एमजी मोटर इंडिया ने अपनी कारें बनाने के लिए अपनाया हरित दृष्टिकोण

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 18 फरवरी  2022, नई दिल्ली। एमजी मोटर ने हमेशा से भारत में एक स्‍थायित्‍वपूर्ण ऑटोमोटिव उद्योग बनाने के लिये आवाज उठाई है। कंपनी को हाल ही में एनवायरनमेंट मैनेजमेंट सिस्‍टम (आईएसओ 14001-2015) और ऑक्‍युपेशनल, हेल्‍थ एंड सेफ्टी मैनेजमेंट सिस्‍टम (आईएसओ 45001-2018) के लिए आईएसओ प्रमाणन प्रदान किया गया है। इसके अलावा, एमजी अपने परिचालन में कार्बन-न्‍यूट्रल और नेट-जीरो उत्‍सर्जन का दृष्टिकोण अपनाने के लिये भी काम कर रहा है।

आईएसओ प्रमाणन के अलावा, एमजी मोटर ने कुछ अन्‍य स्‍थायित्‍वपूर्ण पहलों को भी लागू किया है। इनमें से कुछ हैं- 7000 से ज्‍यादा पेड़ लगाना और भूमिगत जल का स्‍तर सुधारने के लिये वर्षाजल से रिचार्ज होने वाले 12 कुएं बनाना आदि। एमजी ने एनर्जी कमिटी (ऊर्जा समिति) के माध्‍यम से ऊर्जा उत्‍पादकता बढ़ाने और शून्‍य अपशिष्‍ट भराव क्षेत्र बनने पर भी काम किया है। इसके अलावा, एमजीआई संयंत्र को राज्‍य सरकार ने एमएएच (मेजर एक्‍सीडेंट हज़ार्ड यूनिट) की स्थिति से बदलकर नॉन-एमएएच इकाई घोषित किया है, जिसके लिये 92 एमटी एलपीजी और 22 एमटी एलएनजी भंडारण के बड़े खतरे वाले अधिष्‍ठान को परिसर से हटाया गया है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच