138 वां महर्षि दयानंद बलिदान दिवस सम्पन्न

◆ नारी जाति पर ऋषि दयानन्द के अनेको उपकार -संध्या बजाज एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट

◆ ऋषि दयानन्द का बलिदान सदियों तक मार्ग प्रशस्त करता रहेगा-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 5 नवम्बर  2021, गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में महर्षि दयानंद सरस्वती जी का 138 वां बलिदान दिवस ऑनलाइन सोल्लास मनाया गया।उल्लेखनीय है कि दीपावली के दिन 1883 को उनका बलिदान हुआ था । यह कोरोना काल में 308 वां वेबिनार था। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि महर्षि दयानंद जी का बलिदान सदियों तक समाज का मार्ग प्रशस्त करता रहेगा । विष पीकर जग मरता, तुम अमर हुए हो विष पीकर । महर्षि दयानंद सरस्वती समग्रक्रांति के अग्रदूत थे। उन्होंने वेदों की पुनर्स्थापना की और सामाजिक कुरुतियों के विरुद्ध जनजागरण किया ।  समाज में फैले अंधविश्वास, पाखण्ड व कुरीतियों पर सीधा प्रहार किया।उन्होंने लोगो के सोचने की दिशा ही बदल डाली।  महर्षि दयानंद नारी जाति की शिक्षा वेदों के पठन पाठन पर जोर दिया । उनका मानना था कि कोई कितना ही करे परंतु स्वदेशी राज्य सर्वोत्तम है ।

मुख्य अतिथि संध्या बजाज (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट) ने कहा कि नारी जाति पर ऋषि दयानन्द के अनेको उपकार हैं।आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है,यह उन्हीं की कृपा है। वैदिक साधन आश्रम देहरादून के कोषाध्यक्ष अशोक वर्मा ने कहा कि महर्षि दयानंद के ऋण से हम कभी उऋण नहीं हो सकते । उनका देश के स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण योगदान रहा, अनेको क्रांतिकारी उनसे प्रेरणा पाकर आजादी की लड़ाई में कूद पड़े । पुरातन भारतीय संस्कृति के उत्थान के लिए गुरुकुल शिक्षा प्रणाली को पुनर्जीवित किया । 

प्रांतीय मंत्री प्रवीण आर्य ने ऑनलाइन उपस्थित स्वज्जनों को  पंचदिवसीय दीपोत्सव की बधाई दी और ऐसे सुन्दर आयोजनों में अधिक से अधिक जनसमूह को एकत्रित करने की ओर प्रेरणा लेने की अपील की। अध्यक्ष नरेन्द्र साहनी (प्रधान, आर्य समाज मैसूरी) ने धन्यवाद ज्ञापन देकर उनके पद चिन्हों पर चलने का आह्वान किया।

आर्य गायिका प्रवीन आर्या,नरेन्द्र आर्य सुमन, सुदेश आर्या, दीप्ति सपरा, बिंदु मदान,रजनी गर्ग, रजनी चुघ,ईश्वर देवी, जनक अरोड़ा, प्रतिभा कटारिया, रेखा गौतम, वीरेन्द्र आहूजा,रविन्द्र गुप्ता आदि के मधुर भजन हुए। प्रमुख रूप से यशोवीर आर्य,ईश आर्य,आस्था आर्या,राजेश मेहंदीरत्ता,डॉ रचना चावला, कमलेश चांदना,उर्मिला आर्या, सुमित्रा गुप्ता आदि उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान