एसबीआई म्युचुअल फंड ने लॉन्च किया एसबीआई मल्टीकैप फंड

◆ नए फंड ऑफर की अवधि : 14 - 28 फरवरी, 2022

◆ एसबीआई मल्टीकैप फंड सेक्टर विश्लेषकों के उच्च दृढ़ विश्वास वाले शेयरों के साथ बाजार पूंजीकरण या मार्केट कैप में आवंटन की ताकत को जोड़कर विविधीकरण की शक्ति प्रदान करता है

◆ फंड मैनेजर एक मजबूत 7-लेयर निवेश प्रक्रिया पर उनका मूल्यांकन करने के बाद विश्लेषकों के उच्च दृढ़ विश्वास वाले लार्ज, मिड और स्मॉल कैप कंपनियों में से प्रत्येक में फंड की पूंजी का कम से कम 25% निवेश करके पोर्टफोलियो का निर्माण करेगा

◆ एसबीआई मल्टीकैप फंड के साथ मित्र एसआईपी एक अनूठी सुविधा है, जो निवेशकों को धन सृजन के अवसर (व्यवस्थित निवेश योजना के माध्यम से) और वित्तीय स्वतंत्रता (क्रमिक निकासी योजना के जरिए नियमित नकदी प्रवाह के माध्यम से) को संयोजित करने का अवसर देती है

शब्दवाणी समाचार, रविवार 13 फरवरी  2022, नई दिल्ली।एसबीआई म्युचुअल फंड ने आज एसबीआई मल्टीकैप फंड के लॉन्च की घोषणा की, जो एक ओपन-एंडेड इक्विटी योजना है। इसका उद्देश्य एक मजबूत अनुसंधान प्रक्रिया के माध्यम से पहचानी गई लार्ज, मिड और स्मॉल कैप कंपनियों के बेहतरीन शेयरों में मिश्रित रूप से निवेश कर धन सृजन के अवसर प्रदान करना है। नया फंड ऑफर 14 फरवरी, 2022 को खुलकर 28 फरवरी, 2022 को बंद होगा। फंड का बेंचमार्क इंडेक्स निफ्टी 500 मल्टीकैप 50:25:25 टीआरआई है। इस फंड में सेक्टर के विश्लेषकों की मजबूत प्रतिबद्धता वाले शेयरों की ताकत का संयोजन है, जिन्हें फंड हाउस के सक्रिय कवरेज क्षेत्र (350 कंपनियों) से चुना जाएगा। विश्लेषकों द्वारा अनुशंसित उच्च प्रतिबद्धता वाले शेयरों को एक मजबूत 7 चरण वाली शोध प्रक्रिया के बाद चुना जाता है, जिसमें प्रत्येक सिफारिश के लिए रैंक और आत्मविश्वास स्कोर तय किया जाता है। फंड में किसी सेक्टर या स्टाइल को लेकर पूर्वाग्रह नहीं होगा क्योंकि पोर्टफोलियो चयन का परिणाम विश्लेषक की सिफारिशों पर आधारित होगा।

प्रबंध निदेशक और मु्ख्य कार्यकारी अधिकारी (एमडी और सीईओ), श्री विनय एम टोंसे ने क कि, “हमें एसबीआई मल्टीकैप फंड लॉन्च करने को लेकर खुशी हो रही है क्योंकि यह लंबी समयावधि में लार्ज कैप में निवेश करके निवेशकों के पोर्टफोलियो को अपेक्षाकृत स्थिरता प्रदान करेगा। वहीं मिड-कैप के साथ संभावित विकास के अवसरों का लाभ उठाने में मदद मिलेगी और स्मॉल कैप में निवेश से अधिक मजबूत रिटर्न मिलना सुनिश्चित हो सकेगा। यह फंड इस मल्टीकैप निवेश के माध्यम से निवेशक के पोर्टफोलियो को संतुलित करेगा। एसबीआई मल्टीकैप फंड मित्र एसआईपी नामक एक अनूठी सुविधा के साथ आता है, जो निवेशकों को एक क्रमिक निवेश योजना के माध्यम से धन सृजन में मदद करता है और साथ ही एक क्रमिक निकासी योजना (एसडब्ल्यूपी) पंजीकृत करता है, जो एसआईपी अवधि के खत्म होते ही सक्रिय हो जाएगा और कर प्रभावी नियमित आय प्रवाह को सुनिश्चित करेगा। हमें विश्वास है कि एसबीआई मल्टीकैप फंड से निवेशकों को मार्केट कैप और एक फंड में निवेश विशेषज्ञता की मजबूत खुराक मिलेगी।

मुख्य व्यवसाय अधिकारी, श्री डी पी सिंह ने कहा कि, “हमने लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप सेगमेंट में बाजार पूंजीकरण में कई गुना वृद्धि देखी है जो इक्विटी बाजार में निवेशकों की भागीदारी में वृद्धि का संकेत देती है। एक मल्टीकैप फंड उन निवेशकों के लिए एक अच्छा है जो एक फंड में लार्ज, मिड और स्मॉल कैप कंपनियों में एक समर्पित आवंटन करना चाहते हैं। मिलेनियल्स और पहली बार निवेश करने वाले निवेशक (जो 5 साल से अधिक की निवेश अवधि के साथ, मार्केट कैप का निष्पक्ष अनुभव चाहते हैं) के साथ-साथ एकल समाधान की तलाश में बाजार पूंजीकरण में कई निवेश करने वाले निवेशक, डायरेक्ट इक्विटी निवेशक (जिनके पास कंपनियों के रिसर्च की सीमित समझ है या भिन्न बाजार पूंजीकरण में कई निवेश हैं), इस फंड को चुन सकते हैं।

श्री सिंह ने आगे यह भी कहा कि, “हमारा मानना है कि मल्टीकैप फंड उन निवेशकों के लिए एक आदर्श निवेश विकल्प हैं जो बाजार पूंजीकरण में एक मिश्रण चाहते हैं क्योंकि वे नकारात्मक जोखिम को सीमित करने का लाभ प्राप्त करते हुए अवसरों का विविधीकरण और विकास क्षमता प्रदान करते हैं।एसबीआई मल्टीकैप फंड का बाजार पूंजीकरण में विविधतापूर्ण आवंटन होगा और यह फंड के कोष का 25% या अधिक का निवेश लार्ज, मिड और स्मॉल कैप कंपनियों में करेगा और शेष 25% को उपलब्ध अवसरों के आधार पर किसी सेक्टर विशेष के प्रति पूर्वाग्रह नहीं रखते हुए निवेश किया जाएगा, जो पोर्टफोलियो को लचीलापन भी प्रदान करेगा। आवश्यक न्यूनतम आवेदन राशि (एनएफओ अवधि के दौरान)  5,000 रुपये है, और उसके बाद एक के गुणक में निवेश किया जा सकेगा।

मित्र एसआईपी एक वैकल्पिक सुविधा है जो निवेशक को अपने भविष्य के लक्ष्यों के लिए एक व्यापक वित्तीय समाधान तैयार करने में मदद करने के लिए दो शक्तिशाली सुविधाओं, यानी एसआईपी (SIP) और एसडब्ल्यूपी (SWP) को जोड़ती है। एसआईपी के माध्यम से जहाँ धन का निर्माण होता है और नियमित रूप से निवेश करने की आदत पैदा होती है, वहीं एसडब्ल्यूपी का पंजीकरण (एसआईपी किस्त के गुणकों के अधीन अधिकतम राशि) उसे एसआईपी निवेश अवधि के अंत के बाद नियमित नकदी प्रवाह की योजना बनाने में सक्षम बनाता है। पूर्ण विवरण के लिए, हम आपसे आवेदन पत्र में योजना सूचना दस्तावेज और अन्य नियम और शर्तों को पढ़ने का आग्रह करते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच