेशकश ऑप्थल्मोलॉजी हॉस्पिटलों की ऑपरेशनल क्षमता में सुधार, 

◆ कम खर्च और इनोवेशन को बढ़ावा देने में सक्षम बनाएगी 

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 5 अक्टूबर  2021, नई दिल्ली।जियो-समर्थित सास (SaaS)-बेस्ड डिजिटल हेल्थकेयर प्लेटफॉर्म केयरक्सपर्ट (KareXpert) ने अब नई सफलता हासिल की है। उसने नेत्र विज्ञान (ऑप्थल्मोलॉजी) के लिए एक प्री-इंटिग्रेटेड सॉल्युशन विकसित किया है, जो भारत के 5000+ आंखों के अस्पतालों को कई काम करने में सक्षम बनाता है। यह आंखों की जांच, टेस्टिंग, ई-प्रिस्क्रिप्शन, काउंसिलिंग के साथ आंखों की सर्जरी, जटिल ऑपरेशन थिएटर सुविधाओं, दिन में मरीजों की देखभाल, ऑप्टिकल स्टोर, अस्पताल से छुट्टी और उसके बाद फॉलो-अप जांचों तक एंड-टू-एंड यानी आंखों से संबंधित हर समस्या और निराकरण के लिए अस्पतालों को एक सुविधाजनक प्लेटफॉर्म देता है। इस तरह के केंद्र अब केयरक्सपर्ट के सास-बेस्ड क्लाउड-नेटिव, मोबाइल-रेडी और एआई-रेडी प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सकते हैं, जो ईएमआर/ईएचआर के साथ 10 गुना अधिक बेहतर रोगी अनुभव और समन्वित देखभाल प्रदान करते हैं। कंपनी ने इन व्यापक समाधानों को पहले से ही सेंटर फॉर साइट (भारतभर में आंखों के अस्पतालों की चेन) जैसे प्रमुख आंखों की देखभाल करने वाले महिंद्रा ग्रुप के हॉस्पिटलों में उपलब्ध कराया है। अगले 12 महीनों में कंपनी भारत के प्रमुख आंखों के अस्पतालों की चेन में यह सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखती है। 

आंखों के अस्पताल अपने कस्टमर डेटा को स्क्रीन और स्टोर करने के लिए विशिष्ट मेडिकल टेम्पलेट्स पर काम करते हैं। चूंकि, वे नाम, उम्र, आंखों के रिकॉर्ड आदि जैसे मापदंडों पर आधारित होते हैं, इसलिए कई अस्पताल ऐसे टेम्प्लेट को कस्टमाइज करना चाहते हैं, जो उनकी कुल लागत बढ़ाते हैं। केयरक्सपर्ट इसे समझता है और अपने ग्राहकों को सस्ती कीमत पर इन-हाउस कस्टमाइज टेम्पलेट (इसके ईएमआर और ईएचआर सॉफ्टवेयर का हिस्सा) प्रदान करता है। चूंकि, यह आंखों के अस्पतालों के लिए रेडीमेड सॉल्युशन है। इस वजह से अस्पतालों को छह महीने या उससे अधिक का इंतजार करने की जरूरत नहीं है। वे तुरंत इस सॉल्युशन का इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर एक इश्योरेंस ई-क्लेम और टीपीए मॉड्यूल से भी लैस है, जो क्लेम्स के तेजी से प्रोसेसिंग में मदद करता है। यह अस्पतालों में रोगी की यात्रा को कुशल और इंटिग्रेटेड वर्कफ़्लो में सक्षम बनाता है, जिससे समय पर सेवाओं की डिलीवरी और देखभाल की सबसे बेहतर गुणवत्ता सुनिश्चित होती है।

केयरक्सपर्ट की संस्थापक और सीईओ निधि जैन ने इस पर कहा, “हमें देशभर  के प्रसिद्ध आंखों के अस्पतालों को अपने इंटिग्रेटेड, एडवांस और क्लाउड-बेस्ड सॉल्युशन पेश करने पर गर्व है। वे अब किसी भी समय, किसी भी स्थान से लेनदेन और पेशेंट एंगेजमेंट गतिविधियों के परफॉर्मंस को देखने के साथ लगभग सिंगल-क्लिक के साथ अपने ऑपरेशंस को कुशलतापूर्वक प्रबंधित कर सकेंगे। हमारे सॉल्युशन आंखों की देखभाल करने वाले अस्पतालों को हाइपर कोऑर्डिनेटेड वर्कफ्लो, ऑपरेशन के भीतर हाइपर-कोलेबोरेशन और बिना किसी दिक्कत के पेशेंट एंगेजमेंट हासिल करने में भी मदद करेंगे।

सेंटर फॉर साइट के संस्थापक डॉ. महिपाल सचदेव ने डिजिटल परिवर्तन के बारे में आगे बात करते हुए कहा, “तकनीकी प्रगति के इस युग में कई क्षेत्र अपने संचालन को व्यवस्थित करने और कस्टमर-सेंट्रिक सॉल्युशन पेश करने के लिए 'डिजिटल' हो गए हैं। इसी तरह हेल्थकेयर उद्योग को भी मरीजों के अनुभव को सहज और आरामदायक बनाने के लिए 'डिजिटल' एक्टिविटी पर भरोसा करना चाहिए।" केयरक्सपर्ट  अपने सिंगल-क्लिक प्लेटफॉर्म, सास-बेस्ड अप्रौच के साथ अस्पतालों के लिए भरोसेमंद पार्टनर के तौर पर उभरा है, जो डेटा कैप्चरिंग, पेशेंट ऑनबोर्डिंग और डेटा स्टोरेज के कार्यों में कम से कम मानवीय हस्तक्षेप के साथ कई हितधारकों के बीच हाइपर-कोलेबोरेशन  की सुविधा में मदद करता है। 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया