डीएसपी ग्लोबल इनोवेशन फंड ऑफ फंड का पहला एसआईपी-फोकस्‍ड एनएफओ लॉन्च

◆ इस दस्‍तावेज में उल्लिखित सेक्‍टर(सेक्‍टर्स)/ स्‍टॉक (स्‍टॉक्‍स)/ इश्‍यूअर(इश्‍यूअर्स) में इसकी कोई अनुशंसा नहीं की गई है और स्‍कीम (स्‍कीम्‍स)/फंड में इन सेक्‍टर(सेक्‍टर्स)/स्‍टॉक (स्‍टॉक्‍स)/ इश्‍यूअर(इश्‍यूअर्स) में कोई फ्‍यूचर पोजीशन हो सकती है  अथवा नहीं  भी  हो  सकती है

◆ एसआइपी एनएफओ के दौरान स्‍कीम में निवेश करने का अनुशंसित मोड है। हालांकि, स्‍कीम एनएफओ की अवधि के दौरान एकमुश्‍त एवं अन्‍य सिस्‍टेमैटिक निवेश भी स्‍वीकार करती है। विस्‍तृत जानकारी के लिए कृपया एसआइडी रेफर करें

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 19 जनवरी  2022, नई दिल्ली। डीएसपी इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स ने डीएसपी ग्लोबल इनोवेशन फंड ऑफ फंड (डीएसपी जीआईएफ) के लिए भारत का पहला एसआईपी-फोकस्‍ड एनएफओ लॉन्च करने की घोषणा की। डीएसपी जीआईएफ एक फंड ऑफ फंड्स है (यह खुद अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय फंड्स में निवेश करेगा), जो विशेषज्ञों द्वारा उनके संबंधित क्षेत्रों में चलाए जा रहे ऐक्टिव और पैसिव फंड्स के स्वस्थ मिश्रण में निवेश करेगा। यह फंड अपने प्रमुख संचालक बल के तौर पर इनोवेशन पर फोकस करता है और यह उन कंपनियों की पहचान करता है जो नवीनतम सोच को केंद्र में रखते हैं, यह प्रासंगिक बने रहने की संभावना रखते हैं और इनमें लंबी अवधि में सफल होने की क्षमता होती है। इनमें मेटावर्स, सेमीकंडक्टर्स, ब्लॉकचैन, 5जी, जीन टेक्नोलॉजी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, स्पेस एक्सप्लोरेशन, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और रोबोटिक्स आदि जैसे उभरते हुए इनोवेशन थीम शामिल हैं। फिलहाल इन उभरते क्षेत्रों में भाग लेने के लिए भारतीय सूचीबद्ध स्पेस में बहुत सीमित अवसर हैं।

भारतीय निवेशक अब परिपक्‍व हो चुके हैं और उन्होंने लंबी अवधि के निवेश के सही तरीके के रूप में एसआईपी को अपनाया है। वे हर महीने एसआईपी के तौर पर करीब 12,000 करोड़ रुपये का निवेश करते हैं। एक और उभरती हुई प्रवृत्ति वैश्विक स्तर पर विविधता की है, ताकि उन इनोवेटिव कंपनियों का लाभ उठाया जा सके, जो भारत में मौजूद नहीं है। हालांकि, ग्लोबल फंड ऑफ फंड्स में हर महीने के 12,000 करोड़ रुपये के एसआईपी प्रवाह में से सिर्फ 200 करोड़ रुपये का निवेश हो रहा है।

डीएसपी जीआईएफ उन कंपनियों की तलाश करता है, जो तीन श्रेणियों, अग्रणी डॉमिनेटर्स (वर्चस्व रखने वाली), यंग डिसरप्टर्स (युवा और बदलाव लाने वाली) और कनेक्टिंग एनेबलर्स में शामिल हैं। अपने क्षेत्र में 'डोमिनेटर', जैसे कि अमेज़न, टेस्ला और एप्‍पल1 जो बाजार पूंजीकरण, बाजार हिस्सेदारी और राजस्व के मामले में आगे हैं और अपने निवेशकों को सामान्य से ज्यादा का रिटर्न दिया है। 'यंग डिसरप्टर्स' अगली 'डॉमिनेटर' बनने की क्षमता और दूरदर्शिता वाली खोजपरक कंपनियां हैं। इन अर्ली-स्‍टेज वाली कंपनियों की पहचान करना और उनमें निवेश करना जिनके पास अगला एप्‍पल/गूगल/टेस्ला बनने का मौका है, यही इस फंड की मुख्य थीम है। 'एनेबलर्स' सेमीकंडक्टर्स जैसे कनेक्टिंग उत्पाद या प्रोग्रामिंग/डेवलपमेंट जैसी सेवाएं प्रदान करके डॉमिनेटर्स और डिसरप्टर्स को आगे और तेजी से बढ़ाने में मदद करते हैं, जोकि अपनी श्रेणी में उत्कृष्ट हैं।

डीएसपी जीआईएफ के लिए अंतर्निहित फंड्स में आईशेयर्स पीएचलएलएक्स सेमीकंडक्टर ईटीएफ, बीजीएफ वर्ल्ड टेक फंड डी2 यूएसडी, आईशेयर्स नैस्डैक 100 यूसीआईटीएस ईटीएफ, निक्‍को एएम एआरके डिसरप्टिव इनोवेशन फंड, मॉर्गन स्टेनले यूएस इनसाइट फंड और ब्लूबॉक्स ग्लोबल टेक्नोलॉजी फंड शामिल हैं। ये फंड्स डिसरप्टिव इनोवेटर्स और सुस्थापित, खोजपरक डॉमिनेटर्स के बीच एक अच्छा संतुलन प्रदान करते हैं। इनोवेशन की अवधारणा आज व्यापक रूप से देशों और क्षेत्रों में फैली हुई है और यह केवल तकनीक तक ही सीमित नहीं है। 

अभिनव कंपनियां पारंपरिक मॉडलों को भी बदल रही हैं और पारंपरिक व्यवसायों से बाजार पूंजीकरण हासिल कर रही हैं जो खुद को बदल नहीं रहे हैं। इसलिए, डीएसपी जीआईएफ को एक अच्छी तरह से विविध उत्पाद के रूप में डिजाइन किया गया है, जो निवेशकों को ऐक्टिव एवं पैसिव फंडों के अंतर्निहित पोर्टफोलियो के माध्यम से 200 शेयरों में निवेश करने का मौका प्रदान करता है। डीएसपी जीआईएफ के लिए नया फंड ऑफर 24 जनवरी 2022 को खुलेगा और 7 फरवरी 2022 को बंद हो जाएगा। डीएसपी इनवेस्टमेंट मैनेजर्स के एमडी और सीईओ कल्पेन पारेख ने कहा, “डॉमिनेंट कंपनियों और एनेबलर्स ने कोविड के बाद मुनाफे में हुई वृद्धि के कारण कीमतों में शानदार बढ़ोतरी दर्ज की है। दूसरी ओर, डिसरप्टिव इनोवेशन स्‍पेस में कीमतों में बहुत तेजी से गिरावट आई है और इसकी वजह से उनका पहले ही अधिक चल जाना रहा है। इनोवेशन लंबी अवधि में लाभदायक, जबकि अल्पावधि में उतार-चढ़ाव वाला होता है। हम इस स्थान में इस तरह की अस्थिरता के कगार पर हैं और इसलिए हम एसआईपी केंद्रित एनएफओ के माध्यम से फंड की सिफारिश करना चाहते हैं। 

इस प्रकार इनोवेशन वाली कंपनियों के दीर्घकालिक पोर्टफोलियो का निर्माण करते हुए हमारे निवेशकों को कीमतों में उतार-चढ़ाव का लाभ उठाने में मदद मिलती है, जोकि भारत में उपलब्ध नहीं है। एसआईपी अब युवा भारतीयों के लिए निवेश करने का समय-सिद्ध तरीका है और वे अपने फंड पोर्टफोलियो में विविधीकरण जोड़ने के लिए धीरे-धीरे वैश्विक फंडों को अपना रहे हैं। हमारे एसआईपी केंद्रित जीआईएफ के माध्यम से, हम अपने निवेशकों को एक अनुशासित तरीके से इस श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ वैश्विक कंपनियों में निवेश करना चाहते हैं। इनोवेशन और तकनीकी निवेश के क्षेत्र में ब्लूबॉक्स, ब्लैकरॉक, आर्क और मॉर्गन स्टेनली फंड्स जैसे डोमेन विशेषज्ञों के साथ साझेदारी करते हुए, हम अपने निवेशकों को एक ही फंड में फंड्स की विविध शैलियों का रणनीतिक मिश्रण मुहैया कराना चाहते हैं। 20 वर्षों के इतिहास में पिछले साक्ष्य यह भी दिखाते हैं कि एसआईपी रिटर्न एकमुश्‍त रिटर्न की तुलना में बेहतर हैं, खासकर जब ये थीम वाजिब कीमत पर उपलब्ध हों।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच