भारत का पहला मोबाइल गेम मोबा मोबाइल गेमिंग की तस्वीर को किस तरह बदला

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 4 फरवरी  2022, नई दिल्ली। मोबाइल पर गेम खेलने के दीवानों को गेमिंग का जबर्दस्त अहसास कराने के लिए मोबा एक बेहद लोकप्रिय फॉर्मेट है। लेकिन गेमिंग के नए शौकीनों के लिए मोबा का मतलब मल्टीप्लेयर ऑनलाइन बैटल एरीना है। मोबा का प्रारूप दर्शकों को बेहद दिलचस्प मोबाइल गेमिंग के माहौल में डूबने का शानदार अनुभव प्रदान करता है। भारत में मोबा गेम्स की बढ़ती लोकप्रियता में क्लैश ऑफ टाइटन्स ने प्रमुख भूमिका निभाई है। यह मोबाइल डिवाइसेज के लिए विकसित सबसे पहला इंडियन मल्टीप्लेयर ऑनलाइन बैटल एरीना (मोबा) गेम है। देश में मोबाइल गेमिंग के फलते-फूलते माहौल को देखते हुए यह गेम एंड्रॉयड और आईओएस डिवाइसेज के लिए खासतौर से विकसित किया गया। क्या आपने कभी सोचा है कि मोबा गेम्स इतने लोकप्रिय क्यों हैं, भारत में मोबा की शानदार सफलता के पीछे कौन सा जादू है। मोबा की इस लोकप्रियता के पीछे चार प्रमुख कारण हैं।

1. सिंपल फॉर्मेट :  मोबा गेम्स जैसे क्लैश ऑफ टाइटन्स का सीधा-सादा फॉर्मेट है, जहां दो टीमें विपक्षी टीम के किले को ध्वस्त करने के उद्देश्य से एक दूसरे से मुकाबला करती हैं। इसके ओवरऑल व्यू के चलते खिलाड़ी एक नजर में यह देख सकते हैं कि गेम में लड़ाई कैसी चल रही है। क्लैश ऑफ टाइटन्स जैसे गेम्स को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि खिलाड़ियों को अपने मोबाइल या डिवाइस से गेम के करैक्टर्स को कंट्रोल करने और गेम में डूबने के लिए हाथ की केवल दो उंगलियों का इस्तेमाल करने की जरूरत होती है। इसे खेलना बहुत आसान और वाकई मनोरंजक है।

2-हीरो वैरिएंट और कैरेक्टर्स : मोबा गेम्स आपको ढेर सारे हीरोज और करैक्टर्स ऑफर करता है, जिसमें से आप अपना पसंदीदा करैक्टर चुन सकते हैं, जिससे गेम बेहद आकर्षक और मनोरंजक बन जाता है। गेम में आपका स्किल लेवल चाहे जो हो. आप इसमें हमेशा कुछ ऐसै हैरतअंगेज करैक्टर्स पाएंगे, जो गेम को और ज्यादा आकर्षक और मजेदार बना दें। क्लैश ऑफ टाइटन्‍स में 56 टाइटन्स पेश किए गए हैं, जिनकी अपनी-अपनी क्षमताएं हैं। इन्हें टैंक्स, वॉरियर्स, असेसिन्स, मेग्स, मार्क्समैन और कई अलग अलग-अलग श्रेणियों में बांटा गया है।  

3-फ्री टु प्ले-क्लैश ऑफ टाइटन्स गेम खेलने में कोई चार्ज नहीं लगता। यह मोबा फॉर्मेट के रोमांच से भरपूर है। इसमें आपको गेटकीपिंग से संबंधित कोई गेमिंग फीस नहीं देनी पड़ती। चाहे आप मोबाइल गेमिंग की दुनिया के नए खिलाड़ी हों या प्रोफेशनल हों, आप कहीं भी किसी भी समय अपने दोस्तों के साथ इसे खेल सकते हैं। इसके लिए आपको कोई फीस नहीं देनी पड़ेगी। रोज लॉगइन करने वाले गेमर्स को फ्री टाइटन्स और दूसरे आकर्षक पुरस्कार दिए जाएंगे। 

4.बेहद सामाजिक- मोबा गेम्स दुश्मन के किले को नष्ट करने के लिए अपने स्पेशल टाइटन के कौशल और विशेषताओं का फायदा उठाने के लिए साथ मिलकर काम करने और आपस में मेलजोल बढ़ाने की अनुमति देते हैं। खिलाड़ी यह गेम खेलने के लिए अपने दोस्तों को आमंत्रित कर सकते हैं और टीम बना सकते हैं, जिससे वह साथ मिलकर इस गेम का मजा उठा सकें। मोबा ग्लोबल ऑनलाइन कम्युनिटीज भी बनाती है, जिसमें दुनिया भर के प्लेयर्स एक साथ आएं और आपस में साझा रिश्ता बनाएं। संक्षेप में, गेम्स में लोगों को साथ लाने और उनका आपस में गहरा रिश्ता जोड़ने की ताकत है। क्लैश ऑफ टाइटन्स जैसे गेम्स इसका परफेक्ट उदाहरण है।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया