मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली में रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी की शुरुआत

 

• मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली द्वारा द्वारका में पहली बार एक ही स्थान पर कैंसर की व्यापक देखभाल

• अभिनेत्री शबाना आज़मी ने दिल्ली के एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल में रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी सुविधा का शुभारंभ किया

• रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी की शुरुआत के साथ कैंसर के सभी उपचार जैसे कि रोबोटिक सर्जरी, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, रेडिएशन (गामा और लिनैक थेरेपी), दवा और दर्द आदि का इलाज अब एक ही स्थान पर किये जायेंगे

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 23 दिसंबर  2021, नई दिल्ली। पहली बार कैंसर की व्यापक देखभाल प्रदान करने के उद्देश्य से, एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली ने द्वारका में एक नई रेडियोन्यूक्लाइड चिकित्सा सुविधा शुरू की है। इस सुविधा का शुभारंभ दिग्गज फिल्म अभिनेत्री शबाना आज़मी ने किया था। रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी विभिन्न कैंसर और बिनाइन स्थिति के उपचार के लिए रेडियोधर्मी दवाओं का उपयोग करती है। यह सुविधा मौजूदा ऑन्कोलॉजिकल सेवाओं के लिए महत्वपूर्ण होगी, जिससे यह एक समग्र ऑन्कोलॉजी सुविधा बन जाएगी। जो चीज इसे और अधिक विशिष्ट बनाती है, वो ये है कि रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी के अलावा, एडवांस्ड कैंसर उपचारों का समाधान एक ही स्थान पर किया जायेगा। इसके अलावा एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली कैंसर के सभी संभावित रूपों का इलाज करने में सक्षम होगा।

इस सुविधा की देखरेख नुक्लिअर मेडिसिन चिकित्सकों, चिकित्सा फिसिसिस्ट, टेक्नोलॉजिस्ट्स और तकनीशियनों की अत्यधिक कुशल, अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा की जाएगी, जिनके पास नुक्लिअर मेडिसिन से इस रोग को ठीक करने का व्यापक अनुभव है। स्वास्थ्य सेवा प्रदाता द्वारा यह एक और रोगी-केंद्रित पहल है जो कि सुनिश्चित करती है कि रोगियों को उच्च गुणवत्ता वाली देखभाल प्राप्त हो।

रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी (I-131) की शुरुआत के साथ, एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली में अब कैंसर की देखभाल के लिए अत्याधुनिक डायग्नोस्टिक तौर-तरीके और अत्याधुनिक उपचार के विकल्प मौजूद हैं। पीईटी सीटी, गामा कैमरा, मॉलिक्यूलर पैथोलॉजी, जेनेटिक, मैमोग्राम जैसी डायग्नोस्टिक सुविधाओं के साथ रोबोटिक सर्जरी, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, लिनैक रेडिएशन थेरेपी, न्यूक्लियर मेडिसिन, मेडिकल ऑन्कोलॉजी और  दर्द प्रबंधन उपलब्ध होने से किसी भी आयु के कैंसर रोगी के लिए देखभाल करना बेहद आसान हो गया है। रेक्टल/पेल्विक कैंसर के मुश्किल दुर्गम सर्जिकल मामलों को अब आसानी से संचालित किया जा सकता है और इसके लिए डाविन्ची रोबोटिक प्रणाली की शुरूआत हुई है जो कि एक अत्याधुनिक लीनियर एक्सेलरेटर है और इसकी सहायता से गतिमान अंगों जैसे फेफड़े, हृदय आदि का इलाज उच्च परिशुद्धता, उन्नत गति और सटीकता के साथ किया जा सकता है।

सुविधा शुरू करने पर अभिनेत्री शबाना आज़मी ने कहा, "कैंसर विनाशकारी हो सकता है, और जो लोग पहले से ही कैंसर से पीड़ित हैं उन्हें अपने जीवन में हर दिन संघर्ष करना पड़ता है। कैंसर रोगियों को ठीक होने के लिए चिकित्सा सहायता एवं मोरल सपोर्ट, दोनों की ही जरूरत है। यह एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली द्वारा नई चिकित्सा शुरू करने और कैंसर से पीड़ित रोगियों के लिए एक ही स्थान पर सभी उपचार प्रदान करने की एक बड़ी पहल है।इस सुविधा और समर्पित कैंसर प्रबंधन टीमों के लॉन्च के साथ, मुझे यकीन है कि एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल अपने मरीजों के लिए कैंसर की हर लड़ाई लड़ेगा।

लॉन्च पर बोलते हुए, श्री रमन भास्कर, हॉस्पिटल निदेशक, एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल ने कहा, “रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी और हमारी नई रोबोटिक सर्जरी टीम के साथ एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल दिल्ली हमारे कैंसर रोगियों के लिए सबसे सुविधाजनक और व्यापक उपचार केंद्रों में से एक बन जाएगा। यह कई दशकों से हमारे डीएनए में निहित रोगी केंद्रित दृष्टिकोण और क्लीनिकल एक्सेलेंस का एक और उदाहरण है। शबाना आज़मी जी के साथ इस दिन हम रियायती मूल्य में 100 रोगियों को रेडिएशन ट्रीटमेंट देकर कैंसर के खिलाफ उनकी लड़ाई में अपना भी दे रहे हैं।

 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया