पेटीएम पेमेंट्स बैंक की बड़ी उपलब्धि

◆ एक महीने में 926 मिलियन से अधिक यूपीआई ट्रांजैक्शंस 

◆ यह उपलब्धि हासिल करने वाला भारत का पहला पेमेंट बैंक बना 

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 19 जनवरी  2022, मुंबई। भारत का घरेलू पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) एक महीने में 926 मिलियन से अधिक यूपीआई लेनदेन की उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने के साथ देश का पहला पेमेंट बैंक बनने में सफल रहा है। इसने भारत में सबसे बड़े और सबसे तेजी से बढ़ते यूपीआई लाभार्थी बैंक के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत किया है। लाभार्थी बैंक खाताधारक के बैंक होते हैं, जिनके खाते में पैसा जा रहा होता है। यह रोजाना के इस्तेमाल या फिर बचत के लिए ग्राहकों की पसंद बने पेटीएम पेमेंट्स बैंक की लोकप्रियता को दर्शाता है।

2021 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में पीपीबीएल ने 2020 की समान तिमाही के 964.95 मिलियन लेनदेन की तुलना में कुल 2,507.47 मिलियन लाभार्थी लेनदेन दर्ज किए, जो सालाना आधार पर 159.85% की वृद्धि है। यह पूरे वर्ष (मई 2021 को छोड़कर) में सबसे बड़ा यूपीआई लाभार्थी बैंक बना हुआ है, और महीने-दर-महीने लगातार बढ़ता ही जा रहा है। यूपीआई भुगतान के लिए एक रेमिटर (पैसा भेजने वाला) बैंक के रूप में पेटीएम पेमेंट्स बैंक तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। इसने 2021 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान 455.74 मिलियन रेमिटर ट्रांजैक्शंस दर्ज किए, जोकि वर्ष 2020 की समान अवधि में पंजीकृत लेनदेन की तुलना में 67.26% अधिक है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के एमडी और सीईओ सतीश गुप्ता ने कहा, “अपने यूजर्स से ऐसी उत्साहजनक प्रतिक्रिया को लेकर हम उनका आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें यूपीआई भुगतान के लिए सबसे पसंदीदा लाभार्थी बैंक बनने में मदद की है। यह उस कड़ी मेहनत का एक प्रमाण है जो हमारी टीम ने सर्वोत्तम तकनीकी बुनियादी ढांचा और एक बेहतर डिजिटल बैंकिंग अनुभव प्रदान करने के लिए की है। हम सुपरफास्ट यूपीआई मनी ट्रांसफर और हर रोज भुगतान के लिए पेटीएम वॉलेट और बैंक खाते का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करने के लिए अपने अनुभव और तकनीकी ताकत का लाभ उठाना जारी रखेंगे। डिजिटल भुगताव के विकास की प्रक्रिया को तेज करने निभाई गई भूमिका को देखते हुए, हाल ही में पेटीएम पेमेंट्स बैंक को भारत सरकार की तरफ से मान्यता दी गई है। 'डिजिटल पेमेंट्स उत्सव' में लेनदेन की मात्रा, मर्चेंट ऑनबोर्डिंग (कारोबारियों को जोड़ने) और लेनदेन की सफलता दर के लिहाज से टॉप परफॉर्मर होने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने इसे सम्मानित किया है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने हाल ही में पेटीएम ट्रांजिट कार्ड को लॉन्च किया है, जो एक एनसीएमसी है और यह भारतीयों को उनके सभी आवागमन संबंधी लेनदेन के लिए एक कार्ड से कई सुविधा प्रदान करता है। इस लॉन्च के साथ यूजर्स को विभिन्न उद्देश्यों के लिए कई कार्ड ले जाने के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं होगी और वे अपने सभी भुगतानों के लिए केवल पेटीएम ट्रांजिट कार्ड का उपयोग कर सकेंगे। पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत में फास्टैग्स का प्रमुख जारीकर्ता है और देश में टोल प्लाजा के सबसे बड़े अधिग्रहणकर्ताओं में से एक है। पीपीबीएल फास्टैग देश का सबसे पसंदीदा टोल भुगतान तरीका बन गया है क्योंकि यह यूजर्स को सीधे पेटीएम वॉलेट से भुगतान करने की अनुमति देता है। यूजर्स को अपने फास्टैग का इस्तेमाल और रिचार्ज करने के लिए अलग से कोई अकाउंट बनाने की जरूरत नहीं होती है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया